Connect with us

बांसडीह

बलिया- यूथ कांग्रेस ने ईंधन की बढ़ती कीमतों के खिलाफ भैंस के आगे बीन बजा कर किया प्रदर्शन !

Published

on

बलिया डेस्क :  बलिया में भारतीय युवा कांग्रेस ने बुधवार को पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रतीकात्मक विरोध-प्रदर्शन करते हुए केंद्र सरकार से उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी को तुरंत वापस लेने की मांग की है. युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव अभिजीत तिवारी सत्यम के नेतृत्व मे केंद्र सरकार की जनता विरोधी नीतियों के खिलाफ भैंस के आगे बीन बजा कर विरोध प्रदर्शन किया.

प्रदेश सचिव अभिजीत तिवारी सत्यम ने कहा कि वर्तमान कि केंद्र सरकार को जनता से कोई लेना देना नहीं है वह अदानी अंबानी को देश मानकर सिर्फ काम कर रही है पेट्रोलियम कीमतों की बढ़ोतरी से आम जनता का जीना मुहाल हो गया मगर केंद्र में बैठे लोग जनता के ऊपर नित नए कानून के माध्यम से जनता की गाढ़ी कमाई को लूटने चाह रहे हैं.

करोना काल के बाद पूरी दुनिया आर्थिक मंदी की शिकार है लोग अपने रोजी रोजगार को लेकर परेशान हैं मगर केंद्र सरकार को इन चीजों से कोई मतलब नहीं है कल तक पेट्रोलियम पदार्थों पर जो लोग राजनाथ सिंह हो स्मृति रानी हो धर्मेंद्र प्रधान हो रविशंकर प्रसाद हो यहां तक खुद मोदी 2014 से पहले तरह तरह की बातें किया करते थे आज उनको अपने बातों को याद करके जनता प्रणाम करना चाहिए मगर यह बेशर्म सरकार सिर्फ पूजी पतियों की सरकार है आम जनता से कोई मतलब नहीं ना कोई सरोकार इनसे कुछ बात कहना भैंस के आगे बीन बजाने के बराबर है.

इस मौके पर श्रीप्रकाश मिश्रा, अजित कुमार, धर्मेंद्र ठाकुर,विनोद सिंह,मुकेश पांडेय, राजकुमार सोनी, फ़ैयास अंसारी,मोबिन अंसारी,राजू राजभर,राकेश यादव इत्यादि लोग रहे..!!

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

बलिया में युवाओं ने मनाया जुमला दिवस, पीएम मोदी के जन्मदिन पर काटा गया कद्दू केक

Published

on

बलिया में युवाओं ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जन्मदिन मनाई।

बलिया में युवाओं ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जन्मदिन मनाई। बलिया जिले के अलग अलग जगहों पर युवकों ने केक काटकर खास अंदाज में प्रधानमंत्री मोदी को जन्मदिन की बधाई दी। युवा हल्ला बोल की टीम से लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं तक ने प्रधानमंत्री का जन्मदिन निराले अंदाज में मनाया। बांसडीह में प्रधानमंत्री के जन्मदिन को जुमला दिवस के रूप में मनाया गया। नौजवानों ने जुमला लिखा हुआ केक भी काटा।

युवा हल्ला बोल की टीम के कार्यकर्ता बांसडीह में इकट्ठा हुए। कार्यकर्ताओं के हाथ में कई दफ्तियां थीं। जिन पर “जुमला दिवस की बधाई”, “बेरोजगारी”, “कमाई”, “पढ़ाई”, “महंगाई” लिखा हुआ था। युवा हल्ला बोल टीम के कार्यकर्ताओं ने कहा कि “हम किसी राजनीतिक दल से नहीं जुड़े हैं। हमारी सरकार से तीन प्रमुख मांगें हैं- पढ़ाई, कमाई और दवाई। इन मुद्दों पर हमारी बात नहीं सुनी जाएगी तब हम सड़कों पर भी पूरी शक्ति के साथ उतरेंगे।”

दूसरी ओर बलिया में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भी प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन मनाया। युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव अभिजीत तिवारी सत्यम के नेतृत्व में बेरोजगार युवकों ने केक के बदले कद्दू का काटकर जन्मदिन मनाया। युवा कांग्रेस के इस जुटान में मुख्य रूप से महिला नेत्री सोनम बिंद, ब्लाक अध्यक्ष विजेंद्र पांडेय, इंटक जिलाध्यक्ष अरुण सिंह, विद्याशंकर पांडेय, राहुल सिंह, मनोज सिंह, सरिता यादव, मधु सिंह, राज कुमारी व अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

गौरतलब है कि 17 सितंबर यानी आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है। पूरे देश में भारतीय जनता पार्टी इस मौके पर विशेष आयोजन कर रही है। तो वहीं विपक्षी दल समेत कई संगठन के कार्यकर्ता अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं। बलिया से लेकर दिल्ली तक इस तरह के आयोजन किए जा रहे हैं। एक तरफ भाजपा इस दिन को “ब्रांड मोदी” के प्रचार के लिए इस्तेमाल कर रही है तो दूसरी ओर विपक्षी दल इसे विरोध के लिए प्रचारित कर रहे हैं।

Continue Reading

Uncategorized

क्या है 26 साल पहले हुए रिटायर्ड सूबेदार की हत्या का मामला? तीन आरोपी पुलिस की पकड़ में

Published

on

बलिया के बांसडीह कोतवाली थाना क्षेत्र के आदर गांव में 1995 में रिटायर्ड सूबेदार कृपाशंकर शुक्ला की हत्या कर दी गई थी। फोटो: सर्वोच्च न्यायालय

बलिया में आज से लगभग 26 साल पहले एक रिटायर्ड सूबेदार की हत्या के मामले में पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि एक आरोपी अभी भी फरार चल रहा है। बलिया के बांसडीह कोतवाली थाना क्षेत्र के आदर गांव में 1995 में कृपाशंकर शुक्ला की हत्या कर दी गई थी। कृपाशंकर शुक्ला एक रिटायर्ड सूबेदार थे। सर्वोच्च न्यायालय ने कृपाशंकर शुक्ला की हत्या के दोषियों की जमानत निरस्त कर दी। जिसके बाद पुलिस ने यह धर पकड़ शुरू की है।

बता दें कि रिटायर्ड सूबेदार कृपाशंकर शुक्ला के हत्या के आरोप में जिला न्यायालय ने चार लोगों को आजीवन कारावास और अर्थदंड की सजा सुनाई थी। इनमें स्वामीनाथ यादव, विक्रमा यादव, झींगुर राजभर, सुरेंद्र पांडेय व उमेश पांडेय का नाम शामिल था। जिसके बाद जेल में ही उमेश पांडेय की मौत हो गई थी। अन्य आरोपितों ने उच्च न्यायालय से जमानत ले ली थी। आरोपितों के जमानत के खिलाफ पीड़ित परिवार ने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। सर्वोच्च न्यायालय ने पिछले हफ्ते ही इस मामले में सभी आरोपियों की जमानत रद्द कर दी। जिसके बाद पुलिस अभियुक्तों की तलाश में जुट गई। आखिरकार पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है। एक और आरोपित की खोजी चल रही है। जो कि फरार चल रहा है।

गौरतलब है कि रिटायर्ड सूबेदार कृपाशंकर शुक्ला की 26 अक्टूबर, 1995 की रात हत्या कर दी गई थी। इस रात कृपाशंकर शुक्ला अपनी साइकिल से बांसडीह बाजार गए हुए थे। बाजार से लौटते हुए रास्ते में ही उनकी हत्या करके एक कुंए में फेंक दिया गया था। दो दिन बाद 28 अक्टूबर को उनकी लाश उसी कुंए से बरामद हुई। मृत शरीर देखकर हर कोई हक्का-बक्का रह गया था। 45 साल की ही उम्र में रिटायर्ड सूबेदार कृपाशंकर शुक्ला की हत्या हो गई थी।

कृपाशंकर शुक्ला हत्या की जांच सीबीसीआइडी ने की। सीबीसीआइडी की रिपोर्ट के ही आधार पर ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने अपने मुकदमे में हल्का दारोगा जयनाथ यादव और पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टर को भी सहआरोपित बनाया था। इन दोनों पर सबूत के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था। बाद में जयनाथ यादव और पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर को चार-चार साल की सजा हुई थी।

कृपाशंकर शुक्ला 1973 में सेना में भर्ती हुए थे। 1993 में कृपाशंकर शुक्ला सेना से रिटायर होकर घर चले आए थे। घर आने के दो साल बाद ही उनकी हत्या कर दी गई थी। कृपाशंकर शुक्ला की हत्या के बाद उनकी पत्नी और भाई को इंसाफ के लिए सालों तक लड़ाई लड़नी पड़ी। सर्वोच्च न्यायालय ने जब सभी अभियुक्तों की जमानत रद्द की तब कृपाशंकर शुक्ला की पत्नी ने कहा कि “माननीय सुप्रीम कोर्ट का फैसला ऐतिहासिक है। सुहाग उजड़ने के बाद मेरा सबकुछ खत्म हो गया। आरोपितों के डर के कारण मैंने गांव में रहना तक छोड़ दिया। अपनी सुरक्षा के लिए सीएम से भी गुहार लगाई गई है। दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए।”

 

Continue Reading

featured

बलिया में मुख्यमंत्री योगी के सामने “सब चंगा सी” मोड में पेश करने की तैयारी शुरू

Published

on

आगामी 17 सितंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बलिया पधार सकते हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बलिया में एक दौरा संभावित है। अनुमान लगाया जा रहा है कि आगामी 17 सितंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बलिया पधार सकते हैं। मुख्यमंत्री के इस संभावित दौरे को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह सक्रिय हो गया है। जिले के आला अधिकारियों ने उन इलाकों में जाना शुरू कर दिया है जहां मुख्यमंत्री पहुंच सकते हैं। मंगलवार को बांसडीह के नारायणपुर गांव में जिले के एसडीएम का दौरा हुआ। जिलाधिकारी अदिति सिंह के दिशा निर्देश पर एसडीएम दुष्यंत मौर्य ने नारायणपुर के लोगों से मुलाकात की और उनकी समस्याएं सुनी।

जिला प्रशासन की कवायद है कि मुख्यमंत्री के सामने सब चंगा सी की तरह से पेश हो। एसडीएम दुष्यंत मौर्य और अन्य अफसरों ने नारायणपुर गांव के एक स्कूल में ग्रामिणों के साथ बैठक की। उन्होंने लोगों की समस्याएं के निराकरण के निर्देश भी दिए। इस बैठक में आई महिलाओं ने आवास की मांग की। तकरीबन डेढ़ सौ महिलाओं ने आवास के लिए आवेदन दिया है। इसके अलावा राशन कार्ड को लेकर भी बहुत से लोगों ने शिकायत की। एसडीएम ने सप्लाई इंस्पेक्टर को राशन कार्ड की समस्या जल्द सुलझाने का आदेश दिया है। उन्होंने सप्लाई इंस्पेक्टर को ऐसे लोगों की सूची बनाने के लिए कहा है जिनका राशन कार्ड अब तक नहीं बन सका है।

शहीद बृजेंद्र बहादुर सिंह के घर तक सड़क ना बनने और घर के पास ट्रांसफार्मर न लगने को लेकर भी गांव वालों ने अधिकारियों से शिकायत की है। ग्रामिणों ने कहा कि 2017 में जब बीएसएफ में रहते हुए बृजेंद्र बहादुर सिंह शहीद हुए थे तब प्रदेश के मंत्री गांव आकर कह गए थे कि उनके घर तक सड़क बनाई जाएगी। साथ ही उनके घर के पास एक सौ केवीए का ट्रांसफार्मर भी लगाया जाएगा। चार साल बीत चुके हैं लेकिन अब तक कोई काम नहीं हुआ।

नारायणपुर गांव में एसडीएम के साथ इस मौके पर सीओ प्रीति त्रिपाठी, कोतवाल सुनील सिंह, एडीओ गिरीश पांडे, अक्षयवर पांडे, सीडीपीओ पूनम सिंह, दुर्गावती सिंह, अशोक सिंह, प्रधान पुष्पा देवी, विनय सिंह, सप्लाई इंस्पेक्टर दिलीप सिंह, अखिलेश सिंह मौजूद रहे। पूरा प्रशासनिक महकमा इस बात को लेकर अलर्ट है कि मुख्यमंत्री के सामने कोई चूक न हो जाए और कोई अपनी समस्या लेकर ना पहुंच जाए।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!