Connect with us

उत्तर प्रदेश

यूपी शिक्षक भर्ती: 27 मई को होगी परीक्षा, शासन ने आदेश जारी किया

Published

on

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा 27 मई को होगी। इस संबंध में सोमवार को शासनादेश जारी हो गया। परीक्षा के लिए दोबारा 14 से 15 मई की शाम छह बजे तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया जा सकेगा जिसमें दो मई को संशोधित टीईटी-2017 के परिणाम में सफल 4446 अभ्यर्थियों और आवेदन से वंचित अभ्यर्थियों को ही मौका मिलेगा।

इसका मतलब जो लोग पहले आवेदन कर चुके हैं उन्हें आवेदन नहीं करना है। आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 16 मई और भरे हुए आवेदन जमा करने की आखिरी तारीख 17 मई रखी गई है। अभ्यर्थियों द्वारा ऑनलाइन आवेदन पत्र में की गई गलतियों को सुधारने के लिए 21 मई को सुबह 11 से शाम छह बजे तक का मौका मिलेगा। 24 मई को प्रवेश पत्र वेबसाइट पर अपलोड कर दिए जाएंगे।

मंडल मुख्यालयों में परीक्षा 27 मई को सुबह 10 से एक बजे तक होगी। पांच जून को उत्तरमाला वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी और अभ्यर्थी साक्ष्य के साथ नौ जून की शाम छह बजे तक ऑनलाइन आपत्ति कर सकेंगे। 15 जून तक आपत्तियों का निस्तारण करने के बाद 18 जून को संशोधित उत्तरमाला वेबसाइट पर अपलोड करेंगे और परिणाम 30 जुलाई तक घोषित होगा। रिजल्ट घोषित होने के एक महीने के अंदर जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थानों को प्रमाणपत्र भेजे जाएंगे।

पहली बार 1.21 लाख अभ्यर्थियों ने किया था आवेदन

इलाहाबाद। 68500 शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए एक बार आवेदन लिऐ जा चुके हैं। पूर्व में 12 मार्च को परीक्षा होनी थी लेकिन जिसके लिए पांच फरवरी तक पंजीकरण हुए थे। लेकिन टीईटी के प्रश्नों को लेकर विवाद होने के बाद परीक्षा टालनी पड़ी थी। पहली बार परीक्षा के लिए 124938 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। जिनमें से 4092 के ऑनलाइन आवेदन विभिन्न कारणों से निरस्त कर दिए गए थे। यानि 120846 अभ्यर्थी ही परीक्षा में शामिल होने के योग्य थे। दोबारा वेबसाइट खुलने के बाद टीईटी के संशोधित रिजल्ट में सफल कम से कम 4446 अभ्यर्थियों की संख्या में इजाफा होना तय है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

featured

बलिया के मुफ़्त स्वास्थ्य कैंप में उमड़ा जनसैलाब, ‘दयाल फाउंडेशन’ को लोगों ने बताया मसीहा!

Published

on

बलिया के बांसडीह (Bansdih) में शनिवार को राजेश सिंह दयाल फाउंडेशन (Rajesh Singh Dayal Foundation) की ओर से दो दिवसीय मेडिकल कैंप का आयोजन किया गया। मेडिकल कैंप के पहले दिन ही रिकार्ड तोड़ भीड़ उमड़ पड़ी। बांसडीह इन्टर कालेज  (Bansdih Inter College) में लगे कैंप में  मरीजों को देखने के लिए लखनऊ (Lucknow) से आयी चिकित्सकों की टीम द्वारा नि:शुल्क दवाइयां भी दी गयी। पहले दिन यहाँ तकरीबन 3500 लोगों का मुफ़्त इलाज किया गया।

Rajesh Dayal Foundation

स्वास्थ्य शिविर (Medical Camp) में पहुंचे मरीजों को कोई परेशानी न हो इसके लिए एडमिशन कांउटर,चिकित्सक कक्ष,जांच कक्ष से लेकर दवा वितरण कक्ष तक पर वालेंटियर तैनात थे। जो मरीजों का हर सम्भव सहायता के लिए तत्पर थे।शिविर के आयोजक तथा समाजसेवी राजेश सिंह दयाल स्वयं बराबर चक्रमण करते हुए अपनी नज़र रखे हुए थे। वे स्वयं भी मरीजों की सहायता कर रहे थे।

शिविर में ईसीजी (EGC),ब्लड टेस्ट (Blood Test) आदि की भी व्यवस्था थी। चिकित्सकों के परामर्श पर मरीजों का न केवल विभिन्न टेस्ट किया गया बल्कि नि:शुल्क दवा ( Free Medicine)भी वितरित किया गया।

मेडिकल कैंप (Medical Camp) में इलाज कराने पहुंचे मरीजों‌ ने की सराहना

मेडिकल कैंप  में इलाज कराने पहुंचे पुष्पा देवी, मोहम्मद शब्बीर,कुमारी रूबी,कुमारी जानकी,राधिका देवी,रमेश राम आदि ने कहा कि

“स्वास्थ्य शिविर से क्षेत्रवासियों को लाभ मिल रहा है। यहां जो सुविधा उपलब्ध है इससे पहले कभी नहीं हुई । चिकित्सकों का उचित परामर्श,टेस्ट तथा नि:शुल्क दवाएं मिल रही है। ऐसा शिविर अगर क्षेत्र में हमेशा लगता रहे तो निश्चित ही लोगों की स्वास्थ्य समस्याओं से निजात मिलने में सहायक होगा। यह कार्य बेहद सराहनीय है और इस तरह के कार्य हमेशा होना चाहिए। यह इलाका पिछड़ा है और इस शिविर से यहां के लोगों को काफी लोगों को इससे फ़ायदा मिल रहा है। दयाल फाउंडेशन यहाँ के लोगों के लिए एक तरह से मसीहा का काम कर रहा है”

स्वास्थ्य शिविर के आयोजक समाजसेवी राजेश सिंह दयाल (Rajesh Singh Dayal)  ने कहा कि दूर दराज के क्षेत्रों में आज भी स्वास्थ्य की जरूरत है।आज भी स्वास्थ्य लोगों के लिए समस्या बनी हुई है। ऐसे लोगों को स्वास्थ्य की सुविधा हो जाए इसके लिए हम लोग काम कर रहे हैं। कहा कि इस प्रकार का स्वास्थ्य शिविर हमेशा जारी रहेगा।कहा कि लगातार काम करना है बच्चों की शिक्षा पर,कुपोषण पर कार्य करना है।

उन्होंने कहा कि अभी बहुत काम बाकी है। राजेश सिंह (Rajesh Singh) ने कहा कि अगर यहाँ डॉक्टर मरीजों को चिकित्सक रेफर करते हैं तो उनका इलाज लखनऊ ले जा कर कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 2014 से यह कार्य लगातार जारी है।

 

Continue Reading

featured

भाजपा नेता राजेश सिंह दयाल ने परेशान हाल बुजर्ग महिला का कराया इलाज, जीता सबका दिल !

Published

on

सलेमपुर/ बलिया :  सलमेपुर लोकसभा के मशहूर समाजसेवी राजेश सिंह दयाल के एक काम ने लोगों का दिल जीत लिया। यूं तो राजेश सिंह लगातार अपने कामों सामाजिक कामों की वजह से चर्चा में रहते हैं। लेकिन इस बार जो हुआ उसकी हर जगह सराहना हो रही है।

बता दें कि सलेमपुर के रहने वाले अरुण चौहान की मां काफी बीमार थीं। उन्हें किडनी और लिवर में कुछ समस्या थी। वे अपनी मां को लेकर लखनऊ पीजीआई पहुंचे, लेकिन वहां हॉस्पिटल स्टाफ छुट्टी पर होने के चलते उनकी मां का इलाज नहीं हो पाया।

इसके बाद परेशान अरुण ने राजेश सिंह को फोन दिया। राजेश सिंह दयाल ने तत्परता दिखाते हुए फौरन महिला को पीजीआई लखनऊ में भर्ती करवाया और उनका इलाज करवाया। राजेश सिंह पिंडी में लगे मुफ्त स्वास्थ्य केंद्र में अरुण चौहान से मिले थे। इसी दौरान उन्होंने उनकी मां का इलाज पीजीआई में करवाने का वादा किया था। राजेश सिंह ने जो वादा किया, उसे निभाया भी और महिला का इलाज करवाया।

गौरतलब है कि सलेमपुर लोक सभा में स्वास्थ व्यवस्था बेहद लचर है। जिसको देखते हुए राजेश सिंह की संस्था दयाल फाउंडेशन लागतार इस इलाके में स्वास्थ कैंप आयोजित कर रही है। इस संस्था से अबतक 1 लाख लोग फायदा उठा चुके हैं। ये कैंप सभी के लिए एकदम फ्री लगाया जाता है। अबतक ये कैंप बलिया के बेलथरा रोड, सिकदंरपुर , रेवती, वहीं देवरिया के भाटपार , पिंडी , सलेमपुर में आयोजीत हो चुका है। दयाल फाउंडेशन की तरफ से बताया गया है कि आगामी नवम्बर माह में बांसडीह , नगरा समेत कई इलाकों में कैंप आयोजित किया जाएगा।

Continue Reading

featured

राजेश सिंह दयाल फाउंडेशन के स्वास्थ शिविर में उमड़ी भीड़, 4500 मरीज़ों का हुआ मुफ़्त इलाज

Published

on

देवरिया में राजेश सिंह दयाल फाउंडेशन के चेयरमैन राजेश सिंह दयाल द्वारा देवरिया जिले के भाटपार रानी क्षेत्र में सेंट जोसेफ स्कूल में लगाये गये दो दिवसीय मुफ़्त स्वास्थ शिविर का आज समापन हुआ जिसमें लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बता दें कि 4500 से अधिक मरीज़ों को मुफ़्त उपचार एवं औषधि का यहाँ लाभ प्राप्त हुआ। पिछले कई महीने से अलग अलग विधानसभाओं में लगाएं जा रहे कैंप में लागतार भीड़ उमड़ रही है।

रविवार को नवरात्रि का पहला दिन होने के बावजूद प्रातः 7 बजे से ही मरीज़ों की लंबी क़तारें पंजीकरण काउंटर पे लगी हुई थी। छेत्र के हर वर्ग – वर्ण के लोग इस शिविर में सुविधा प्राप्त करते हुए दिखे । प्रेस से बातचीत के दौरान श्री राजेश सिंह दयाल ने बताया की इस कैम्प में 2500 से अधिक लोगों का ब्लड टेस्ट एवं रिपोर्ट उसी समय उपलब्ध कराई गई । छेत्र में डेंगू एवं टाइफाइड के फैलाव के बीच इस कैम्प ने लोगों को काफ़ी राहत दी।

उन्होंने बताया कि बहुत से मरीज़ों को एम्बुलेंस सुविधा मुहैया कराई गई जिनमे से बुजुर्ग महिला की हालत गंभीर थी, स्थिति को देखते हुए कुछ ही मिनटों में डॉ देबब्रत मिश्रा सीनियर फिजिशियन ने उपचार करते हुए मरीज़ को दवा मुहैया कराई।  दिन ख़त्म होते होते सभी 4500 मरीज़ों की जाँच, उपचार एवं औषधि उपलब्ध करा दी गई ।

श्री राजेश सिंह दयाल ने जानकारी दी की 16 अक्तूबर को शहीद कैप्टन डॉ. अंशुमान सिंह की स्मृति में बरडीहा दलपत, ज़िला देवरिया में मुफ़्त स्वास्थ कैम्प लगाया जाएगा एवं उसके पश्चात् 4 एवं 5 नवंबर को बाँसडीह बलिया में इस शिविर का आयोजन होगा ।

स्वास्थ शिविर पर रिपोर्ट का पूरा वीडियो यहाँ देखें : 

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!