Connect with us

उत्तर प्रदेश

पंचायत चुनाव- आरक्षण सूची के इंतज़ार के बीच चुनाव आयाेग का आया ये नया आदेश !

Published

on

लखनऊ डेस्क : आरक्षण सूची के इंतज़ार के बीच चुनाव आयोग ने कई अहम आदेश जारी किये हैं। राज्य निर्वाचन आयोग उत्तर प्रदेश पंचायत एवं नगरीय निकाय ने हिदायतें दे रखी हैं कि चुनाव के दौरान क्या करें और क्या न करें। आयोग ने साफ़ तौर पर कहा की चुनाव में पंच और प्रधान के प्रत्याशी पूर्व या निवर्तमान माननीयों को चुनाव अभिकर्ता (एजेंट) नहीं बना पाएंगे। राज्य निर्वाचन आयोग उत्तर प्रदेश ने इसकी सख्त मनाही की है। इसके पीछे आयोग की मंशा साफ है कि कोई भी व्यक्ति मतदान के दौरान किसी प्रकार का दबाव न बना सके।

आयोग ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि पंचायत चुनाव के दौरान प्रत्याशी पूर्व या वर्तमान सांसद-विधायक, पूर्व या वर्तमान मंत्री, ब्लाक प्रमुख या किसी ऐसे व्यक्ति को चुनाव अभिकता न बनाएं जो भारत सरकार, राज्य सरकार या निकायों से किसी प्रकार का लाभ हासिल कर रहा हो। आयोग ने यह भी कहा है कि प्रत्याशी किसी भी सूरत में आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को भी एजेंट न बनाएं।

राज्य निर्वाचन आयोग उत्तर प्रदेश पंचायत एवं नगरीय निकाय ने यह भी कहा है कि किसी व्यक्ति को किसी उम्मीदवार के रूप में खड़े होने या न होने देने, मतदाताओं को मतदान करने या न करने के लिए दबाव देने या किसी भी प्रकार से उपहार देने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। आयोग ने यह भी कहा है कि बिना अनुमति लिए चुनाव प्रचार में किसी भी प्रकार के वाहन का इस्तेमाल न किया जाए।

आयोग के इन निर्देशों पर अमल कराने के लिए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी कमर कसकर तैयार हैं। चुनाव प्रक्रिया शुरू होते ही आयोग के निर्देशों का पालन कराने के लिए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी सामने आ जाएंगे।

वहीँ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जाति और धर्म के आधार पर वोट मांगने वाले प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव आयोग और प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगा। चुनाव आयोग ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि इस तरह की भावनाओं का फायदा उठाना या भड़काना अनुचित है। ऐसा करने वालों पर कार्रवाई होगी। चुनाव आयोग का स्पष्ट निर्देश है कि चुनाव के दौरान कोई भी प्रत्याशी या उसके समर्थक किसी दूसरे प्रत्याशी के व्यक्तिगत चरित्र को लेकर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। आपत्तिजनक शब्दों के लिखित या मौखिक प्रयोग पर सख्त मनाही है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

उत्तर प्रदेश

बलिया में चार घंटे बिताएंगे CM, चार साल में छठवीं बार हो रहा आगमन, देखें तैयारी की तस्वीरें

Published

on

बलिया। जनपद में मुख्यमंत्री का आगमन 18 जून को होने जा रहा। जिसको लेकर पूरे दिन प्रशासन तैयारियों में लगा रहा। गुरुवार की सुबह छह बजे जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी सहित कई अधिकारी कलेक्ट्रेट सभागार में पहुंचे, जहां मातहतों के साथ जिलाधिकारी ने मीटिंग की। इसके बाद प्रशासनिक अमला टीडी कालेज की तरफ रवाना हुआ। मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर जहां एक तरफ नगर के गड्ढायुक्त सड़कों को पाटने का काम तेजी से चल रहा था वहीं दूसरी ओर कलेक्ट्रेट सभागार को सजाने व संवारने का काम भी तेजी से चल रहा है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री सुबह साढ़े दस बजे हेलीकॉप्टर से गोरखपुर से प्रस्थान करेंगे, इसके बाद ११ बजकर १० मिनट पर पुलिस लाइन

कार्यालय पहुंचेंगे। ११ बजकर २५ मिनट पर जिला अस्पताल के लिए रवाना होंगे, जहां कोविड अस्पताल के साथ जिला अस्पताल का निरीक्षण करेंगे। इस दौरान वैक्सीनेशन सेंटर को भी करीब से जानेंगे। १२ बजकर पांच मिनट पर गांव का भ्रमण, १२ बजकर ३५ मिनट पर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम का निरीक्षण। इसके बाद निगरानी समिति के सदस्य के साथ संवाद उसके बाद कार लगभग १२.५० मिनट पर कलेक्ट्रेट सभागार पहुंचेंगे जहां जनप्रतिनिधियों एवं जनपद के कोर ग्रुप के साथ बैठक करेंगे। जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था, कोविड नियंत्रण के संदर्भ में तथा बलिया के विकास के कार्यों की समीक्षा करेंगे।इसके बाद १५.१० पर जनपद से रवाना हो जाएंगे। इसबीच १४.४० से १४.५५ तक पत्रकारों से रू-बरू होंगे। बात दें कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद पहली बार चांदपुर सहतवार में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए आए थे। इसके बाद निकाय चुनाव में पुलिस लाइन के परेड ग्राउंड में आयोजित चुनावी कार्यक्रम को संबोधित करने आए थे। तीसरी बार वे दुबे छपरा में बाढ़ क्षेत्र का दौरा करने के लिए आए थे। इसके बाद २०१९ में माल्देपुर में आयोजित लोकसभा चुनावी रैली में प्रधानमंत्री का स्वागत करने के लिए आए थे। इसके बाद २०२० में कोरोना काल में कोविड अस्पताल का जायजा लेने बलिया आए थे और अब शुक्रवार को एक बार फिर योगी जी बलिया आ रहे हैं।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

बलिया के रहने वाले उपजिलाधिकारी की कोरोना से मौत, पंचायत चुनाव की ड्यूटी से लौटे थे

Published

on

बलिया : बलिया जिले के मूल निवासी बदायूं के सहसवान तहसील में उपजिलाधिकारी के पद पर तैनात किशोर गुप्ता का गुरुवार को बरेली के निजी अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया. कोरोना संक्रमण से पीड़ित रहे गुप्ता करीब 60 साल के थे.

जिलाधिकारी दीपा रंजन ने बताया कि किशोर गुप्ता सहसवान तहसील में उपजिलाधिकारी के पद पर तैनात थे. पंचायत चुनाव के दौरान वह कोविड से संक्रमित हो गए थे और उनका बरेली के राम मूर्ति स्मारक मेडिकल कॉलेज में उपचार किया जा रहा था. देर रात उन्हें सांस लेने में काफी परेशानी हुई और आज सुबह पांच बजे उनका निधन हो गया.

उप जिलाधकारी किशोर गुप्ता के निधन पर तहसील स्टाफ और अधिवक्ताओं ने शोक व्यक्त किया है. गुप्ता आगामी 30 जून को सेवानिवृत्त होने वाले थे.

Continue Reading

featured

CM योगी का आदेश, बलिया में वेंटिलेटर, L-3 बेड्स की सुविधा उपलब्ध कराई जाए

Published

on

 बलिया । कोरोना से लोगों के बचाव को लेकर उप्र की योगी सरकार अलर्ट मोड़ पर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए सूबे में किए गए चिकित्सा प्रबंधों की रोज समीक्षा कर रहे हैं।

राज्य में रोजाना कितने लोग कोरोना की चपेट में आ रहे हैं और उनके इलाज के लिए जिलों में क्या क्या कदम उठाये जा रहे है  तथा प्रदेश में प्रतिदिन कितने लोगों ने टीकाकरण कराया, मुख्यमंत्री इसकी भी समीक्षा  रोज कर रहे हैं।

वहीं बलिया को लेकर सीएम योगी खास निर्देश दिया है सीएम ऑफिस के आफिसियाल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है कि बलिया में वेंटिलेटर व HFNC को फंक्शनल किया जाए तथा एल-3 बेड्स की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।  बात दें की बलिया में कोरोना के रोज औसतन 100 मरीज मिल रहे हैं , इसी को देखते हुए स्वास्थ विभाग को अलर्ट किया गया है ।

Continue Reading

TRENDING STORIES