Connect with us

उत्तर प्रदेश

कासगंज: व्हाट्सएप पर भड़काऊ मैसेज भेजने वाला ग्रुप एडमिन गिरफ्तार

Published

on

कासगंज दंगे को लेकर सोशल नेटवर्किंग पर भड़काऊ पोस्ट डालने के मामले में पुलिस ने कड़ा रुख अपनाते हुए एक ग्रुप एडमिन को गिरफ्तार किया है, जबकि पोस्ट वायरल करने वाला ग्रुप सदस्य फरार है। पुलिस उसकी तलाश करने में लगी है। मामले की रिपोर्ट थाना गंजडुंडवारा में दर्ज हुई है।
गंजडुंडवारा में नक्षत्र कम्प्यूटर के नाम से सोशल नेटवर्क के व्हाटसएप पर ग्रुप चल रहा था। इस ग्रुप में सदस्य अजय गुप्ता की ओर से एक भड़काऊ पोस्ट वायरल की गई थी। भड़काऊ पोस्ट कासगंज से संबंधित थी। इसी दौरान गंजडंुडवारा में एक धर्मस्थल का दरवाजा जलाये जाने की घटना  होकर चुकी थी। माहौल तनावपूर्ण है। जैसे ही वायरल पोस्ट के बारे में पुलिस अधिकारियों को पता चला तो फौरन कार्यवाही की गई। कोतवाल लक्षमण सिंह ने व्हाटसएप ग्रुप के एडिमन रामसिंह को  गिरफ्तार कर लिया। जबकि सदस्य अजय गुप्ता फरार हो गया। पुलिस उसकी तलाश करने के लिए दबिशें मार रही है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

मई में निकाय चुनाव होने की उम्मीद, OBC आरक्षण को लेकर 28 फरवरी तक सौंपी जाएगी रिपोर्ट!

Published

on

बलिया। ओबीसी आरक्षण की वजह से रुके नगर निकाय चुनाव मई में होने की उम्मीद है। कोर्ट के निर्देश पर गठित पिछड़ा वर्ग आयोग ओबीसी आरक्षण के संबंध में 28 फरवरी तक रिपोर्ट सौंप देगा। आयोग के चेयरमैन पूर्व न्यायमूर्ति राम अवतार सिंह ने 1 दिन पहले 46 जिलों का भ्रमण पूरा करने की बात कही थी। पूर्व न्यायमूर्ति राम अवतार सिंह ने कहा कि 31 मार्च तक सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई, समय सीमा में ओबीसी आरक्षण सौंप दिया जाएगा। इसके बाद नगर विकास विभाग और स्थानीय निकाय चुनाव विभाग ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं।पिछड़ा वर्ग आयोग के सभी सदस्य जिलों में जाकर रिपोर्ट ले रहे हैं। इसके बाद मिलकर रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं। आयोग ने 46 जिलों में नगर विकास विभाग द्वारा कराए रैपिड सर्वे, और चक्रनुक्रमांक आरक्षण की जानकारी जुटाई। इसमें काफी कमियां बताई जा रही हैं। इसके बाद ही रिपोर्ट तैयार की गई है।

नगर निकायों के आरक्षण में बदलाव- नगर निकाय चुनाव आरक्षण 5 दिसंबर को जारी हुआ था। मगर, इस बार कई निकाय में आरक्षण बदलना तय है। यूपी की 17 नगर निगम, 199 नगर पालिका और 545 नगर पंचायत के आरक्षण में बदलाव होने के बाद  दावेदारों के चुनाव लड़ने की उम्मीद है। बता दें यूपी की सभी नगर निकायों का कार्यकाल खत्म हो चुका है।हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति देवेंद्र कुमार उपाध्याय और न्यायमूर्ति सौरभ लवानिया की खंडपीठ ने दाखिल 93 याचिकाओं को मंजूर करके फैसला सुनाया था। कोर्ट ने कहा था कि बगैर ट्रिपल टेस्ट की औपचारिकता पूरी किए ओबीसी को कोई आरक्षण नहीं दिया जाएगा। चुनाव की जारी होने वाली अधिसूचना में सांविधानिक प्रावधानों के तहत महिला आरक्षण शामिल होगा। कोर्ट ने यह भी निर्देश दिया कि ट्रिपल टेस्ट संबंधी आयोग बनने पर ट्रांसजेंडर्स को पिछड़ा वर्ग में शामिल किए जाने के दावे पर गौर करें।

बलिया में नगर निकायों का यह था आरक्षण– नगर पालिका बलिया महिला के लिए रिजर्व की गई थी। जबकि रसड़ा नगर पालिका अनारक्षित है। नगर पंचायत बेलथरा रोड, सहतवार, मनीयर, बांसडीह, रेवती और रतसड़ का चैयरमैन पद आनरक्षित है। वहीं बैरिया और नगर पिछड़ा वर्ग के लिए रिजर्व किया गया था। जबकि सिकंदरपुर और चितबड़ागाँव चैयरमैन पद महिला के लिए आरक्षित है।

Continue Reading

featured

अग्निवीर भर्ती परीक्षा में युवाओं को ठग रहे बलिया निवासी नायब सूबेदार गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। अग्निवीर भर्ती परीक्षा पास कराने के नाम पर युवाओं को ठग रहे नायब सूबेदार को एसटीएफ ने सोमवार रात गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के पास से 10 अभ्यर्थियों के दस्तावेज बरामद हुए हैं। जब से अग्निवीर भर्ती परीक्षाएं शुरू हुई हैं, तब से वह अलग-अलग जिलों में जाकर युवाओं को जाल में फंसाकर उनसे ठगी कर रहा था। मंगलवार को उसे कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया।

एसटीएफ के एएसपी अमित कुमार नागर ने बताया कि सोमवार रात को पवनपुरी, आशियाना निवासी योगेंद्र सिंह को पकड़ा गया। योगेंद्र 15 जाट बटालियन में नायब सूबेदार है और लद्दाख में तैनात है। वह मूलरूप से बलिया के खेजुरी थाना क्षेत्र के करम्बर गांव का रहने वाला है।

शैक्षणिक दस्तावेज जब्त कर वसूलता था रकम

अग्निवीर भर्ती परीक्षा पास कराने के नाम पर ठगी करने वाला नायब सूबेदार योगेंद्र सिंह दबाव बनाकर भी अभ्यर्थियों से वसूली करता था। जिन अभ्यर्थियों को जाल में फंसाता था, उनके सभी शैक्षणिक दस्तावेज अपने पास रख लेता था चयन होने या न होने पर वह उन सभी अभ्यर्थियों से रकम लेता था। जो रकम देने से मना करते थे, उनके दस्तावेज वापस नहीं करता था।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

बलिया में अराजकतत्वों ने तोड़ी आंबेडकर प्रतिमा, सपा ने BJP और मंत्री दयाशंकर सिंह पर बोला हमला!

Published

on

बलिया में बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने को लेकर राजनीति तेज हो गई है। समाजवादी पार्टी पूरे मसले को लेकर बीजेपी को घेर रही है। यहां तक कि सपा ने बीजेपी पर ही बाबा साहब की प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने का आरोप लगाया।
साथ ही मंत्री दयाशंकर पर भी हमला बोला है।

दरअसल समाजवादी पार्टी मीडिया सेल के ट्वीटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया। जिसमे लिखा है कि बलिया में अपराधी प्रवृत्ति के भाजपाइयों ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की मूर्ति क्षतिग्रस्त कर दी। कांशीराम जी को यही भाजपाई अपशब्द बोलते हैं बहन मायावती जी को भाजपा के मंत्री दयाशंकर सिंह ने गाली दी थी। क्या दलितों और दलित समाज के नेताओं को गाली देना ही भाजपा का धर्म है ?


बता दें बलिया जिले के चौबे छपरा ग्राम सभा स्थित बौद्ध बिहार परिसर में स्थापित संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा अराजकतत्वों ने क्षतिग्रस्त कर दी। शनिवार सुबह क्षतिग्रस्त प्रतिमा देख ग्रामीण आक्रोशित हो गए। अराजकतत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आननफानन में प्रतिमा की मरम्मत कराई। साथ ही मामले की छानबीन में जुट गई।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!