Connect with us

बलिया

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और बलिया सदर के पहले विधायक पं. राम अनन्त की जयंती, सभी ने दी श्रद्धांजलि

Published

on

बलिया में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और बलिया सदर के पहले विधायक पं. राम अनन्त पाण्डेय की जयंती मनाई गई। पूर्व विधायक की 118वीं जयंती समारोह महात्मा गांधी इंटर कॉलेज में आयोजित किया गया। जहां सभी लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। साथ ही उनके द्वारा किए कामों को भी याद किया।

गोष्ठी में वक्ताओं ने बताया कि पं. जी ने देश की आजादी के लिए जीवन भर संघर्ष करते हुए अनेकों बार जेल यात्रा की, जिसके फलस्वरूप देश आजाद हुआ। वहीं दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में शिक्षा का अलख जगाने का संकल्प दोहराया गया । पं. राम अनन्त पांडेय के पौत्र आदित्य पाण्डेय ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की और उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उनको नमन किया।

बलिया के पहले डिप्टी कलेक्टर भी थे अनन्त पाण्डेय- बता दें स्वतंत्रता संग्राम के महान योद्धा का जन्म 23 सितम्बर 1904 को ग्राम दलन छपरा के एक ब्राह्माण परिवार में हुआ था। वह मुख्तारी पेशे से जुड़े थे लेकिन उसे छोड़कर सन् 1930 में गांधी का नमक सत्याग्रह आंदोलन शुरू होने पर कांग्रेस में शामिल हो गये। 1948 में बलिया विकास बोर्ड के अध्यक्ष बनाये गये। 19 अगस्त 1942 को जब बलिया आजाद हुआ था तो चित्तू पाण्डेय आजाद बलिया के पहले कलेक्टर घोषित किए गए थे। और पं.राम अनन्त पाण्डेय डिप्टी कलेक्टर बनाए गए थे।

1975 में ताम्रपत्र से नवाजे गए- 1952-1957 और 1962-1967 तक बलिया विधानसभा क्षेत्र के विधायक रहे। अपने कार्यकाल में अति महत्वपूर्ण कार्य कराए और समाज को स्वस्थ दिशा-निर्देश देते रहे। वह ईमानदारी, सादा जीवन और उच्च विचार के प्रतिमूर्ति बने रहे। इसके अलावा पं. राम अनन्त पांडेय कई शिक्षण संस्थाओं के संस्थापक और प्रबन्धक भी थे, जो कि आज भी अनवरत चल रही हैं। पं. राम अनन्त पाण्डेय को 1975 में ताम्रपत्र से नवाजा था।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

featured

बलियाः माल्देपुर से कदम चौराहा तक फोरलेन के डिवाइडर पर लगेंगे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम

Published

on

माल्देपुर से कदम चौराहा तक जल्द ही फोरलेन रोड बनी नजर आएगी। इस सड़क का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है।कार्यदायी संस्था पीडब्ल्यूडी के इंजीनियरों की मौजूदगी में ठेकेदारों द्वारा दाएं लेन के लिए जेसीबी से गिट्टी खोदाई के बाद गिट्टी भरने का काम शुरू हो गया है।

जिले के महापुरुषों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और ऐतिहासिक स्थलों के चित्र वाली LED तस्वीरें भी सड़कों पर लगेगी और बीच-बीच में स्ट्रीट लाइटें लगेंगी। इससे रात में भी पूरी सड़क के साथ आसपास का इलाका भी जगमग होगा। शहर की सुंदरता बढ़ेगी।

इसके लिए करीब दो करोड़ का प्रस्ताव कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग ने शासन को भेजा है। एनएच 31 पर सड़क की लंबाई 4.455 किलोमीटर है। 48.95 करोड़ रुपये से यह परियोजना पूरी होगी। बरसात के कारण नाला निर्माण कार्य धीमा चल रहा है, लेकिन बहेरी तक सड़क के दोनों तरफ सीमेंटेड ढक्कन वाली नाली का निर्माण हो चुका है।

बता दें कि शहर के बीचो-बीच से होकर गुजर रहे एनएच पर ट्रैफिक बढ़ने के चलते ज्यादातर समय लोगों को जाम का सामना करना पड़ता था। ऐसे में सड़क को चौड़ा करने की मांग लंबे समय से हो रही थी। इस समस्या से निजात के लिए सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से आग्रह किया था। इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय ने माल्देपुर से कदम चौराहा तक सड़क को चौड़ा करने की मंजूरी दी। अब सड़क का निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है। सड़क का निर्माण होते ही लोगों को जाम से मुक्ति मिलेगी।

Continue Reading

बलिया

बलियाः जमुना राम कॉलेज ऑफ फार्मेसी को मिली मान्यता

Published

on

बलियाः चितबड़ागांव के जमुना राम मेमोरियल ट्रस्ट के तहत संचालित जमुना राम कॉलेज ऑफ फार्मेसी को मान्यता मिल गई है। इसके बाद अब जिले के विद्यार्थियों को काफी सुविधा मिल सकेगी।

कॉलेज के प्रबंध निदेशक तुषार नंद ने बताया कि जमुना राम ग्रुप ऑफ़ कॉलेजस ने मेडिकल साइंस के क्षेत्र में भी अपना कदम रखा हैं। वर्तमान सत्र 2023-24 के प्रथम वर्ष के प्रवेश में डी-फार्मा के लिए वर्तमान में 60 सीटे है। इन सीटों पर प्रवेश शुरू हो गए है। फार्मेसी कॉउन्सिल ऑफ इंडिया और प्राविधिक शिक्षा बोर्ड ने जमुना राम कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी को इस बार नामांकन की मान्यता देते हुए कालेज कोड 4243 जारी किया है, जहां अब फार्मेसी की पढ़ाई होगी।

तुषार नन्द ने कहा कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE UP) में सफल छात्रों का प्रवेश सरकार के द्वारा निर्धारित शुल्क पर किया जायेगा। इस अवसर पर जमुना राम पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ अंगद गुप्ता, हरिशंकर प्रसाद लॉ कॉलेज के प्राचार्य अभय श्रीवास्तव, जमुना राम मेमोरियल स्कूल के प्रधानाचार्य अब्रि बघेल, डॉ अरुणेन्द्र मिश्रा ने बधाई दी है।

Continue Reading

बलिया

यात्रीगण कृपया ध्यान दें, बलिया-शाहगंज पैसेंजर 3 से 5 अक्टूबर तक कैंसल, देरी से चलेंगी कई ट्रेन

Published

on

बलिया में रेल यात्रियों को आगामी दिनों में थोड़ा परेशानी का सामना करना पड़ेगा क्योंकि बलिया से 2 से 5 अक्टूबर तक चलने वाली बलिया-शाहगंज (05171) पैसेंजर और शाहगंज से 3 से 5 अक्टूबर तक चलने वाली शाहगंज-बलिया (05172) अनारक्षित विशेष गाड़ी को निरस्त कर दिया गया है।

जनसम्पर्क अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि
वाराणसी मण्डल के खुरहट स्टेशन के यार्ड रिमॉडलिंग कार्य को लेकर प्री-नॉन इण्टरलॉकिंग और नॉन इण्टरलॉकिंग कार्य के कारण बलिया से गुजरने वाली कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहेगा।

दरभंगा से 25 सितम्बर और 2 अक्टूबर को चलने वाली दरभंगा-अहमदाबाद (09466) विशेष गाड़ी दरभंगा से 120 मिनट रि-शिड्यूल कर चलाई जायेगी। छपरा से 26, 27, 29, 30 सितम्बर, एक, तीन, चार अक्टूबर को चलने वाली छपरा-सूरत एक्सप्रेस (19046) छपरा से 120 मिनट रि-शिड्यूल कर चलाई जायेगी।

नियंत्रण कर चलाई जाने वाली ट्रेनों में दरभंगा से 25, 27, 30 सितम्बर, 2 और 4 अक्टूबर को चलने वाली दरभंगा-अहमदाबाद एक्सप्रेस (19166) मार्ग में 70 मिनट नियंत्रित कर चलाई जायेगी। अजमेर से 25, 26, 28 सितम्बर, 2 और 4 अक्टूबर को चलने वाली अजमेर-किशनगंज एक्सप्रेस (15716) मार्ग में 130 मिनट नियंत्रित कर चलाई जायेगी।

अमृतसर से 25, 27, 30 सितम्बर, 2 और 4 अक्टूबर को चलने वाली अमृतसर-जयनगर एक्सप्रेस (14650) मार्ग में 130 मिनट नियंत्रित कर चलाई जायेगी। जयनगर से 26, 29 सितम्बर, एक और 3 अक्टूबर को चलने वाली 04651 जयनगर-अमृतसर विशेष गाड़ी मार्ग में 50 मिनट नियंत्रित कर चलाई जायेगी। सूरत से 25, 27, 28 सितम्बर, 2 और 4 अक्टूबर को चलने वाली 19045 सूरत-छपरा एक्सप्रेस मार्ग में 60 मिनट नियंत्रित कर चलाई जायेगी।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!