Connect with us

पूर्वांचल

सहजनवां से दोहरीघाट तक नई रेल लाइन को हरी झंडी

Published

on

गोरखपुर के सहजनवां-दोहरीघाट के बीच नई रेल लाइन बिछाने का रास्ता साफ हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में 81 किलोमीटर लंबी इस परियोजना को मंजूरी दे दी गई है। परियोजना की अनुमानित लागत 1319.75 करोड़ रुपये है।इसे पूरा करने के लिए साल 2023-24 तक का लक्ष्य रखा गया है। इस नई रेल लाइन के बिछने से दक्षिणांचल में करीब 10 लाख से ज्यादा लोग सीधे रेल सेवा का फायदा उठा पाएंगे। साथ ही धर्मनगरी वाराणसी से गोरक्षनगरी तक आने की दूरी भी कम हो जाएगी। इसके अलावा छपरा से लखनऊ तक आने के लिए एक विकल्प मार्ग भी मिल जाएगा।

इस नई रेल लाइन को बिछाने के लिए पहले ही सर्वे हो चुका है। बता दें कि मार्च 2019 में इस परियोजना के शिलान्यास का कार्यक्रम भी तय हो गया था लेकिन ऐन वक्त पर स्थगित कर दिया गया। प्रस्ताव के मुताबिक सहजनवां से दोहरीघाट के बीच चार स्टेशन बनाए जाएंगे। 

वाराणसी के लिए 60 किलोमीटर कम दूरी तय करनी होगी

सहजनवां से दोहरीघाट तक नई रेल लाइन बिछने से वाराणसी से गोरखपुर आने के लिए करीब 60 किलोमीटर कम दूरी तय करनी होगी। दोहरीघाट से इंदारा के बीच रेल लाइन के दोहरीकरण को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है। परियोजना पूरी होने के बाद वाराणसी, औड़िहार, मऊ, इंदारा, दोहरीघाट होकर सहजनवां के रास्ते गोरखपुर ट्रेनें चलने लगेंगी। इससे करीब एक घंटे का समय भी बचेगा।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उत्तर प्रदेश

प्रदेश के परिषदीय विद्यालयों में 30 जून तक होगी आनलाइन पढ़ाई…..

Published

on

बलिया डेस्क. प्रदेश के 1.58 लाख से अधिक परिषदीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में 30 जून तक ऑनलाइन पढ़ाई होगी। 21 मई से शुरू हो रही गर्मी की छुट्टियों से एक दिन पहले सचिव बेसिक शिक्षा परिषद विजय शंकर मिश्र ने बुधवार को सभी बीएसए को पत्र जारी कर 30 जून तक ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करने को कहा है। हालांकि माध्यमिक स्कूलों में कोई आदेश जारी नहीं होने के कारण गुरुवार से गर्मी की छुट्टी शुरू हो जाएगी।
सचिव बेसिक शिक्षा परिषद ने पत्र में लिखा है कि कोरोना के कारण घोषित लॉकडाउन में स्कूल बंद चल रहे हैं। इस दौरान पठन-पाठन में प्रतिपूर्ति के उद्देश्य से दूरदर्शन, रेडियो, दीक्षा पोर्टल एवं व्हाट्सएप कक्षाओं के लिए नवाचारी कार्यक्रम के रूप में ऑनलाइन शिक्षण व्यवस्था संचालित की गई जिसके उत्साहवर्धक परिणाम प्राप्त हुए है। लिहाजा ऑनलाइन कक्षाएं 30 जून तक यथावत संचालित की जाएं। इसके लिए स्कूलों के अध्यापकों, प्रधानाध्यापकों, एकेडमिक रिसोर्स पर्सन और स्टेट रिसोर्स ग्रुप की सहायता लें।
वहीं दूसरी ओर शिक्षा निदेशक माध्यमिक के 23 दिसंबर 2019 के आदेश एवं अवकाश तालिका के अनुसार 21 मई से सभी माध्यमिक विद्यालयों में ग्रीष्मावकाश प्रारंभ हो रहा है। माध्यमिक शिक्षक संघ (ठकुराई गुट) के प्रदेश महामंत्री लालमणि द्विवेदी का कहना है कि छुट्टी के संबंध में जब तक कोई नया निर्देश नहीं आता तब तक शिक्षा निदेशक माध्यमिक का यह 23 दिसंबर 2019 का आदेश लागू है। हालांकि इस संबंध में शिक्षा विभाग और शिक्षण संस्थाओं की ओर से शिक्षकों और विद्यार्थियों को कोई सूचना प्रसारित नहीं की गई।
जिसके कारण विद्यालयों में वर्चुअल तथा ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन की स्थिति साफ नहीं है। लालमणि द्विवेदी ने कहा कि नियमानुसार 21 मई से जहां मूल्यांकन कार्य हो रहा है वहां के शिक्षक मूल्यांकन कार्य के दिनों के सापेक्ष अर्जित अवकाश के भी हकदार होंगे।

Continue Reading

पूर्वांचल

बलिया के पड़ोसी जनपद में किशोरी के साथ गैंगरेप, वीडियो हुआ वायरल…..

Published

on

गाजीपुर. गहमर थाना क्षेत्र के एक गांव में किशोरी के साथ गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया है. गैंगरेप में संलिप्त पांच युवकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने बुधवार को घटना स्थल का निरीक्षण किया. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है. मंगलवार की रात किशोरी अपने घर से गायब हो गई. परिजनों के काफी तलाश करने के बाद भी उसका कोई अता-पता नहीं चला. ग्रामीणों द्वारा सूचना मिली कि एक खाली मकान में किशोरी के साथ गैंगरेप हुआ है. इससे किशोरी के परिजनों में हड़कंप मच गया. ग्रामीणों ने इसकी सूचना 112 को भी दी. किशोरी का वीडियो क्लिप भी वायरल हुआ है. वीडियो क्लिप में किशोरी बता रही है कि उसे अगवा कर पांच युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया. आसपास के लोगों को खाली बंद मकान से किशोरी की चीखने की आवाज मिली तो तीन आरोपी छत के रास्ते कूद कर फरार हो गए. जबकि दो आरोपियों को ग्रामीणों ने धर दबोचा. मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों व किशोरी को थाने ले गई. उनसे पूछताछ करने के बाद फरार तीन आरोपियों के ठिकानों पर दबिश देकर पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में ले लिया. आरोपियों में शिवांशु पांडेय, प्रकाश पांडेय, सोनू यादव,सत्येंद्र चौहान, सोनू राय शामिल हैं. पुलिस अधीक्षक डाक्टर ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि किशोरी के साथ हुई दुष्कर्म की घटना की सूचना 112 नंबर पर मिली थी. उसके आधार पर घटना स्थल का निरीक्षण किया गया. पीड़िता का बयान, परिजनों का बयान लिया गया. पीड़िता के परिजनों से तहरीर लेकर संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया है. उन पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

लॉकडाउन: बलिया में मैखाना बंद, ताड़ीखाना हुए गुलजार, वाह रे योगी सरकार…..

Published

on

– फेफना के नसीराबाद गांव में खुलेआम बिक रही ताड़ी
बलिया. लॉक डाउन के बीच शराब के शौकिन अब ताड़ी से काम चलाने लगे हैं. जिससे एक तरफ जहां मैखाना बंद चल रहा है वहीं दूसरी ओर ताड़ीखाना गुलजार हो रहा है. फेफना थाना क्षत्र के नसीराबाद गांव के बगीचे में इन दिनों धड़ल्ले से ताड़ी उतारने का काम जहां जारी है, वहीं दोपहर और शाम के वक्त महफिल भी लग रही है, लोग चना फांकने के साथ-साथ लीटर के लीटर ताड़ी पी जा रहे हैं, जिससे एक तरफ जहां लॉक डाउन का उल्लंघन हो रहा है, वहीं सोशल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है. जबकि स्थानीय पुलिस भी सवालों के घेरे में है.
वैसे तो जनपद में ताड़ी के शौखिनों की कमी नहीं है, आम समय भी अप्रैल से जून तक जनपद के विभिन्न जगहों पर ताड़ीखाना सजता है, पासी ताड़ी उतारते हैं और लोग चखना लेकर शुरू भी हो जाते हैं. लेकिन सवाल फिलहाल लॉक डाउन का है. सप्ताह में सातों दिन चलने वाले शराबखानों पर जहां ताला लग गया है, वहीं ताड़ीखाना का इस तरह गुलजार होना न सिर्फ पुलिस भी मिलीभग को दर्शाता है, बल्कि जिला प्रशासन की कार्यशैली को भी सवालों के घेरे में लाता है. कुछ भी हो इन दिनों शहर से महज पांच किमी की दूरी पर नसीराबाद गांव में  इन दिनों जहां ताड़ी उतारी जा रही है, वहीं बगीच के बीच विशालकाय पेड़ की आड़ में झुग्गी डालकर महफिल भी सजाई जा रही है.
इनसेट….
ताड़ी के मामले में हमेशा सुर्खी में रहता है नसीराबाद गांव का बगीचा
वैसे आमदिनों की बात करें तो नसीराबाद का ताड़ीखाना जनपद में मशहूर है. यहां शौकिन लोग दूर-दूर से आते हैं. अप्रैल से जून तक यहां लोग बगीचे में बैठकर महफिल सजाते हैं फिर दो-तीन घंटे बाद मजे से ताड़ी पीकर नशे में धूत होकर घर जाते हैं. चूंकि बगीचे से सटे ही मलकपुरा, पांडेयपुरा गांव है, लिहाजा इस गांव में खासकर महिलाओं को कई बार छींटाकशी का शिकार होना पड़ता है. पियक्कड़ नशे में धूत कर इन गांवों में गालीगलौज भी करते हैं. जिससे ग्रामीवासी त्रस्त है और पूर्व में कई बार ताड़ीखाने के खिलाफ आवाज भी बुलंद किए, लेकिन नतीजा सिफर रहा है. जब विवाद होता है पुलिस आकर खानापूर्ति कर नतीजन यहां हर साल ताड़ीखाना लगता है और
इनसेट….
लॉक डाउन को चुनौती देकर इन-इन जगहों पर खूब मिल रही ताड़ी
नसीराबाद गांव को आप ताड़ी का हब कह सकते हैं, इसके अलावा शहर कोतवाली क्षेत्र के बहेरी गांव में रेलवे लाइन के उसपार, उमरगंज, रामपुर महावल, चंद्रशेखरनगर कालोनी के पीछे, परमांदापुर, जेपी नगर, फेफना थाना के मुलायम नगर, सागरपाली, मिड्ढा, अगरसंडा सुखपुरा थाना क्षेत्र के देवकली में भी खूब ताड़ी इन दिनों उताड़ी जा रही है, यहां ताड़ के पेड़ों के आसपास ही बेचने वाला खड़ा रह रहा है, जैसे ही पासी ताड़ी उतार रहा है लोग बोतलों में भरकर ले जा रहे हैं.
इनसेट….
संबंधित थानाध्यक्षें पर गिरेगी गाज: एसपी
लॉक डाउन का उल्लंघन कर यदि कहीं ताड़ी बेची जा रही है तो संबंधित थानाध्यक्ष इसके लिए जिम्मेदार है. ताड़ी बेचने वाले से लेकर पीने वाले तक को बख्शा नहीं जाएगा. थानाध्यक्षों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

Continue Reading

Trending