Connect with us

बलिया

दो महीनों में दोगुने हो गए बलिया में श्रमिक, ग्रेजुएट युवा भी बनवा रहे ई-श्रम कार्ड

Published

on

सरकार ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत श्रमिकों को हर महीने पांच सौ रुपए भत्ता देने की बात कही है। इसके बाद से बलिया में अचानक श्रमिकों की संख्या दोगुनी हो गई है। जी हैं श्रम विभाग के द्वारा दिया जाने वाला 500 रुपए का भत्ता पाने अब ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट बेरोजगार भी रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं।

जब से सीएम योगी ने श्रमिकों को 500 रुपए प्रति महीने देने की बात कही है तब से ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की बाढ़ आ गई है। इसके पहले अक्तूबर तक जिले में केवल 5.46 लाख श्रमिक पंजीकृत थे। लेकिन दिसम्बर में श्रमिकों की संख्या दोगुनी हो गई है। आंकड़ो पर नज़र डालें तो 31 दिसम्बर तक 11 लाख 47 हज़ार 254 लोगों ने श्रमिक कार्ड के लिए पंजीकरण कराया है।

हालात ये हैं कि अब स्नातक व परास्नातक की पढ़ाई कर चुके बेरोजगार युवक पंजीयन करा रहे हैं। युवाओं में होड़ लग गई है ई श्रम पोर्टल पर पंजीयन कराने की। और यही वजह से है कि बलिया में श्रमिकों की संख्या अचानक से बढ़ गई है। वहीं ई श्रम योजना के तहत श्रमिक कार्ड बनवाने में असंगठित क्षेत्र की महिलाएं भी पीछे नहीं रहीं। श्रमिक कार्ड के लिए 31 दिसंबर तक करीब पांच लाख से अधिक महिलाओं ने आवेदन किया है। योजना का लाभ लेने के लिए महिलाएं आगे आई हैं।

गौरतलब है कि सरकारी योजना के मुताबिक असंगठित क्षेत्र के ई-श्रम कार्डधारकों को इसका लाभ दिया जाएगा। लाभार्थियों को प्रतिमाह पांच सौ रुपये दिए जाएंगे। यह रकम उन्हें भत्ते के रूप में मिलेगी। श्रम विभाग के मुताबिक, 31 दिसंबर तक जिले में 11,47,254 लोगों ने आवेदन किए हैं। इन लोगों ने अपने ई-श्रम कार्ड बनवाए हैं। 25 दिसंबर तक आवेदन करने वाले लोगों को पहली किस्त जल्द ही मिल जाएगी। उन लोगों के खाते में दो माह का भत्ता एक हजार रुपये ट्रांसफर किया जाएगा। 25 दिसंबर तक आवेदन करने वाले लोगों को इसी माह पहली किस्त मिल जाएगी। पहले चरण में इन लोगों के खाते में दो माह का भत्ता का एक हजार रुपया ट्रांसफर किया जाएगा। जबकि अन्य लाभार्थियों को दूसरे चरण में लाभ दिया जाएगा। इसके अलावा पंजीकृत नवीनीकृत 54257 श्रमिकों को भी भत्ता का दो माह का एक हजार रुपया पहले चरण में अंतरित किया जाएगा।

कौन कर सकता है एप्लाईः असंगठित क्षेत्र का कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है। उसकी उम्र 18 से 59 आयु वर्ग के बीच होनी चाहिए। उसकी मासिक कमाई 15 हजार से कम हो। केवल आधारकार्ड व मोबाइल नंबर के जरिए ई-श्रम पोर्टल पर आवेदन करके लाभ उठाया जा सकता है।

आजे से खातों में ट्रांसफर की जाएगी राशिः आज ई-श्रम योजना के तहत भत्ता की पहली किस्त एक हजार रुपये पंजीकृत श्रमिकों के खाते में भेजी जाएगी। इसका शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लखनऊ में किया जाएगा। इसी दौरान सीएम वीडियो कांफ्रेसिंग के द्वारा जिले के दस पंजीकृत श्रमिकों को भत्ता की पहली किस्त जारी करेंगे। यह जानकारी जिला श्रम प्रवर्तन अधिकारी जितेंद्र कुमार ने दी। बताया कि इसके लिए दस पंजीकृत श्रमिक विकास भवन स्थित एनआईसी में कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहेंगे।

बलिया के श्रम प्रवर्तन अधिकारी जितेंद्र कुमार ने बताया कि ई-श्रम योजना के तहत 1147254 लोगों ने 31 दिसंबर तक श्रमिक कार्ड के लिए आवेदन किया है। ऐसे लोगों के खाते में पांच-पांच सौ रुपये भत्ते के रूप में भेजे जाएंगे। यदि आवेदन करने वाला अपात्र होगा तो उससे रिकवरी भी कराई जाएगी। दो चरणों में लाभार्थियों को लाभ दिया जाएगा।

बलिया

फेफना में ट्राई साइकिल मिलने का क्रम जारी, अब इस जगह से 18 साइकिलें बरामद

Published

on

बलिया। फेफना के कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिए जाने वाले उपकरण मिलने के बाद क्षेत्र में छापेमारी जारी है। इसी छापेमार कार्यवाही में जांच टीम को दूसरी जगह ट्राई साइकिल मिली हैं।

जानकारी के मुताबिक फेफना के सरकारी पचखोरी जूनियर हाईस्कूल का मामला है। जहां पर शिकायत मिलने पर चुनाव उड़नदस्ता और एसडीएम ने देर रात छापेमारी की और मौके से 18 ट्राई साइकिल बरामद कर ली। इसके अलावा जिस रुम में ये साइकिल रखी मिली उसे भी सील कर दिया गया है।

मामले के सामने आने के बाद आरोप लगाए जा रहे हैं कि चुनाव प्रभावित करने के लिए मंत्री के ख़ास बीजेपी कार्यकर्ता और प्रधानाध्यापक देवेन्द्र गिरी की देखरेख में ट्राई -साइकिल रखी गई थी। बता दें कि इससे पहले पूर्व विधायक व सपा नेता संग्राम सिंह बीजेपी पर गंभीर आरोप लगा चुके हैं।उन्होंने कहा था कि “चुनाव प्रभावित करने के लिए ट्राई साइकिल रखी गई थी। उन्होंने अधिकारियों पर भी मिलीभगत के आरोप भी लगाए थे।

Continue Reading

बलिया

बलिया- 73वें गणतंत्र दिवस पर ज्ञानपीठिका स्कूल में सांस्कृतिक आयोजन

Published

on

बलिया। देश प्रदेश के साथ ही बलिया में भी 73वें गणतंत्र दिवस की धूम देखने को मिली। कई जगह सांस्कृति आयोजन किए गए। ज्ञानपीठिका स्कूल में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हुआ। ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रगान शिक्षकों ने किया । जिसमें स्कूल के बच्चें ऑनलाइन अपने-अपने घरों से शामिल हुए। कार्यक्रम का केंद्र बिंदु समाज को संविधान और उसके महत्व को लेकर जागरुक करना था।


ज्ञानपीठिका स्कूल के शिक्षक आनंद ने देश भक्ति गीत सुना कर सबका मन मोहा तो एक अन्य अध्यापक उत्कर्ष ने ओज कविता से आज के दिवस को और भी जीवंत किया। गायन में अध्यापिका हीना जहान का गीत ‘तेरी मिट्टी में मिल जावां’ ने कार्यक्रम को और भी रत्नीत किया। पूरे कार्यक्रम का संचालन रीता गोस्वामी ने बड़े ही रोचक ढंग से किया।

आखरी में सभी को सम्बोधित करते हुए विद्यालय की प्रधानाचार्य संस्कृति सिंह ने कहा कि हमारे कर्तव्य राष्ट्र के निर्माण के प्रति होने चाहिए। हमें सदैव यह याद रखना कि हम अपने देश का निर्माण कर रहे हैं और इसे बेहतर से बेहतरीन तरीके से किया जाना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कोविड के बाद से उभरते हुए समय में आने वालीं और आ रही शैक्षणिक चुनौतियों के बारे में बात की। साथ ही चुनौतियों का सामना करने की अपील की।

इस दौरान स्कूल में हो रहे अत्याधुनिक तकनीकी परिवर्तनों से अवगत कराया गया। साथ ही सराहना भी की गई। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय की उप प्रधानाचार्य हीना तबस्सुम ने सभी माध्यमों से उपस्थित लोगों का आभार प्रकट किया।

Continue Reading

featured

फेफना के कोल्डस्टोरेज में सरकारी उपकरण मिलने पर पूर्व विधायक ने उठाए सवाल, कही ये बात

Published

on

बलिया। फेफना विधानसभा के कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिये जाने वाला उपकरण भारी मात्रा में पकड़े जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। कहा जा रहा है कि ये कोल्डस्टोरेज बीजेपी नेता का है। जिसके बाद से राजनैतिक बयानबाजी भी तेज हो गई है। तमाम विपक्षी पार्टियों ने भाजपा पर सवाल भी उठाए हैं।

इसी बीच मामले को लेकर पूर्व विधायक व सपा नेता संग्राम सिंह का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि “चुनाव प्रभावित करने के लिए ट्राई साइकिल रखी गई थी। उन्होंने अधिकारियों पर भी मिलीभगत के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि मामले में अधिकारी भी मिले हैं, निष्पक्ष चुनाव के लिए अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज की जाए।”

संग्राम सिंह ने सवाल उठाते हुए कहा कि “आखिर सरकारी सामान को प्राइवेट गोदाम में क्यों रखा गया? मंत्री उपेंद्र तिवारी पर वार करते हुए कहा कि उन्होंने दिव्यांगों को भी नहीं छोड़ा।” मामले पर अभी तक ठोस कार्यवाही न होने से भी सपा नेता नाराज दिखे। उन्होंने कहा कि मामले कार्रवाई ना होना डीएम की मजबूरी है।

बता दें कि बीते दिन कनैला गांव स्थित एक कोल्डस्टोरेज में दिव्यांगजनों को दिये जाने वाला उपकरण भारी मात्रा में पकड़े गए थे। जिसके बाद जांच टीम ने उपकरणों को सोहांव ब्लॉक पर बीडीओ की निगरानी में सौंप दिया है। निजी स्थान पर उपकरण मिलने पर दिव्यांगजन अधिकारी को नोटिस जारी कर रिपोर्ट तलब की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स में कोल्ड स्टोरेज को भाजपा के बड़े नेता और सरकार में एक मंत्री के करीबी का बताया गया था।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!