Connect with us

बलिया

बलिया में सड़क हादसों को रोकने iRAD मोबाइल ऐप का इस्तेमाल, ऐसे करता है काम

Published

on

बलिया में सड़क दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के उद्देश्य से बनाए गए एकीकृत सड़क दुर्घटना डेटाबेस (iRAD) एप्लीकेशन का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस मोबाइल एप के जरिए दुर्घटना से संबंधित आंकड़ों की जानकारी दर्ज की जाएगी।

बता दें कि सड़क दुर्घटनाओं और उनसे होने वाली मौतों को लेकर सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार की ओर से एकीकृत सड़क दुर्घटना डेटाबेस ( iRAD ) एप्लीकेशन तैयार किया गया है। आईआईटी मद्रास के सहयोग से यह एप्लीकेशन बनाया गया है। जिसका उपयोग यूपी के 16 लाइट हाउस डिस्ट्रिक्ट्स में एवं जनपद बलिया सहित प्रदेश के शेष 59 जिलों में दिनांक 15 मार्च 2021 से सफलतापूर्वक किया जा रहा है। इस ऐप के दुर्घटनाओं के डेटा के माध्यम से आईआईटी मद्रास विश्लेषण करेगा और इसके बाद आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। जिससे सड़क दुर्घटनाओं पर कमी आएगी।

ऐसे काम करता है मोबाइल एप– iRAD मोबाइल ऐप में सड़क दुर्घटना के तत्काल उपरांत दुर्घटना स्थल से ही स्थानीय पुलिस अधिकारी के माध्यम से सड़क दुर्घटना का लोकेशन, दुर्घटना की गंभीरता, दुर्घटना मे प्रभावित व्यक्ति का नाम, पता, उम्र, वाहन नंबर, लाइसेन्स संख्या, मौसम आदि का विवरण फोटो/विडियो सहित अपलोड किया जाएगा। अपलोड की प्रक्रिया पूर्ण होते ही सूचना संबन्धित थाना प्रभारी के पास पहुंच जाएगी, फिर आवश्यकतानुसार पुलिस विभाग द्वारा आरटीओ, हाइवे(पीडब्ल्यूडी), स्वास्थ्य विभाग को ऐप के माध्यम से सूचना भेजी जाएगी जिसके आधार पर दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति के इलाज सम्बंधी तैयारी नजदीकी अस्पताल मे होगी, जिससे दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को तुरंत उपचार मिल पाएगा।

बता दें कि बलिया में इस ऐप का अच्छे से क्रियान्वयन किया जा रहा है। इसमें जिला सूचना-विज्ञान अधिकारी, बलिया श्री निजामुद्दीन अंसारी और डा० अभिषेक मिश्रा, पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट के निर्देशन में रोल आउट मैनेजर, iRAD, गौतम वर्मा द्वारा लोक निर्माण विभाग, बलिया के प्रांतीय खंड के अवर अभियन्ताओं को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

इसके अलावा आरटीओ बलिया से आरआई श्री राज भवन और पीटीओ आर० पी० गौतम को पूर्व में एनआईसी केंद्र बलिया में प्रशिक्षण दिया जा चुका है। थाना कोतवाली से सड़क दुर्घटना से संबन्धित वाहनों का तकनीकी जांच आरआई श्री राज भवन द्वारा iRAD ऐप के माध्यम से किया जा रहा है।

अभी तक 203 दुर्घटनाओं की जानकारी जुटीः  इस ऐप में कुल 203 सड़क दुर्घटनाओं का डेटा मिल चुका है। इस ऐप में यह भी जानकारी जुटी है कि जिनमें घातक श्रेणी के 55.7 % (113 केस), गंभीर श्रेणी के 33.5% (68 केस ), सामान्य घायल (अस्पताल में भर्ती ) के 7.9% (16 केस ), सामान्य घायल ( अस्पताल में भर्ती नहीं ) के 2.5% (5 केस) तथा नो-इंजरी के 0.5% (1 केस) हैं। इसके अनुसार जनपद बलिया में कुल मृतकों की संख्या 127 और घायलों की संख्या 166 रही।

इस ऐप में घटनाओं की स्थानवार जानकारी मिली है। गड़वार में 20, कोतवाली में 11, पकड़ी में 3, बैरिया में 4, बांसडीह रोड में 7, बांसडीह में 10, भीमपुरा में 8, चितबड़ागाव में 10, दोकती में 2, दुबहड़ में 9, हल्दी में 3, खेजुरी में 3, मनियर में 4, नगरा में 12, नरही में 8, फेफना में 5, रसड़ा में 30, सिकंदरपुर में 10, सुखपुरा में 8, उभाव में 23, रेवती में 7 एक्सीडेंट हुए।

बलिया

फेफना में ट्राई साइकिल मिलने का क्रम जारी, अब इस जगह से 18 साइकिलें बरामद

Published

on

बलिया। फेफना के कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिए जाने वाले उपकरण मिलने के बाद क्षेत्र में छापेमारी जारी है। इसी छापेमार कार्यवाही में जांच टीम को दूसरी जगह ट्राई साइकिल मिली हैं।

जानकारी के मुताबिक फेफना के सरकारी पचखोरी जूनियर हाईस्कूल का मामला है। जहां पर शिकायत मिलने पर चुनाव उड़नदस्ता और एसडीएम ने देर रात छापेमारी की और मौके से 18 ट्राई साइकिल बरामद कर ली। इसके अलावा जिस रुम में ये साइकिल रखी मिली उसे भी सील कर दिया गया है।

मामले के सामने आने के बाद आरोप लगाए जा रहे हैं कि चुनाव प्रभावित करने के लिए मंत्री के ख़ास बीजेपी कार्यकर्ता और प्रधानाध्यापक देवेन्द्र गिरी की देखरेख में ट्राई -साइकिल रखी गई थी। बता दें कि इससे पहले पूर्व विधायक व सपा नेता संग्राम सिंह बीजेपी पर गंभीर आरोप लगा चुके हैं।उन्होंने कहा था कि “चुनाव प्रभावित करने के लिए ट्राई साइकिल रखी गई थी। उन्होंने अधिकारियों पर भी मिलीभगत के आरोप भी लगाए थे।

Continue Reading

बलिया

बलिया- 73वें गणतंत्र दिवस पर ज्ञानपीठिका स्कूल में सांस्कृतिक आयोजन

Published

on

बलिया। देश प्रदेश के साथ ही बलिया में भी 73वें गणतंत्र दिवस की धूम देखने को मिली। कई जगह सांस्कृति आयोजन किए गए। ज्ञानपीठिका स्कूल में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हुआ। ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रगान शिक्षकों ने किया । जिसमें स्कूल के बच्चें ऑनलाइन अपने-अपने घरों से शामिल हुए। कार्यक्रम का केंद्र बिंदु समाज को संविधान और उसके महत्व को लेकर जागरुक करना था।


ज्ञानपीठिका स्कूल के शिक्षक आनंद ने देश भक्ति गीत सुना कर सबका मन मोहा तो एक अन्य अध्यापक उत्कर्ष ने ओज कविता से आज के दिवस को और भी जीवंत किया। गायन में अध्यापिका हीना जहान का गीत ‘तेरी मिट्टी में मिल जावां’ ने कार्यक्रम को और भी रत्नीत किया। पूरे कार्यक्रम का संचालन रीता गोस्वामी ने बड़े ही रोचक ढंग से किया।

आखरी में सभी को सम्बोधित करते हुए विद्यालय की प्रधानाचार्य संस्कृति सिंह ने कहा कि हमारे कर्तव्य राष्ट्र के निर्माण के प्रति होने चाहिए। हमें सदैव यह याद रखना कि हम अपने देश का निर्माण कर रहे हैं और इसे बेहतर से बेहतरीन तरीके से किया जाना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कोविड के बाद से उभरते हुए समय में आने वालीं और आ रही शैक्षणिक चुनौतियों के बारे में बात की। साथ ही चुनौतियों का सामना करने की अपील की।

इस दौरान स्कूल में हो रहे अत्याधुनिक तकनीकी परिवर्तनों से अवगत कराया गया। साथ ही सराहना भी की गई। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय की उप प्रधानाचार्य हीना तबस्सुम ने सभी माध्यमों से उपस्थित लोगों का आभार प्रकट किया।

Continue Reading

featured

फेफना के कोल्डस्टोरेज में सरकारी उपकरण मिलने पर पूर्व विधायक ने उठाए सवाल, कही ये बात

Published

on

बलिया। फेफना विधानसभा के कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिये जाने वाला उपकरण भारी मात्रा में पकड़े जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। कहा जा रहा है कि ये कोल्डस्टोरेज बीजेपी नेता का है। जिसके बाद से राजनैतिक बयानबाजी भी तेज हो गई है। तमाम विपक्षी पार्टियों ने भाजपा पर सवाल भी उठाए हैं।

इसी बीच मामले को लेकर पूर्व विधायक व सपा नेता संग्राम सिंह का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि “चुनाव प्रभावित करने के लिए ट्राई साइकिल रखी गई थी। उन्होंने अधिकारियों पर भी मिलीभगत के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि मामले में अधिकारी भी मिले हैं, निष्पक्ष चुनाव के लिए अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज की जाए।”

संग्राम सिंह ने सवाल उठाते हुए कहा कि “आखिर सरकारी सामान को प्राइवेट गोदाम में क्यों रखा गया? मंत्री उपेंद्र तिवारी पर वार करते हुए कहा कि उन्होंने दिव्यांगों को भी नहीं छोड़ा।” मामले पर अभी तक ठोस कार्यवाही न होने से भी सपा नेता नाराज दिखे। उन्होंने कहा कि मामले कार्रवाई ना होना डीएम की मजबूरी है।

बता दें कि बीते दिन कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिये जाने वाला उपकरण भारी मात्रा में पकड़े गए थे। जिसके बाद जांच टीम ने उपकरणों को सोहांव ब्लॉक पर बीडीओ की निगरानी में सौंप दिया है। निजी स्थान पर उपकरण मिलने पर दिव्यांगजन अधिकारी को नोटिस जारी कर रिपोर्ट तलब की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स में कोल्ड स्टोरेज को भाजपा के बड़े नेता और सरकार में एक मंत्री के करीबी का बताया गया था।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!