सब्जी बेचने वाले का बेटा बना घोसी सीट से विधायक

0

मऊ डेस्क: घोसी विधानसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में भाजपा के विजय राजभर ने बड़े उलटफेर के बाद जीत हासिल की है। पहले राउंड से ही भाजपा के विजय और सपा समर्थित प्रत्याशी सुधाकर सिंह के बीच कांटे की टक्कर चलती रही। हालांकि इस टक्कर में भी भाजपा प्रत्याशी हर राउंड में बढ़त बनाए रहे। विजय राजभर ने सुधाकर को 1773 वोटों से हराया। 

बीजेपी के विजय राजभर को 68371 और सपा समर्थित निर्दल प्रत्याशी सुधाकर सिंह को 66598 वोट मिले।  घोसी से विधायक बने विजय राजभर बेहद गरीब परिवार से आते हैं। अपने पिता के साथ सब्जी बेचने का कार्य करते थे। विजय ने ग्रेजुएशन तक पढ़ाई की है। विजय बचपन से ही संघ की शाखाओं में जाते रहे।  2012 व 2013 में आरएसएस में बहुत ज्यादा सक्रिय हुए। बीजेपी की केंद्र में सरकार बनने के बाद मऊ के नगर अध्यक्ष बने। 2018 में जिले में महामंत्री बने।

नगर पालिका में 2012 में सभासद भी रहे। पार्टी में सक्रियता और जमीनीस्तर पर कार्य भी करते रहे। घोसी सीट फागू चौहान के बिहार का राज्यपाल बनने से खाली हुई थी। यहां 11 प्रत्यशियों के बीच मुकाबला था। तीसरे पर बसपा और चौथे पर कांग्रेस रही। बसपा के कयूम अंसारी को 50775 और कांग्रेस के राजमंगल यादव को 11624 वोट मिले। समाजवादी पार्टी का कोई अधिकृत प्रत्याशी नहीं था। 

सुधाकर सिंह को टिकट दिया गया था लेकिन उनका पर्चा खारिज हो गया। ऐसे में निर्दल प्रत्याशी के रूप में उन्होंने ताल ठोकी और सपा ने समर्थन दिया था। साढ़े नौ बजे आये पहले रुझान में बीजेपी के विजय राजभर 2263 मत पाकर सपा समर्थित निर्दल प्रत्याशी सुधाकर सिंह से 112 मतों की लीड बना चुके थे।

सुधाकर को 2051 मत मिले थे। बसपा के कयूम अंसारी 1047 और कांग्रेस के राजमंगल यादव को 174 मिले थे। दूसरे राउंड में बीजेपी 263 मतों से आगे हो गई। बीजेपी के विजय राजभर को  4509, सपा समर्थित निर्दल सुधाकर को 4246, बीएसपी के कयूम अंसारी को 1824 और कांग्रेस के राजमंगल यादव 383 मत मिले थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here