प्रयागराज में स्वामी करपात्री जी की श्रद्धांजलि सभा का आयोजन, स्वामी अभिषेक,जस्टिस मित्तल और रोहित सिंह हुए शामिल।

0

प्रयागराज माघमेला क्षेत्र अंतर्गत अखिल भारतीय धर्म संघ के पंडाल में धर्मसम्राट स्वामी करपात्री जी महाराज की स्मृति में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।श्रद्धांजलि सभा का शुभारंभ स्वामी सर्वेश्वरानंद सरस्वती,स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी,इलाहाबाद हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति जस्टिस पंकज मित्तल,उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा परिषद के अध्यक्ष डा. जीसी त्रिपाठी,उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा आयोग के सदस्य डा. आरएन त्रिपाठी एवं युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित

कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर एवं स्वामी जी के चित्र पर पुष्पांजलि कर किया।
श्रद्धांजलि सभा का उद्घाटन करते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति जस्टिस पंकज मित्तल ने कहा की स्वामी करपात्री जी महान संत थे उनके दिखाए हुए रास्ते पर चलने का संकल्प सबों को लेना चाहिए।जस्टिस मित्तल ने कहा की धर्मसम्राट करपात्री जी को हृदय से नमन करता हूँ।
मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा परिषद के अध्यक्ष डा. जीसी त्रिपाठी ने कहा की करपात्री

जी रामराज्य की स्थापना करना चाहते थे।वो सच्चे सनातनी थे उन्होंने जीवन भर धर्म के रास्ते पर चलकर समाज निर्माण का प्रयास किया।स्वामी करपात्री जी अब कोई दूसरा नहीं हो सकता है।डा. त्रिपाठी ने कहा की करपात्री जी भारत के सच्चे सपूत थे। मुख्य वक्ता उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा आयोग के सदस्य डा. आरएन त्रिपाठी ने कहा की करपात्री जी का जीवन जीने का रास्ता प्रेषित करता है।

अध्यक्षता करते हुए स्वामी सर्वेश्वरानंद सरस्वती ने कहा की करपात्री जी सनातन धर्म के सूर्य थे।स्वामी करपात्री जी के बारे में बोलना बहुत कठिन है परंतु उनकी शिक्षा को आत्मसात करने से देश की रक्षा की जा सकती है।स्वामी सर्वेश्वरानंद ने कहा की नई पीढ़ी को स्वामी जी से सीखना चाहिए। सभा के संयोजक स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा की करपात्री जी ने अन्याय के ख़िलाफ़ संघर्ष किया था हमभी कर रहे हैं।

स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा की धर्म का सदुपयोग देश निर्माण में करना चाहिए ना की वोट के लिए।स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने क़हा की संतों को राजनीति को अनुशासित करने हेतु आगे आना चाहिए।स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा की देश की अखंडता हेतु युवाओं को आगे आना चाहिए। सभा का संचालन करते हुए युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने कहा की भारत सरकार को राष्ट्रीय स्तर पर गौ रक्षा क़ानून बनाना चाहिए ना की मेघालय में कुछ,गोवा में कुछ और उत्तर प्रदेश में कुछ।

श्री सिंह ने स्वामी करपात्री जी के नाम पर डाक टिकट जारी करने की माँग की साथ ही वाराणसी से नई दिल्ली तक धर्मसम्राट एक्सप्रेस चलाने की भी माँग किया।श्री सिंह ने कहा की धर्म के नाम पर राजनीति नहीं होना चाहिए।श्री सिंह ने देश के एकता को बरकरार रखने के लिए आगे आने की अपील की।सभा में आचार्य पवन त्रिपाठी,मुकेश पांडेय,सत्यम अवस्थी,संदीप ब्रह्मचारी,डा. विकास,हिमांशु राय,भोलेनाथ शुक्ल,अमित दिवेदी,अमित राय,नीरज राय आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here