Connect with us

बलिया स्पेशल

एक नज़र में जानें कौन होगा सलेमपुर लोकसभा सीट से भाजपा का उमीदवार?

Published

on

बलिया– लोकसभा चुनाव का औपचारिक बिगुल बजने में अभी समय है लेकिन राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव की तैयारी अपने-अपने तरीके से शुरू कर दी है.  लोकसभा चुनाव के रण में बीजेपी की ओर से कौन योद्धा होगा ? इसको लेकर उत्तर प्रदेश की तमाम सीटों पर रायशुमारी का दौर जारी है. इसी कड़ी में सलेमपुर लोकसभा सीट से बीजेपी का प्रत्याशी कौन होगा? इसको लेकर भी चर्चा का बाज़ार गर्म है.  इस सीट से भाजपा के दावेदारों की संख्या लगातार बढती जा रही है. 2014 के आम चुनाव में इस सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के रविंद्र कुशवाहा चुनाव जीते थे.पार्टी सूत्रों से मिली रिपोर्ट के मुताबिक पांच सालों में मौजूदा सांसद रविंद्र कुशवाहा का रिपोर्ट कार्ड काफी खराब रहा है, जिसमें सबसे ज्यादा शिकायतें जनता से दूरी बनाए रखने और सुनवाई न करने की रही हैं. इससे कहीं न कहीं पार्टी का प्रभाव भी कम हुआ. ऐसे में पार्टी नेतृत्व इस सीट से नया चेहरा मैदान में उतारने की रणनीति बना रहा है.

राजनीतिक पृष्ठभूमि- सलेमपुर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत 5 विधानसभा क्षेत्र भाटपार रानी, सलेमपुर (अनुसूचित जाति), बेल्थरा रोड (अनुसूचित जाति), सिकंदरपुर और बांसडीह आते हैं.2017 विधानसभा चुनाव की बात करें तो देवरिया जिले में पड़ने वाले भाटपार रानी और बलिया जिले में आने वाले बांसडीह विधानसभा क्षेत्र पर समाजवादी पार्टी ने कब्ज़ा किया था तो वहीँ देवरिया का सलेमपुर, बलिया का बेल्थरा रोड और सिकंदरपुर भाजपा के कब्ज़े में है. एक तरह से देखा जाए तो सलेमपुर लोकसभा सीट पर पिछले 30 सालों में समाजवादी पार्टी का दबदबा रहा है. बीजेपी तो पिछली बार मोदी लहर में यह सीट निकालने में कामयाब रही है. इस बार राज्य में सपा-बसपा एक साथ चुनाव लड़ रहे हैं. ऐसे में बदले समीकरण में बीजेपी के लिए यह सीट निकाल पाना आसान नहीं दिख रहा.

सलेमपुर, भाटपार रानी, बांसडीह, बेल्थरा रोड और सिकंदरपुर में बीजेपी से दावेदारों की होर्डिंग ये बता रही है कि यहाँ लगभग एक दर्ज़न से ज्यादा दावेदार टिकट की मांग कर रहे हैं. मौजूदा सांसद रविंद्र कुशवाहा भी अपना दावा पेश कर चुके हैं. हालांकि लोकसभा में उनकी सक्रियता खास नहीं रही है. 56 वर्षीय सांसद रविंद्र कुशवाहा की शैक्षणिक योग्यता की बात की जाए तो उन्होंने 12वीं तक की शिक्षा हासिल की है. वह एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं. उनके परिवार में एक बेटा और एक बेटी है. वह देवरिया जिले के इथुआ चंदौली में रहते हैं.

देवेन्द्र यादव – 2014 के लोकसभा चुनाव में अपनी दावेदारी पेश कर चुके देवेन्द्र यादव इस बार फिर भाजपा से टिकट की मांग कर रहे हैं. बांसडीह विधानसभा क्षेत्र के भद्पुरा निवासी देवेन्द्र यादव भाजपा और संघ के काफी पुराने कार्यकर्ता हैं.  1987 से अपनी राजनैतिक पारी की शुरुआत  करने वाले देवन्द्र यादव दो बार( 2007- 2010) और (2010- 2012), बलिया में भाजपा जिला अध्यक्ष के पद पर भी आसीन रहे हैं.  देवेन्द्र यादव इस समय गोरखपुर क्षेत्र के महामंत्री के साथ-साथ कुशीनगर जिला प्रभारी का भी दायित्व निभा रहे हैं.

अक्षय लाल यादव- बेल्थरा रोड विधानसभा क्षेत्र से आने वाले पूर्व जिला पंचायत सदस्य अक्षय लाल यादव टिकट के दावेदारों में शामिल हैं. अपने जीवन के तकरीबन आधी उम्र सामाजिक कार्यों में समर्पित कर चुके अक्षय लाल को भी उम्मीद है कि पार्टी इस बार उनपर भरोसा करके उन्हें मैदान में उतार सकती है.भगवान पाठक- 58 वर्षीय पूर्व विधायक भगवान पाठक भी टिकट को लेकर दावेदारी पेश कर रहे हैं , वह बसपा से (2007-2012) विधायक भी रहे चुके हैं.  2012 में बसपा छोड़ 2014 लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा ज्वाइन की थी.  श्री पाठक को पूरा भरोसा है की भारतीय जनता पार्टी उन्हें इस बार लोकसभा के मैदान में उतार सकती है.

पुनीत शाही – सलेमपुर लोकसभा सीट से दावेदारों में सबसे कम उम्र के पुनीत शाही यूँ तो स्नातक है, देवरिया के पिंडी के रहने वाले शाही सामाजिक कार्यकर्ता के साथ -साथ  2006 से भारतीय जनता पार्टी ( बीजेपी) के सदस्य हैं, नौजवानों में लोकप्रिय पुनीत शाही भी सलेमपुर सीट से टिकट मिलने को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं.

मनोरमा गुप्ता  – सलेमपुर सीट से पहली महिला दावेदार भाजपा की जिला मंत्री मनोरमा गुप्ता भी इलाके में अपनी दावेदारी को लेकर काफ़ी चर्चा में हैं. बांसडीह विधानसभा के मनियर की रहने वाली मनोरमा गुप्ता स्नातक है, अपनी दावेदारी पर मनोरमा ने उम्मीद जताते हुए कहा कि पार्टी का जो आदेश होगा वो मेरे लिए सर्वमान्य होगा .

आप को बता दें की सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र में भाजपा नेता ओमप्रकाश वर्मा और  राजेश सिंह कुशवाहा के भी होर्डिंग्स लगे हुए, जिस पर बलिया खबर ने उनसे उनकी दावेदारी के बारे में जानने की कोशिश की लेकिन उनसे  संपर्क नहीं हो सका.  अब तो आने वाला वक़्त ही बताएगा कि भाजपा सलेमपुर का सिकंदर किसको बनाती है ! जानकारी के लिए बता दें की सेलमपुर लोकसभा संसदीय सीट प्रदेश के 2 जिलों बलिया और देवरिया से मिलाकर बना है. सलेमपुर उत्तर प्रदेश की सबसे पुरानी तहसील है, मोहम्मद सलीम के द्वारा बसाया गया यह शहर हमेशा से ही धर्म और राजनीति दोनों की दृष्टि के महत्वपूर्ण रहा है. ब्रिटिशकाल में तहसील के रूप में इसकी स्थापना 1939 में हुई थी.

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया स्पेशल

बलिया में प्रेमिका के घर गये प्रेमी युवक की हत्या, युवती के भाई के खिलाफ केस दर्ज

Published

on

बलिया। जिले के चितबड़ागांव क्षेत्र में प्रेमिका से मिलने गये प्रेमी युवक की हत्या किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। थाना प्रभारी निरीक्षक राकेश कुमार सिंह के अनुसार नगपुरा गांव निवासी नंदलाल राम ने सोमवार सुबह चितबड़ागांव थाने में सूचना दी कि उसका पुत्र 19 वर्षीय चंदन कुमार बेहोशी की हालत में गांव के निवासी हरिशंकर राम के घर पड़ा है।

उन्होंने बताया कि सूचना पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो उस समय युवक की मृत्यु हो चुकी थी।  पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मारे गए युवक के पिता की तहरीर पर पुलिस ने प्रेमिका के साथ ही उसकी मां व भाई के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है।

बता दें कि नगपुरा निवासी 18 वर्षीय चंदन का गांव के ही एक युवती से लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। बताया जाता है कि रविवार की रात प्रेमिका ने फोन कर उसे अपने घर बुलाया। इस बीच, घर में उसके भाई ने उसे पकड़ लिया। आरोप है कि युवती के भाई ने कुल्हाड़ी से बहन के प्रेमी की हत्या कर दी। सोमवारसुबह जब चंदन घर में नहीं मिला तो उसके पिता नंदलाल राम ने मामले से पुलिस को सूचना दी।

संदेह के आधार पर पुलिस चंदन की प्रेमिका के घर पहुंची तो उसका शव बरामद हुआ। इस संबंध में चितबड़ागांव के एसओ राकेश कुमार सिंह का कहना है कि नंदलाल की तहरीर पर चंदा, उसकी मां अनिता व भाई सूरज के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। सारे आरोपित फरार हैं। उनकी तलाश जारी है।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

बलिया- अब होम आइसोलेशन के मरीजों के लिये उपलब्ध होगा आक्सीजन सिलेण्डर

Published

on

बलिया: जिलाधिकारी आदिति सिंह के निर्देश पर औषधि निरीक्षक मोहित कुमार दीप ने सहायक आयुक्त औषधि निरीक्षक आजमगढ़ मंडल आजमगढ़ से वार्ता कर होम आइसोलेशन मे रह रहे मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेण्डर की व्यवस्था कर दी है। श्री दीप ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर बलिया आयरन स्टोर बहेरी में 40 बड़े सिलेंडर और 10 छोटे सिलेंडर की व्यवस्था करा दिया गया है।

होम आइसोलेशन मे रहे मरीज, जिनको ऑक्सीजन सिलेण्डर की जरूरत है, वे मरीज का टेस्ट रिपोर्ट, डॉक्टर का पर्चा वह आधार कार्ड ले जाकर ऑक्सीजन सिलेण्डर क्रय कर सकता है। आक्सीजन सिलेण्डर लेने के लिये खाली सिलेण्डर देकर व निर्धारित शुल्क के साथ सिलेण्डर लिया जा सकता है। जिनके पास खाली सिलेण्डर नही है वे भी ऑक्सीजन सिलेण्डर क्रय कर सकता है।

उन्होंने बताया कि पॉलिटेक्निक रोड पर स्थिति अशर्फी हॉस्पिटल का भी निरीक्षण किया गया। यहां 15 बेड की व्यवस्था करा दिया गया है जहाँ कोविड के मरीज एडमिट हो सकते हैं। यहां भी 15 बड़े आक्सीजन सिलेण्डर उपलब्ध करा दिया गया है। पाईप के माध्यम से सभी 15 बेड तक ऑक्सीजन की सप्लाई होगी। इसके अलावा तीन वेंटीलेटर उपलब्ध करवा दिया गया है, जो कार्यशील है। निरीक्षण के समय रविशंकर पाण्डेय उपस्थित रहे।

Continue Reading

featured

बलिया- मुख्यमंत्री के आने की भनक से अलर्ट मोड में प्रशासन !

Published

on

बलिया  डेस्क :  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना संक्रमण संबंधी स्थिति का जायजा लेने के इन दिनों लगातार विभिन्न जिलों का दौरा कर रहे हैं। उनके बलिया दौरे का रविवार की शाम तक आधिकारिक रूप से कोई कार्यक्रम तो नहीं आया लेकिन उनके आने की भनक मात्र से जिला प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य महकमा पूरी तरह अलर्ट मोड में आ गया है।

शहर से सटे पांच गांवों में खास तैयारी के साथ ही जिला अस्पताल व कोविड सेंटर भी चौकन्ना हो गया है। अस्पताल में टूटी दीवारों की मरम्मत व रंगाई-पुताई के साथ ही अन्य तैयारियों को दुरुस्त करने में महकमा रविवार को जुटा हुआ था। एक दिन पहले एसपी विपिन ताडा ने भी खुद कोविड कमांड सेंटर आदि का निरीक्षण कर जायजा लिया था।

इस बीच, अनुमान यह भी लगाया जा रहा है कि मुख्यमंत्री किसी गांव में निरीक्षण के लिए भी जा सकते हैं। इसे देखते हुए जिला प्रशासन शहर से सटे पांच गांवों में विशेष तैयारी कर रहा है। विभागीय सूत्रों की मानें तो शहर से सटे सागरपाली, सहरसपाली, मिड्ढा, ब्रह्माईन व हैबतपुर गांव में खास तैयारी हो रही है। जिलाधिकारी के इन गांवों में खुद जाकर तैयारियों का जायजा लेने की भी सूचना है।

Continue Reading

TRENDING STORIES