Connect with us

Uncategorized

क़ुरान का सबसे बड़ा र’हस्य, वैज्ञानि’क भी सुन कर हैरा’न…

Published

on

मेरे प्यारे भाइयों और बहनों कुरान शरीफ दुनिया की एक ऐसी धार्मिक किताब है जिसमें साइंस के बारे में सबसे सटीक बातें लिखी हुई है। कुरान में लगभग 6000 से भी ज्यादा आयते हैं जिनमें से 1000 आयतें तो सिर्फ साइंस से रिलेटेड है।

दोस्तों एक लंबे समय तक यूरोप के वैज्ञानिकों का मानना था कि पृथ्वी सृष्टि के केंद्र में है और सूरज चांद एवं अन्य सभी ग्रह पृथ्वी के चारों तरफ परिक्रमा करते हैं लेकिन 1512 में यह बात पता चली कि पृथ्वी नहीं बल्कि सूरज केंद्र में है और सभी ग्रह उसके चारों तरफ परिक्रमा करते हैं इसके अलावा 1980 के दशक तक पूरी दुनिया यह मानती रही कि सूरज हिलता डूलता नहीं यानी सूरज ना तो किसी अन्य ग्रह के चक्कर लगाता है और ना ही वह अपनी धुरी पर घूमता लेकिन प्रयास करते करते आखिर साइंस ने यह पता लगा ही लिया कि सूरज भी अन्य ग्रहों की तरह अपनी ही धुरी पर घूमता है और सूरज को अपनी धुरी पर एक चक्कर लगाने में लगभग 25 दिन लग जाते हैं.

यह तो रही साइंस की बात जिसे इतने साल लगे ये बात पता करने में लेकिन 1400 साल पहले कुरान में इस बारे में क्या लिख दिया गया था आइए आपको बताते हैं ” और वही अल्लाह ही है जिसने रात और दिन बनाया सूरज और चांद को बनाया सब एक-एक फ़लक में तैर रहे हैं “इस बात पर ध्यान दीजिए कि सब एक-एक फलक में तैर रहे हैं। कुरान की आयत में यसबहून शब्द का इस्तेमाल हुआ है जो “सबहा ” शब्द से बना हुआ है जिसका मतलब होता है कोई ऐसी वस्तु जो अपने ही स्थान पर धीरे-धीरे घूम रही हो और कुरान में सूरज के साथ यसबहून शब्द का आना यह प्रमाणित करता है कि सूरज भी धीरे-धीरे अपने स्थान पर घूमता है। अब आप सोचिए कि आखिर इतने सालों पहले सूरज के बारे में इतनी सही बात कौन बता सकता है।

दोस्तों जैसे जैसे साइंस तरक्की कर रहा है वैसे वैसे हमें हर रोज़ एक नई चीज पता चल रही है जैसे कि अब हमें पता चल रहा है कि सूरज का प्रकाश एक रासायनिक प्रक्रिया है यह रासायनिक प्रक्रिया सूरज के धरातल पर करोड़ों सालों से जारी है अब हमें पता चला है कि एक वक्त ऐसा आएगा जब यह रासायनिक प्रक्रिया बंद हो जाएगी और सूरज पूरी तरह से बुझ जाएगा जिसके कारण धरती पर जीवन समाप्त हो जाएगा ।

दोस्तों आइए अब कुरान में देखते हैं कि सूरज के बारे में क्या लिखा है “और सूरज वह अपने ठिकाने की तरफ चला जा रहा है”। इस आयत में अरबी शब्द “मुस्तकिर” का इस्तेमाल हुआ है जिसका अर्थ होता है एक निश्चित समय या एक निश्चित जगह और वैज्ञानिक भी यही बात कह रहे हैं कि सूरज एक निश्चित समय तक ही है। 1 दिन ऐसा आएगा जब वह खत्म हो जाएगा । दोस्तों अब आप ही सोचिए कि 1400 साल पहले ऐसे कौन से वैज्ञानिक थे जिनको सूरज के बारे में इतनी जानकारी थी यकीनन वो कोई वैज्ञानिक या इंसान नहीं बल्कि अल्लाह है जिसने 1400 साल पहले कुरान शरीफ के जरिए बहुत सारी साइंस की बातें हम तक पहुंचा दी थी ।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

Uncategorized

बलियाः मुर्दा बताकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा, अगले दिन जिंदा निकला शख्स, पढ़िए पूरा मामला

Published

on

बलिया से एक हैरान वाला मामला सामने आया है। अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने जिस शख्स को मृत बताकर उसका पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा, वह अगले दिन जिंदा निकला। चौंकिए मत, यह लापरवाही का नमूना बलिया पुलिस का है।

जहां बैरिया थाना क्षेत्र के देवकी छपरा गांव के सामने भागड़ नाला में एक अधेड़ का शव पानी में उतराया मिला। पुलिस ने मृतक की पहचान मनसा राम उर्फ जयपाल के रुप में की और उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक को मध्यप्रदेश का रहने वाला बताया।

लेकिन पुलिस की लापरवाही की पोल उस समय खुली जब समाचार पत्रों में खुद की मौत की खबर पढ़कर वह शख्स थाने पहुंचा और अपने जीवित होने का प्रमाण दिया। मनसा राम ने जब अखबार में खुद के मरने की खबर पढ़ी तो वह घबरहा गया और सोमवार को स्वर्णकार समाज के लोगों के साथ थाने पहुंच कर कहने लगा कि ‘साहब मैं जिंदा हूं।’

जिसके बाद जांच शुरु हुई तो मृतक की पहचान बिंद टोला के सुभाष बिंद उम्र 42 साल के रुप में हुई। मृतक के 15 वर्षीय पुत्र गुड्डू बिंद, पत्नी विजयंती ने बताया कि सुभाष तीन-चार दिनों से घर से लापता था। वहीं मामले को लेकर एसएचओ बैरिया शिवशंकर सिंह ने बताया कि रविवार मौके पर पहुंचे उपनिरीक्षक को लोगों ने मृतक का नाम मनसा राम बता दिया था। इसके चलते ऐसा हो गया। सच्चाई पता चलने पर उसका पोस्टमार्टम रुकवा दिया गया था। परिजन पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गए हैं। उनकी मौजूदगी में पोस्टमार्टम होगा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Continue Reading

Uncategorized

Ballia- खबर का असर, तमंचे पर डिस्को करने वाला युवक गिरफ्तार

Published

on

बेलथरा रोड। अवैध तमंचा लहराने का वीडियो वायरल होने के मामले में बलिया खबर की खबर का असर हुआ है। जहां अब उभाव थाना क्षेत्र की पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। आकाश यादव और अरविंद गोंड को तुर्तीपार रेगुलेटर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने अवैध तमंचा और कारतूस भी बरामद कर लिया गया है।

जिसके बाद अब आगे की कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि उभाव थाना क्षेत्र के अंतर्गत तुर्तीपार पर गांव में एक ब्रह्मभोज कार्यक्रम में वीडियो में हाथ में तमंचा लेकर डांस करते युवक का वीडियो सामने आया था। और इस वीडियो को बलिया खबर ने सोशल मीडिया के जरिये शेयर किया था। जिसके वायरल होने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की है।

जिसमें उभांव पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आकाश यादव और अरविंद गोंड को तुर्तीपार रेगुलेटर से रात्रि को गिरफ्तार कर लिया है। तमंचा और कारतूस भी बरामद कर लिया गया है। अब पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

Continue Reading

Uncategorized

बलिया- दबंगों से परेशान नौजवान ने गंगा में लगाई झलांग, पुलिस की मुस्तैदी से बची जान !

Published

on

बलिया। जनेश्वर मिश्र सेतु से कूदकर एक युवक ने आत्महत्या करने की कोशिश की। गनीगत रही कि पीकेट पर तैनात दुबहर थाने की पुलिस ने युवक को देख लिया और तत्काल नौकायान करते मल्लाहओ के सहयोग से उसे बाहर निकाल लिया। वहीं युवक का कहना है कि वह एक जन्मदिन में पार्टी में गया। जहां उसके साथ मारपीट की गई। जिससे आहत होकर उसने आत्महत्या करने का फैसला लिया। मामले में पुलिस ने परिजनों को युवक की जानकारी दी और युवक को उन्हें सौंप। फिलहाल पुलिस को मामले में कोई शिकायत नहीं मिली है।

जानकारी के मुताबिक शहर के कृष्णा नगर जापलीन गंज थाना कोतवाली निवासी रोहित कुमार पाण्डेय (18 साल) पुत्र परमात्मा नंद पांडे शुक्रवार की शाम लगभग 5 बजे जनेश्वर मिश्र सेतु पर पहुंचा और गंगा नदी में छलांग लगा दी। उसे छलांग लगाता देख पास ही पिकेट पर तैनात दुबहर थाने के सिपाही ने देख लिया। शोर मचाते हुए नदी में नौका पर सवार मल्लाहो को घटना की जानकारी दी। मल्लाहों ने तुरन्त युवक को नदी से बाहर निकालने में जुट गए । तत्काल ही रोहित को बाहर निकाला गया। तब तक दुबहर थाने के थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए।

घटना के कारण के बारे में रोहित ने दुबहर थानाध्यक्ष सिंह को बताया कि वह एक युवक के घर जन्मदिन की पार्टी में गया था। जहां अकारण उसकी बेल्ट से पिटाई की गई। इससे दुःखी होकर उसने आत्महत्या करने का फैसला लिया और उसने गंगा नदी में छलांग लगा दी। पुलिस ने युवक के परिजनों को सूचना देकर बुलाया और युवक को सौंप दिया। इस सम्बंध में पुलिस को कोई तहरीर नहीं मिली है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!