Connect with us

बलिया

गोंड जाति का संघर्ष सफल, बलिया समेत 13 जिलों में मिलेगा अनुसूचित जन जाति प्रमाण पत्र

Published

on

बलियाः लंबे समय से आंदोलनरत गोंड जाति का संघर्ष आखिरकार सफल हो ही गया। बलिया समेत पूर्वांचल के 13 जिलों में गोंड जाति को अनुसूचित जनजाति का प्रमाणपत्र मिल गया है।

उन्हें अनुसूचित जनजाति का सर्टिफिकेट मिला लेकिन इस सर्टिफिकेट के लिए लंबा संघर्ष करना पड़ा। दशकों से गोंड, धुरिया, नायक, ओझा, पठारी व राजगोंड जाति के लोगों ने आंदोलन किए। अपने आप को अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के रुप में साबित करने कई लाठियां खाई। लेकिन विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश सरकार ने अब इन जातियों को बड़ी राहत दी है। अब बलिया समेत पूर्वांचल के 13 जिलों पर डीएम को अनुसूचित जनजाति का प्रमाण पत्र निर्गत किए जाने के आदेश जारी हुए हैं। प्रदेश के 62 जिलों में अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी करने के लिए कहा गया है।

जिन जिलों में अनुसूचित जन जाति प्रमाणपत्र जारी किए जाएंगे उनमें वाराणसी, बलिया, आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, जौनपुर, सोनभद्र, मीरजापुर, देवरिया, गोरखपुर, महाराजगंज, सिद्धार्थनगर और बस्ती में अब गोंड, धुरिया, नायक, ओझा, पठारी व राजगोंड शामिल हैं। बलिया में गोंड जाति के लोग सदर तहसील में सर्वाधिक हैं, यहां करीब 45 हजार लोगों को फायदा मिलेगा। हालांकि सिकंदरपुर, बिल्थरारोड, रसड़ा और बैरिया तहसील में भी इनकी संख्या काफी है।

बता दें कि प्रमुख सचिव के रविद्र नायक ने दो दिन पहले जिला प्रशासन को इस संबंध में विस्तृत निर्देश जारी किया है। डीएम को इसका कड़ाई से अनुपालन कराने के लिए कहा है। समाज कल्याण विभाग को भी समन्वय स्थापित करना होगा। इन जातियों से ताल्लुक रखने वाले जिले में करीब 1.30 लाख लोग हैं। उन्हें एसटी (शिड्यूल ट्राइव) सर्टीफिकेट के लिए तहसीलों की गणेश परिक्रमा नहीं करनी पड़ेगी।

आंदोलनरत गोंड जाति के लोग अपने जाति प्रमाण पत्र की मांग लंबे समय से कर रहे थे। उनके प्रमाण पत्र जारी करने के लिए राजस्व अधिकारी व कर्मचारी गोंड जाति के लोगों से 1950 में निर्गत राष्ट्रपति के आदेश मांगते थे। उनकी फाइलों पर जाति सही नहीं है। साक्ष्य स्पष्ट नहीं है। भूमिहीन गोंड जाति के लोगों से भू-राजस्व अभिलेख में नाम नहीं दर्ज होने की आपत्ति लगाई जाती थी। वहीं सोहांव के बादल कुमार व नरही के रमेश कुमार ने बताया कि वे गोंड जाति से हैं। प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया तो तहसील कर्मचारियों ने उसे खारिज कर दिया। सहतवार के छात्र अजीत कुमार ने बताया कि स्कूल में प्रमाण पत्र की जरूरत थी। आवेदन किया लेकिन नहीं बनाया गया। लेकिन अब लंबी चली लड़ाई के बाद आखिरकार गोंड जाति की जीत हुई और बलिया समेत पूर्वांचल के 13 जिलों पर डीएम को अनुसूचित जनजाति का प्रमाण पत्र निर्गत किए जाने के आदेश जारी हुए हैं।

बलिया

फेफना में ट्राई साइकिल मिलने का क्रम जारी, अब इस जगह से 18 साइकिलें बरामद

Published

on

बलिया। फेफना के कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिए जाने वाले उपकरण मिलने के बाद क्षेत्र में छापेमारी जारी है। इसी छापेमार कार्यवाही में जांच टीम को दूसरी जगह ट्राई साइकिल मिली हैं।

जानकारी के मुताबिक फेफना के सरकारी पचखोरी जूनियर हाईस्कूल का मामला है। जहां पर शिकायत मिलने पर चुनाव उड़नदस्ता और एसडीएम ने देर रात छापेमारी की और मौके से 18 ट्राई साइकिल बरामद कर ली। इसके अलावा जिस रुम में ये साइकिल रखी मिली उसे भी सील कर दिया गया है।

मामले के सामने आने के बाद आरोप लगाए जा रहे हैं कि चुनाव प्रभावित करने के लिए मंत्री के ख़ास बीजेपी कार्यकर्ता और प्रधानाध्यापक देवेन्द्र गिरी की देखरेख में ट्राई -साइकिल रखी गई थी। बता दें कि इससे पहले पूर्व विधायक व सपा नेता संग्राम सिंह बीजेपी पर गंभीर आरोप लगा चुके हैं।उन्होंने कहा था कि “चुनाव प्रभावित करने के लिए ट्राई साइकिल रखी गई थी। उन्होंने अधिकारियों पर भी मिलीभगत के आरोप भी लगाए थे।

Continue Reading

बलिया

बलिया- 73वें गणतंत्र दिवस पर ज्ञानपीठिका स्कूल में सांस्कृतिक आयोजन

Published

on

बलिया। देश प्रदेश के साथ ही बलिया में भी 73वें गणतंत्र दिवस की धूम देखने को मिली। कई जगह सांस्कृति आयोजन किए गए। ज्ञानपीठिका स्कूल में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हुआ। ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रगान शिक्षकों ने किया । जिसमें स्कूल के बच्चें ऑनलाइन अपने-अपने घरों से शामिल हुए। कार्यक्रम का केंद्र बिंदु समाज को संविधान और उसके महत्व को लेकर जागरुक करना था।


ज्ञानपीठिका स्कूल के शिक्षक आनंद ने देश भक्ति गीत सुना कर सबका मन मोहा तो एक अन्य अध्यापक उत्कर्ष ने ओज कविता से आज के दिवस को और भी जीवंत किया। गायन में अध्यापिका हीना जहान का गीत ‘तेरी मिट्टी में मिल जावां’ ने कार्यक्रम को और भी रत्नीत किया। पूरे कार्यक्रम का संचालन रीता गोस्वामी ने बड़े ही रोचक ढंग से किया।

आखरी में सभी को सम्बोधित करते हुए विद्यालय की प्रधानाचार्य संस्कृति सिंह ने कहा कि हमारे कर्तव्य राष्ट्र के निर्माण के प्रति होने चाहिए। हमें सदैव यह याद रखना कि हम अपने देश का निर्माण कर रहे हैं और इसे बेहतर से बेहतरीन तरीके से किया जाना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कोविड के बाद से उभरते हुए समय में आने वालीं और आ रही शैक्षणिक चुनौतियों के बारे में बात की। साथ ही चुनौतियों का सामना करने की अपील की।

इस दौरान स्कूल में हो रहे अत्याधुनिक तकनीकी परिवर्तनों से अवगत कराया गया। साथ ही सराहना भी की गई। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय की उप प्रधानाचार्य हीना तबस्सुम ने सभी माध्यमों से उपस्थित लोगों का आभार प्रकट किया।

Continue Reading

featured

फेफना के कोल्डस्टोरेज में सरकारी उपकरण मिलने पर पूर्व विधायक ने उठाए सवाल, कही ये बात

Published

on

बलिया। फेफना विधानसभा के कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिये जाने वाला उपकरण भारी मात्रा में पकड़े जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। कहा जा रहा है कि ये कोल्डस्टोरेज बीजेपी नेता का है। जिसके बाद से राजनैतिक बयानबाजी भी तेज हो गई है। तमाम विपक्षी पार्टियों ने भाजपा पर सवाल भी उठाए हैं।

इसी बीच मामले को लेकर पूर्व विधायक व सपा नेता संग्राम सिंह का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि “चुनाव प्रभावित करने के लिए ट्राई साइकिल रखी गई थी। उन्होंने अधिकारियों पर भी मिलीभगत के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि मामले में अधिकारी भी मिले हैं, निष्पक्ष चुनाव के लिए अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज की जाए।”

संग्राम सिंह ने सवाल उठाते हुए कहा कि “आखिर सरकारी सामान को प्राइवेट गोदाम में क्यों रखा गया? मंत्री उपेंद्र तिवारी पर वार करते हुए कहा कि उन्होंने दिव्यांगों को भी नहीं छोड़ा।” मामले पर अभी तक ठोस कार्यवाही न होने से भी सपा नेता नाराज दिखे। उन्होंने कहा कि मामले कार्रवाई ना होना डीएम की मजबूरी है।

बता दें कि बीते दिन कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिये जाने वाला उपकरण भारी मात्रा में पकड़े गए थे। जिसके बाद जांच टीम ने उपकरणों को सोहांव ब्लॉक पर बीडीओ की निगरानी में सौंप दिया है। निजी स्थान पर उपकरण मिलने पर दिव्यांगजन अधिकारी को नोटिस जारी कर रिपोर्ट तलब की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स में कोल्ड स्टोरेज को भाजपा के बड़े नेता और सरकार में एक मंत्री के करीबी का बताया गया था।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!