Connect with us

बैरिया

बलिया – हाई टेंशन लाइन के चपेट में आने से युवक की मौत

Published

on

बलिया डेस्क: जिले में एक युवक की हाई टेंशन बिजली की लाइन के चपेट में आने से मौत हो गई। घटना से घर में कोहराम मच गया है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार, बलिया जिले के बैरिया थाना क्षेत्र के नई बस्ती (अठगावा) निवासी सतेंद्र यादव(21) पुत्र देवनाथ यादव रविवार की सुबह अपने घर से खेत में गेहूं की फसल काटने जा रहा था। रास्ते मे गांव से कुछ ही दूरी पर गिरे एचटी विद्युत तार की चपेट में आ गया। जिससे मौके पर ही मौत हो गई।

Advertisement src="https://kbuccket.sgp1.digitaloceanspaces.com/balliakhabar/2022/08/14144116/Milkiana.jpg" alt="" width="1280" height="1280" class="alignnone size-full wp-image-47492" />
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया

बलिया- मुरलीछपरा के 4 स्वास्थ्यकर्मियों का एक दिन का वेतन काटने के निर्देश

Published

on

बलिया। सीएमओ जयंत कुमार ने शनिवार को निरीक्षण के दौरान गायब स्वास्थ्यकर्मियों पर कार्रवाई की है। उन्होंने 4 कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया है साथ ही एक सप्ताह से गायब एक कर्मचारी को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है। हालांकि निरीक्षण के दौरान उन्होंने स्वास्थ्य केंद्र की समस्याओं को भी जाना।

पूरा मामला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरलीछपरा का है, जहाँ औचक निरीक्षण के लिए सीएमओ जयंत कुमार पहुंचे। इस दौरान अनुपस्थित 4 स्वास्थ्यकर्मियों के एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया। और एक कर्मचारी के एक सप्ताह से गायब रहने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया। वहीं स्वास्थ्यकर्मियों ने अस्पताल भवन जर्जर होने की बात बताई। इस पर उन्होंने इस्टीमेट बनावाकर निर्माण कराने का आश्वासन दिया है। 

Continue Reading

बलिया

बलिया- तहसीलदार ने बुजुर्ग वकील को फर्श पर पटका, विरोध में वकीलो का धरना

Published

on

बलिया। बैरिया तहसील में शनिवार को उस समय हंगामा हो गया जब तहसीलदार ने एक बुजुर्ग अधिवक्ता को फर्श पर पटक दिया। जिससे नाराज अधिवक्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया। तहसील के सभी कार्यालयों और न्यायालयों में ताला बंदी कर दी गई। साथ ही तहसीलदार को निलंबित करने की मांग को लेकर धरने पर बैठक गए। हालांकि अधिकारियों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया। इसके अलावा कार्रवाई का आश्वासन भी दिया।

दरअसल अधिवक्ता प्रेमचंद श्रीवास्तव किसी समस्या के समाधान के लिए संपूर्ण समाधान दिवस में पहुंचे। इस दौरान तहसीलदार से आग्रह करने पर वह नाराज हो गए और अधिवक्ता की गर्दन पकड़कर फर्श पर पटक दिए। यह देख जनता और अधिकारी सन्न रह गए। पुलिस वालों ने अधिवक्ता को सहारा देकर उठाया। घटना से आक्रोशित अधिवक्ता तहसीलदार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए एसडीएम से तहसीलदार को बाहर निकालने की मांग करने लगे। तब पुलिस वालों ने एसडीएम के साथ मिलकर मामला संभाला। सैकड़ों की संख्या में अधिवक्ता तहसील बंद कराने के बाद तहसील के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गए।

नाराज अधिवक्ता मौके पर डीएम और एसपी को बुलाने की मांग करने लगे। कुछ देर बाद अपर जिलाधिकारी वित्त और राजस्व राजेश सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक दुर्गाप्रसाद तिवारी व बांसडीह सीओ राजेश तिवारी मौके पर पहुंचे। अधिवक्ताओं ने अपर जिलाधिकारी से तहसीलदार को तत्काल निलंबित करने, उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने व विभागीय जांच कराने की मांग की। और अपर पुलिस अधीक्षक को तहरीर दी। कार्रवाई के आश्वासन के बाद अधिवक्ता शांत हुए। वहीं तहसीलदार को पुलिस सुरक्षा में बलिया भेज दिया गया। अपर जिलाधिकारी ने कहा कि किसी को कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। जिलाधिकारी से परामर्श कर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Continue Reading

बैरिया

लाल बालू : काली कमाई से बलिया पुलिस हो रही लाल, ट्रकों के लिए अलग तो ट्राली के लिए अलग रेट तय

Published

on

बैरिया। बालू के अवैध कारोबार के बीच ओवरलोडिंग का खेल भी धड़ल्ले से बढ़ता जा रहा है। इस लाल बालू की काली कमाई से पुलिस लाल हो रही हैं। यह खेल चेकपोस्ट पर तैनात पुलिसकर्मियों की मिलीभगत से चल रहा है। वर्तमान समय में अवैध लाल बालू का परिवहन जयप्रकाश नगर व जयप्रभा सेतु मांझी के रास्ते ओवर लोड बालू ट्रक व ट्रैक्टर-ट्राली से वहां से निकलते हैं। चालक ट्रक और ट्रैक्टर ट्राली लेकर जयप्रकाश नगर चौकी व चांददियर चेक पोस्ट पार करते हुए बैरिया सर्किल क्षेत्र के बैरिया, दोकटी, रेवती, हल्दी थाने के सामने से होते हुए जिले के विभिन्न जगहों व गैर जनपदों में जाते हैं।

जिला खनन पदाधिकारी व परिवहन विभाग भले ही यह कहे कि पुलिसकर्मियों की मिली भगत में अवैध बालू परिवहन का खेल चलता है। लेकिन सत्य तो यह है कि खनन विभाग व परिवहन विभाग का इस खेल में पूरी तरह मिली भगत मानी जाती है। वहीं बालू के इस खेल को अनवरत जारी रखने के लिए रास्ते में पड़ने वाले थानों द्वारा जमकर वसूली होती है। सूत्रों की मानें तो इसके लिए अलग-अलग रेट बंधा है और बालू के एजेंट इसकी वसूली करते हैं। जानकारी के अनुसार बिहार से जयप्रभा सेतु के रास्ते प्रतिदिन 300 से 500 ओवर लोड लदे लाल बालू ट्रैक्टर आते हैं। वहीं क्षेत्र में मनमाने कीमत पर बेचा जाता है।

सूत्र बताते हैं कि चांददियर पुलिस पिकेट व जयप्रकाश नगर चौकी पुलिस द्वारा थाने के नाम पर प्रति ट्राली 200 से 250 रुपये की वसूली की जाती है। वहीं ट्रकों के लिए अलग-अलग रेट तय है।बताया जाता है कि ओवरलोड ट्रकों की जांच करने के लिए कभी-कभार पदाधिकारी भी निकलते हैं।वैसे तो यह जांच औचक कही जाती है लेकिन, आश्चर्यजनक रूप से इसकी जानकारी चेकपोस्ट से लेकर ट्रक चालकों तक सभी को होती है।ऐसे में जांच के लिए निकले पदाधिकारियों को या तो खाली हाथ आना पड़ता है या फिर एक-दो ट्रकों पर कारवाई कर अपनी खानापूर्ति कर लेते हैं।

बैरिया क्षेत्र में पहले शाम ढलते ही अवैध लाल बालू लदे ट्रैक्टर-ट्रालियों के निकालने का काम शुरू हो जाता है।फिर देर रात तक सड़कों पर अवैध बालू के ट्रैक्टर दौड़ते रहते हैं।लेकिन अब यह कारोबार दिन-रात चलता है। परंतु इन्हें देखने व रोकने के लिए कोई नहीं है।पुलिस व खनन विभाग के अधिकारी आपसी मिलीभगत के कारण मौन हैं।सबकुछ जानने के बावजूद खनन विभाग के अधिकारी बेखबर बने हुए हैं।जानकारों का कहना है बालू का अवैध कारोबार पुलिस की कमाई का जरिया बन गया है।अगर सूत्रों की मानें तो अवैध लाल बालू के अवैध कारोबार से हुए अवैध वसूली के पैसे में से जिले का आलाधिकारियों का भी हिस्सा बनना हुआ है।

यही कारण है कि आलाधिकारी सबकुछ जानते हुए भी अवैध लाल के खेल को रोकने में अपनी रूचि नहीं दिखाते हैं।जिससे बालू कारोबारियों व क्षेत्रीय पुलिस बेधड़क इस खेल को बड़े ही निश्चिंतता के साथ करते हैं।

रिपोर्ट- तिलक कुमार

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!