Connect with us

बलिया स्पेशल

खुल गया बलिया में पासपोर्ट आफ़िस, नहीं जाना होगा वाराणसी, सांसद ने किया उद्घाटन

Published

on

बलिया से सांसद भरत सिंह की पहल पर सरकार ने मुख्य डाकघर में पासपोर्ट कार्यालय बनवाने की व्यवस्था  बहाल कर दी गई । सोमवार को सांसद भरत सिंह ने बलिया के प्रधान डाकघर में स्थापित पासपोर्ट कार्यालय का फीता काटकर उद्घाटन किया।

इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने  कहा कि जिले के लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए अब बाहर नहीं जाना पड़ेगा। सिंह ने कहा कि बलिया के लोगों को पासपोर्ट की वजह से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

इस मुद्दे पर विदेश मंत्रीजी से बलिया में पासपोर्ट आफिस के स्थापना करने की बात रखी। उन्होंने कहा कि पासपोर्ट बनाने के लिये केंद्र सरकार ने सरलीकरण के साथ सुविधाजनक भी कर दिया है ।

पहले पासपोर्ट बनवाना काफी कठिन काम था तथा उसके लिए अनावश्यक धन भी खर्च होता था, पर वर्तमान मोदी सरकार ने इसे आसान   और सुविधाजनक बना दिया है।  बता दें की सांसद ने सार्थक पहल करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलकर पासपोर्ट कार्यालय खोलने की सिफारिश की थी।

 

वही अब पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया अब आसान कर दी गई  है. विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट नियमों में कई बड़े बदलाव किये हैं.  अब तक पासपोर्ट बनवाने के लिए मंत्रालय ने बर्थ सर्टिफिकेट अनिवार्य कर रखा था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा.

जानकारी के अनुसार, अब तक 26 जनवरी, 1989 या उसके बाद जन्म लिए लोगों के लिए बर्थ सर्टिफिकेट देना अनिवार्य था, लेकिन अब नगर निगम के रजिस्ट्रार, जन्म और मृत्यु रजिस्ट्रार या सर्टिफाइड अथॉरिटी से बनवाया गया बर्थ सर्टिफिकेट मान्य होगा.

यही नहीं, किसी शैक्षणिक संस्था की तरफ से जारी किया गया ट्रांसफर या स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट भी पूरी तरह से मान्य होगा.

पैन कार्ड, आधार कार्ड या ई-आधार, ड्राइविगं लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड भी पासपोर्ट बनाने के लिए मान्य होंगे.

इसके अलावा माता-पिता का विवरण देना आवश्यक नहीं है. इसकी जगह आप अभिभावक या साधु-संत आध्यात्मिक गुरू का नाम दे सकते हैं.

ध्यान देने वाली बात यह है कि पासपोर्ट फॉर्म में कॉलम की संख्या को भी मंत्रालय ने 15 से घटाकर 9 कर दिया है. इसमेंA, C, D, E, J और K को हटा दिया गया है.

वहीं, अब तक आपको पासपोर्ट के लिए न्यायिक मजिस्ट्रेट, नोटरी आदि से सत्यापन (अटेस्टेशन) करना होता था, लेकिन अब आपको केवल पेपर पर सेल्फ डिक्लेरेशन देना होगा.

पासपोर्ट ऑनलाइन बनाने के लिए ये करें…

पासपोर्ट बनवाना पहले बहुत बड़ी बात हुआ करती थी। पासपोर्ट बनवाने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटना तो मानो आम था, लेकिन अब आपको ऐसा नहीं करना पड़ेगा क्योंकि ये सुविधाएं अब ऑनलाइन उपलब्ध हैं।
 सबसे पहले पासपोर्ट सेवा वेबसाइट पर जाए। यहां पर अप्लाई वाले बॉक्स के अंतर्गत दिए गए रजिस्टर नाऊ में क्लिक करें। अब पॉसपोर्ट सेवा वेबसाइट में अपना अकाउंट बनाने के लिए दिया गया फॉर्म भरें। आपको फॉर्म भरते वक्त उसी शहर के पॉसपोर्ट ऑफिस को सिलेक्ट करना हैं जहां आप रह रहे हैं।
साथ ही यह भी ध्यान दें कि आप वैसा ही नाम रजिस्टर करें जैसा कि आपके अन्य दस्तावेजों में दिया गया है। फॉर्म को पूरा भरने के बाद रजिस्टर पर क्लिक करें। अब आपका अकाउंट बन गया है। पासपोर्ट सेवा वेबसाइट पर लौटिए। यहां पर आपको हरा रंग का लॉगिन का बटन दिखेगा। इस बटन पर क्लिक करें।
इसमें अपना ई-मेल एड्रेस डालें और कन्टीन्यू पर क्लिक करें। आपके अकाउंट के लॉगिन होने के बाद पॉसपोर्ट के लिए एप्लाई कर सकते हैं। लॉगिन करने के बाद दिया गया फॉर्म भरें। फॉर्म पूरा भरने के बाद आगे लगी हुई रेडियो बटन पर क्लिक करें और अपॉइन्टमेंट सेड्यूल करें।
ऑनलाइन पेमेंट पर जाए और निर्धारित फीस जमा करें। इसके बाद स्क्रीन पर आपके शहर के पासपोर्ट सेवा केंद्रों की सूची दिखाई देगी। इसमें जल्दी मिलने के लिए वाली अपॉइन्टमेंट की तारीख व समय दिया गया होगा। इन्हीं में से किसी एक को सिलेक्ट करें और इमेज के कैरेक्टर अंकित करते हुए पे पर क्लिक करें और अपनी अपॉइन्टमेंट फिक्स करें।
इसके बाद यह आपको पेमेंट गेटवे पर ले जाएगा जहां पर आप दी गई राशि अपने कार्ड व नेट बैंकिंग के माध्यम से पे कर सकेंगे। अब आपको एक पेज दिखेगा जिसमें आपकी पासपोर्ट सेवा केंद्र में अपॉइन्टमेंट से संबंधित सभी जानकारी की डिटेल दी गई होगी।
इस पेज का प्रिंट ले लें। इसके बाद दिए गए समय में आपको पासपोर्ट सेवा केंद्र जाना होगा। अगर आपके पास पूरे कागजात होंगे तो पीएसके जाने के 2 घंटे बाद आप फ्री हो जाएंगे। उसके बाद पुलिस वेरीफिकेशन होने के बाद आप अपना पासपोर्ट प्राप्त कर सकते हैं।
जानें ऑनलाइन फॉर्म भरने के तरीके 

1. पासपोर्ट सेवा (Passport Seva) की वेबसाइट पर जाएं।

2. नए यूज़र वाले बॉक्स पर क्लिक करें। यह आपको रजिस्ट्रेशन पेज पर ले जाएगा।

3. अब Passport Seva की वेबसाइट जाएं। आप जिस शहर में रह रहे हैं उसका पासपोर्ट ऑफिस सेलेक्ट करें। यह भी सुनिश्चित करें कि आपने अपना नाम वैसे ही लिखा है जैसे कि आपके डॉक्यूमेंट पर मौजूद है। फॉर्म का बाकी हिस्सा बेहद ही आसान है। यह किसी और वेबसाइट पर साइन अप करने से अलग नहीं।

4. जब काम पूरा हो जाए तब Register पर क्लिक करें।

5. अब जब आपने अपना अकाउंट क्रिएट कर लिया है तो Passport Seva की वेबसाइट पर वापस जाएं।

6. हरे रंग वाले Login बटन पर क्लिक करें।

7. अपना ईमेल आईडी लिखें और Continue पर क्लिक करें।

8. अपना ईमेल, पासवर्ड और इमेज में बने कैरेक्टर्स को टाइप करें। इसके बाद Login पर क्लिक करें।

9. Apply for Fresh Passport/Reissue of Passport पर क्लिक करें।

10. आपके पास दो विकल्प हैं। आप फॉर्म को डाउनलोड करके उसे भरकर फिर वापस वेबसाइट पर अपलोड कर सकते हैं, या फिर इसे ऑनलाइन ही भरा जा सकता है। हमारा सुझाव होगा कि आप फॉर्म को ऑनलाइन ही भरें। ऐसा करके आप समय बचा पाएंगे।

अगर आप फॉर्म डाउनलोड करके भरना चाहते हैं तो आप Click here to download the soft copy of the form पर क्लिक करें। यह Alternative 1 पेज पर पहले सबहेडिंग में मौजूद रहता है।

11. अगर आप ऑनलाइन फॉर्म भरना चाहते हैं तो आप Click here to fill the application form online वाले ऑप्शन पर क्लिक करें। यह Alternative 2 पेज के अंदर मौजूद रहता है। हम अब भी आपको इस विकल्प को चुनने का सुझाव देंगे, क्योंकि यह पासपोर्ट के लिए अप्लाई करने का सबसे आसान तरीका है।

12. अगले पेज पर आपको नए पासपोर्ट या री-इश्यू, सामान्य या तत्काल, 38 पन्ने या 60 पन्ने के बीच चुनना होगा। अपनी सुविधा और जरूरत के हिसाब से विकल्प चुनें और इसके बाद Next पेज पर क्लिक करें।

13. आपको अगले पेज में निजी जानकारियां देनी होगीं। इस बात का ध्यान रहे कि आप जो जानकारी दे रहे हैं वो आपके पास मौजूद डॉक्यूमेंट से पूरी तरह से मेल खाती हों। अगर आपको कोई शंका है तो आप इस ऑफिसियल इंस्ट्रक्शन बुकलेट को जांच सकते हैं। फॉर्म भर लेने के बाद निचले हिस्से में दायीं तरफ बने Submit Application बटन पर क्लिक करें।

14. फॉर्म भर लेने के बाद एक बार फिर उस वेबपेज पर वापस जाएं जिसका जिक्र 9वें नंबर के स्टेप में किया गया है।

15. View Saved/Submitted Applications पर क्लिक करें।

16. आप उस एप्लिकेशन को देख पाएंगे जिसे थोड़ी देर पहले सब्मिट किया था। इसके बगल में बने रेडियो बटन पर क्लिक करें। इसके बाद Pay and Schedule Appointment पर क्लिक करें।

17.Online Payment को सेलेक्ट करें और Next पर क्लिक करें।

अब आपके शहर में मौजूद पासपोर्ट सेवा केंद्र की सूची स्क्रीन पर आएगी। इसमें एप्वाइंटमेंट के लिए सबसे नजदीक की तारीख और वक्त का भी जिक्र होगा।

18. PSK Location के बगल में बने ड्रॉप डाउन मेन्यू में से अपनी सुविधा अनुसार एक विकल्प का चुनाव कर लें।

19. इसके बाद इमेज में बने कैरेक्टर्स को टाइप करें। इसके बाद Next पर क्लिक करें।

20. Pay and Book Appointment पर क्लिक करें।

21. यह आपको पेमेंट गेटवे पेज पर ले जाएगा। जैसे ही आपका पेमेंट पूरा हो जाएगा, आप एक बार फिर Passport Seva की वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे।

22. अब आप एक पेज देख पाएंगे जिसपर Appointment Confirmation लिखा होगा। इस पेज पर Passport Seva Kendra (PSK) से मिले एप्वाइंटमेंट का पूरा डिटेल मौजूद होगा।

23. Print Application Receipt पर क्लिक करें। अगले पेज पर आप अपने एप्लिकेशन का डिटेल्ड व्यू देख पाएंगे। एक बार फिर Print Application Receipt पर क्लिक करें।

24. अगले पेज पर आप रिसिप्ट का प्रीव्यू देख पाएंगे। एक बार फिर Print Application Receipt पर क्लिक करें। ऐसा करने के बाद आप अपने एप्वाइंटमेंट कंफर्मेशन का प्रिंट आउट ले पाएंगे।

25. आपको पासपोर्ट सेवा केंद्र पर एंट्री के लिए इस रिसिप्ट के प्रिंट आउट की जरूरत पडे़गी।

अब आप निर्धारित समय पर पासपोर्ट सेवा केंद्र पर पहुंच जाएं। हम अपने अनुभव से बता रहे हैं कि अगर आपके पास सारे डाक्यूमेंट मौजूद हैं तो आपको दो घंटे से ज्यादा का वक्त नहीं लगना चाहिए। पुलिस वेरिफिकेशन पूरा होने के बाद ही आपको आपका पासपोर्ट मिलेगा। इस दौरान आप अपने एप्लिकेशन का स्टेटस यहां जांच सकते हैं।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

बलिया में बाबा रामदल सूरजदेव हॉस्पिटल का डिप्टी सीएम ने किया उद्घाटन, पढ़ें भाषण की मुख्य बातें !

Published

on

बलिया पहुचें प्रदेश के डिप्टी सीएम और स्वास्थ मंत्री ब्रजेश पाठक ने बाबा रामदल सूरजदेव हॉस्पिटल का उद्घाटन किया। इस मौके पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कई सारी बातें कहीं। रसड़ा क्षेत्र के पटना गांव में बुधवार को बाबा रामदल सूरजदेव हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित किया। मुख्य अतिथि डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक का गार्ड ऑफ ऑनर देकर सम्मान किया गया। इसके बाद उन्होंने विधिवत वैदिक मंत्रोच्चार के साथ सरस्वती पूजन कर और फीट काटकर कालेज का उद्घाटन किया। कालेज की ओर से 51 किग्रा के माला से माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। कालेज की ओर से शिवेंद्र बहादुर सिंह ने सभी अतिथियों व मौजूद लोगों के प्रति आभार जताया। संचालन सुभासपा प्रवक्ता सुनील सिंह ने किया।

यहां पढ़ें डिप्टी सीएम के भाषण की 10 मुख्य बातें 

1- हॉस्पिटल और रिसर्च सेंटर बनाने का उद्देश्य और सोच यही होनी चाहिए कि गरीब जनता की कैसे मदद की जाए। यह ग्रामीणांचल में लोगों की सेवा करने के साथ पुनीत कार्य भी होगा।

2- यहां आने को लेकर मौसम से जुड़ी तमाम विषम परिस्थिति आने के बावजूद आने का निर्णय किया।

3- बाबा रामदल सूरजदेव ग्रुप रसड़ा व आसपास के क्षेत्रों के बच्चों को पैरामेडिकल व स्नातक की पढ़ाई के लिए शिक्षा का मुख्य केंद्र है, इसके लिए संस्थान परिवार बधाई के पात्र हैं।

4- कोरोनाकाल में जिस तरह स्वास्थ्य महकमे ने काम किया, पूरे विश्व में भारत और खासकर यूपी उदाहरण बना।

5- गरीब परिवार को राशन देकर उनको समय से भोजन भी सुनिश्चित कराया गया। हमारी सरकार की सोच हमेशा से गरीब व जरूरतमंदों की सेवा रही है।

6- सीएचसी-पीएचसी में आने वाले प्रतिदिन के आंकड़े को देखा जाए तो 1.6 लाख से 1.80 हजार मरीज आते हैं। इसमें 10 से 12 हजार दुर्घटना का शिकार मरीज आते हैं।

7- प्रदेश की जनता से अपील की है कि ट्रैक्टर ट्राली पर यात्रा कत्तई न करें। आठ हजार मरीज गम्भीर रोग से ग्रसित ,आते हैं। पांच हजार ऑपरेशन रोजाना निःशुल्क हो रहा है।

8- सभी मरीजों को उच्च कोटि का इलाज निःशुल्क कराने की जिम्मेदारी हमारी है और उसका निर्वहन बखूबी सरकार रही है।

9- आज गुंडे माफिया या तो प्रदेश के बाहर हैं या जेल में हैं। एंटी रोमियो के जरिए मनचलों पर भी कार्रवाई की जा रही है। नतीजा हमारी बहन-बेटी आज सुरक्षित महसूस कर रही हैं।

10- मैं आपका भाई हूँ, बेटा हूँ, जब भी किसी मुसीबत में याद करेंगे, सहयोग के लिए ततपर रहूंगा।

Continue Reading

featured

Ballia- स्वच्छता सर्वे में रेवती और बैरिया ने किया अच्छा प्रदर्शन, देखें दूसरी नगर पंचायतों का हाल!

Published

on

बलिया । स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 का परिणाम आ चुका है। भारत सरकार द्वारा नागरिकों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिवर्ष सभी नगरीय निकायों के मध्य कराएं जाने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण प्रतिस्पर्धा कराई जाती है। अगर बलिया में नगर पंचायतों की बात करें तो स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 की अपनी रैंकिंग में सुधार करते हुए रेवती और बैरिया ने अच्छा प्रदर्शन किया है। नगर पंचायत रेवती को 25 से 50 हजार की जनसंख्या में राष्ट्रीय स्तर (नार्थ जोन) पर 199 निकायों में 32वाँ तथा राज्य स्तर पर 135 निकायों में 13वाँ स्थान प्राप्त हुआ है।

जबकि नगर पंचायत बैरिया को निकायों में 111वाँ एवं राज्य स्तर पर 66वाँ प्राप्त हुआ है। बैरिया नगर पंचायत 2020 के सर्वेक्षण में 421 वीं स्थान पर थी। लेकिन 2021 में इसे 117 वीं रैंक मिली है। बताते चलें कि 2019 में जब सर्वेक्षण हुआ था तब बैरिया 894 वीं रैंक पर थी। इस तरह देखा जाए तो बैरिया में तेजी से तस्वीर बदलते हुए पाई जा रही है। रैंकिंग के नतीजे बताते हैं कि नगर में पहले की अपेक्षा सफाई व्यवस्था बेहतर हुई है। कूड़ा निस्तारण की प्रगति में सुधार हुआ है।

वहीं नगर पालिका परिषद रसड़ा की बात करें तो जनसंख्या वाले दो सौ शहरों में रसड़ा नगरपालिका को 2021 में 154 वां स्थान हासिल हुआ है। ये रैंकिंग रसड़ा के खस्ताहाल की कहानी बयां कर रहा थी। लेकिन इस साल की रैंकिंग की तुलना में रसड़ा ने काफी सुधार किया है।  वहीं रसड़ा को 118वाँ स्थान प्राप्त हुआ है।

साथ ही 15 से 25 हजार की जनसंख्या में राष्ट्रीय स्तर (नार्थ जोन) पर 284 निकायों तथा राज्य स्तर पर 177 निकायों में जनपद बलिया के अन्य नगर पंचायतों क्रमश: बेल्थरा रोड को 90वाँ एवं 39वाँ, सहतवार को 109वाँ एवं 51वाँ, सिकंदरपुर को 119वाँ एवं 59वाँ, बांसडीह को 136वाँ एवं 74वाँ, मनियर को 224वाँ एवं 149वाँ तथा चितबड़ागांव को 240वाँ एवं 164वाँ स्थान प्राप्त हुआ है। वहीं नगर पालिका परिषद बलिया को 1 लाख से 10 लाख तक की जनसंख्या में राष्ट्रीय स्तर (नार्थ जोन) पर 382 निकायों में 200वाँ तथा राज्य स्तर पर 56 निकायों में 33वाँ स्थान प्राप्त हुआ है।

वहीं इस संबंध में नगर पंचायत रेवती के अधिशासी अधिकारी मृदुल कुमार सिंह ने खुशी जाहीर करते हुए बताया कि विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी नगर पंचायत रेवती द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर जनपद का मान बढ़ाया गया है। सिंह ने बताया कि ये सर्वेक्षण भारत सरकार द्वारा नियुक्त सर्वेक्षणकर्ता द्वारा निकाय में प्रवास कर साफ-सफाई व्यवस्था आदि का निरीक्षण तथा नागरिकों से फीड बैक लिया जाता है।

 

Continue Reading

बलिया स्पेशल

बलिया में विद्युत कर्मियों ने निकाली जागरूकता रैली, बिल जमा करने की अपील!

Published

on

बलिया: गांधी जयंती के अवसर पर उपभोक्ता जागरूकता अभियान के तहत विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता आरके जैन के नेतृत्व में जागरूकता रैली निकाली गई। विद्युत कर्मियों ने तमाम स्लोगन के साथ इसमें प्रतिभाग करते हुए लोगों से समय से बिल जमा करने और विद्युत चोरी रोकने में सहयोग की अपेक्षा की।

अधीक्षण अभियंता ने बताया कि जागरूकता रैली के माध्यम से लोगों से यह अपील की गई है कि अवैध कनेक्शन का प्रयोग नहीं करें और समय से बिजली बिल जमा करें, ताकि विद्युत अनुरक्षण कर बेहतर आपूर्ति सुनिश्चित कराई जा सके। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले में 60 करोड़ की बिजली खर्च हो रही है, जबकि 15 करोड़ के आसपास की ही वसूली है।

कहा कि अगर शत प्रतिशत लोग समय से बिल जमा करें तो बलिया में भी 24 घंटे बिजली दी जा सकती है। जागरूकता रैली में अधिशासी अभियंता एके अग्रवाल, आरपी सिंह, आरके सिंह, नगर एसडीओ ऋषिकेश यादव, कार्यालय अधीक्षक दिनेश सिंह के अलावा सभी विद्युत कर्मी थे।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!