Connect with us

बलिया

हाईटेक होंगे बलिया के अस्पताल! रजिस्ट्रेशन से लेकर इलाज कराने तक की बदलेगी व्यवस्था

Published

on

बलिया में तहसील स्तरीय 6 सीएचसी के अलावा जिला अस्पताल और महिला अस्पताल को अब पूरी तरह से ऑनलाइन किया जाएगा। सभी अस्पतालों में मरीजों को हाईटेक सुविधाएं मिलेंगी। मरीज के रजिस्ट्रेशन से लेकर दवा वितरण तक का सारा काम ऑनलाइन होगा। शासन से धनराशि मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने कवायद भी शुरू कर दी है।

अब ऐसे होगा इलाज- अस्पताल में इलाज कराने वाले मरीजों का पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा। रजिस्ट्रेशन के समय मरीज को अपना आधार कार्ड लाना अनिवार्य होगा। रजिस्ट्रेशन होने के बाद एक नंबर दिया जाएगा। उसी नंबर के आधार पर वह ओपीडी में जाएगा। पैथोलॉजी में भी अब काम मैनुअल नहीं होगा। रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर पैथोलॉजिस्ट मरीज की जांच कर रिपोर्ट ऑनलाइन फीड करेगा।

दवा वितरण काउंटर पर भी मरीज को रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर दवा दी जाएगी। दोबारा आने पर मरीज को रजिस्ट्रेशन काउंटर पर उसे पहले मिले नंबर को बताना होगा। उसी आधार पर अगले दिन का पंजीकरण किया जाएगा। इस हिसाब से अब मरीज को पूर्व की भांति अस्पताल से पर्चा नहीं बनवाना पड़ेगा। यदि किन्हीं कारणों से मरीज अपना रजिस्ट्रेशन नंबर भूल जाता है तो उसके आधार नंबर से उसका पूरा विवरण मिल जाएगा।

इन अस्पतालों में बदलेगी सुविधा- बैरिया तहसील के सोनबरसा, बांसडीह तहसील के रेवती, सदर तहसील के दुबहड़, बेल्थरारोड तहसील के सीयर, रसड़ा और सिकंदरपुर सीएचसी के अलावा जिला मुख्यालय स्थित पुरुष और महिला अस्पताल पर आठ-आठ कंप्यूटर सिस्टम की खरीद होनी है। शासन से आवंटित करीब 50 लाख रुपये में से सिस्टम खरीद पर करीब 40.80 लाख रुपये खर्च किए जाने हैं। शेष बचे रुपये सभी सीएचसी पर इंटरनेट आदि की व्यवस्था पर खर्च किए जाएंगे।

पोर्टल पर सुरक्षित रहेगा विवरण– निदेशालय की ओर से तैयार जे पोर्टल पर मरीज का पूरा विवरण ऑनलाइन करते हुए सुरक्षित रखा जाएगा। मरीज को उक्त अस्पताल के अलावा जिला अथवा अन्य शहर में इलाज कराए जाने पर पूर्व में हुए इलाज का पर्चा दिखाने की जरूरत नहीं होगी। मरीज के आधार कार्ड नंबर से उसके इलाज का पूरा विवरण पोर्टल पर मिल जाएगा।

उपकरणों से लैस होंगी 4 सीएचसी- एनआरएचएम के डीपीएम डॉ. आरबी यादव ने बताया कि स्वास्थ्य प्रबंधन सूचना तंत्र के तहत जिला मुख्यालय स्थित पुरुष और महिला अस्पताल के अलावा छह सीएचसी को पूरी तरह कंप्यूटराइज्ड कर दिया जाएगा। डीएचएस की बैठक में अनुमोदन मिल गया है। कंप्यूटर व अन्य उपकरणों की आपूर्ति के लिए कार्यवाही शुरू करा दी गई है।

बलिया

बलियाः जिज्ञासा कोचिंग इंस्टीट्यूट का हुआ शुभारंभ

Published

on

बलिया के द्वारिकापुरी कॉलोनी में सर्वश्रेष्ठ शैक्षणिक संस्थान के रूप में संचालित “जिज्ञासा कोचिंग इंस्टीट्यूट” के शुभारंभ हुआ। इस कार्यक्रम का उद्घाटन पूर्व मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला और जेएनसीयू के कुलपति महोदय आदरणीय प्रोफेसर संजीत कुमार गुप्ता जी के करकमलों द्वारा हुआ।

उक्त कार्यक्रम में देव पब्लिक स्कूल के प्रबंधक आदरणीय गुरुदेव डॉक्टर अरूण सिंह, दिनेश सिंह, भाजपा महिला मोर्चा की जिला महामंत्री श्वेता राय, भाजपा महिला मोर्चा की नगर अध्यक्ष सोनी तिवारी, भाजपा बलिया के नगर अध्यक्ष अभिषेक सोनी, भाजपा बलिया के नगर उपाध्यक्ष बड़े भाई अभिजीत सिंह अंकु, सभासद भाई सूरज तिवारी, प्रिय भाई अनुभव सिंह, प्रिय भाई विशेष सिंह, प्रिय भाई राजेश गुप्ता, प्रिय भाई अतुल पांडेय, कोचिंग के प्रबंधक प्रिय बड़े भाई अशोक चौबे सर और कोचिंग के शिक्षक गण सत्येन्द्र प्रकाश तिवारी सर, प्रिय भाई अमित गुप्ता सर और प्रिय भाई सत्य प्रकाश मिश्रा और समस्त छात्र-छात्राएं उपस्थित रहें।

Continue Reading

बलिया

बलियाः आईटीआई के प्रिंसिपल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

Published

on

बलिया से सनसनीखेज खबर सामने आ रही है। जहां आईटीआई स्कूल के प्रिंसिपल ने पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली। जानकारी के मुताबिक 23 सिंतबर को ही प्रिंसिपल ने आईटीआई स्कूल में ज्वाइन किया था। ज्वाइन करने के 5 दिन बाद प्रिंसिपल ने आत्महत्या कर ली।

घटना नगरा थाना क्षेत्र के पालचन्द्रहा गांव स्थित आईटीआई स्कूल की है। जहां ओडिशा प्रदेश के कटक जिला अंतर्गत प्रहराजपुर निवासी 45 वर्षीय दीनबन्धु शाह प्रिंसिपल के रूप में तैना थे। वे स्कूल के प्रांगण के एक कमरे में रहते थे। बुधवार की रात खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने चले गए। सुबह खिड़की से देखने पर पंखे के हुक से लटकता दिखा। कर्मी ने विद्यालय से जुड़े लोगों को जानकारी दी।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतरवाया। प्रिंसिपल के परिजनों ने विद्यालय के प्रबंधक को बताया कि बुधवार शाम को घर पर फोन करके बात की थी। प्रबन्धक अवधेश यादव के तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए बलिया भेज दिया।

Continue Reading

featured

बलियाः माल्देपुर से कदम चौराहा तक फोरलेन के डिवाइडर पर लगेंगे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम

Published

on

माल्देपुर से कदम चौराहा तक जल्द ही फोरलेन रोड बनी नजर आएगी। इस सड़क का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है।कार्यदायी संस्था पीडब्ल्यूडी के इंजीनियरों की मौजूदगी में ठेकेदारों द्वारा दाएं लेन के लिए जेसीबी से गिट्टी खोदाई के बाद गिट्टी भरने का काम शुरू हो गया है।

जिले के महापुरुषों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और ऐतिहासिक स्थलों के चित्र वाली LED तस्वीरें भी सड़कों पर लगेगी और बीच-बीच में स्ट्रीट लाइटें लगेंगी। इससे रात में भी पूरी सड़क के साथ आसपास का इलाका भी जगमग होगा। शहर की सुंदरता बढ़ेगी।

इसके लिए करीब दो करोड़ का प्रस्ताव कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग ने शासन को भेजा है। एनएच 31 पर सड़क की लंबाई 4.455 किलोमीटर है। 48.95 करोड़ रुपये से यह परियोजना पूरी होगी। बरसात के कारण नाला निर्माण कार्य धीमा चल रहा है, लेकिन बहेरी तक सड़क के दोनों तरफ सीमेंटेड ढक्कन वाली नाली का निर्माण हो चुका है।

बता दें कि शहर के बीचो-बीच से होकर गुजर रहे एनएच पर ट्रैफिक बढ़ने के चलते ज्यादातर समय लोगों को जाम का सामना करना पड़ता था। ऐसे में सड़क को चौड़ा करने की मांग लंबे समय से हो रही थी। इस समस्या से निजात के लिए सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से आग्रह किया था। इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय ने माल्देपुर से कदम चौराहा तक सड़क को चौड़ा करने की मंजूरी दी। अब सड़क का निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है। सड़क का निर्माण होते ही लोगों को जाम से मुक्ति मिलेगी।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!