जनवरी से होगी 45 हजार कांस्टेबलों की भर्ती- उत्तर प्रदेश डीजीपी

JOB

मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि जनवरी में 45 हजार पुलिस कांस्टेबलों की भर्ती होगी। इससे विभाग में पुलिस बल की कमी को पूरा किया जा सकेगा।

35 हजार रिक्रूट को 23 जुलाई से ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके अलावा जिन 42 हजार अभ्यर्थियों की 18 और 19 जून को परीक्षा हुई है, उनका रिजल्ट अक्टूबर और नवंबर में जारी कर दिया जाएगा। आने वाले समय में एक लाख से ज्यादा युवाओं को रोजगार देने का विचार है।

डीजीपी पुलिस लाइन में महिला उत्थान केंद्र और वीडियो कांफ्रेंसिंग रूम का उद्घाटन करने व पुलिस अकादमी की री-यूनियन सेमिनार में शामिल होने के लिए आए थे। इस दौरान पत्रकार वार्ता में उन्होंने बताया कि हम अपने डायल-100 के रेस्पॉन्स टाइम को 10 मिनट से नीचे लाने के की कोशिश कर रहे हैं। पहले यह 23 मिनट था, जो अब 14 मिनट 53 सैकेंड है।

उन्होंने कहा कि पहली बार 40 मामले भ्रष्टाचार के पकड़े गए हैं। भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम यूनिट को प्रत्येक माह दो मामले पकड़ने का लक्ष्य दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ शुरुआत है। भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने पुलिस को छवि सुधारने और अज्ञात काल पर एफआइआर दर्ज करने की भी बात कही ताकि सूचना तंत्र मजबूत हो।

गाजियाबाद में इसे शुरू करा दिया गया है। सफलता मिलने पर प्रदेश के सभी जिलों में लागू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 75 फीसद अपराध वाले सर्किल के थानों पर तीन एडिशनल इंस्पेक्टर रख दिए हैं।जासं, मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि जनवरी में 45 हजार पुलिस कांस्टेबलों की भर्ती होगी।

इससे विभाग में पुलिस बल की कमी को पूरा किया जा सकेगा। 35 हजार रिक्रूट को 23 जुलाई से ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके अलावा जिन 42 हजार अभ्यर्थियों की 18 और 19 जून को परीक्षा हुई है, उनका रिजल्ट अक्टूबर और नवंबर में जारी कर दिया जाएगा।

आने वाले समय में एक लाख से ज्यादा युवाओं को रोजगार देने का विचार है।1डीजीपी पुलिस लाइन में महिला उत्थान केंद्र और वीडियो कांफ्रेंसिंग रूम का उद्घाटन करने व पुलिस अकादमी की री-यूनियन सेमिनार में शामिल होने के लिए आए थे। इस दौरान पत्रकार वार्ता में उन्होंने बताया कि हम अपने डायल-100 के रेस्पॉन्स टाइम को 10 मिनट से नीचे लाने के की कोशिश कर रहे हैं।

पहले यह 23 मिनट था, जो अब 14 मिनट 53 सैकेंड है। उन्होंने कहा कि पहली बार 40 मामले भ्रष्टाचार के पकड़े गए हैं। भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम यूनिट को प्रत्येक माह दो मामले पकड़ने का लक्ष्य दिया गया है।

उन्होंने कहा कि यह सिर्फ शुरुआत है। भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने पुलिस को छवि सुधारने और अज्ञात काल पर एफआइआर दर्ज करने की भी बात कही ताकि सूचना तंत्र मजबूत हो।

गाजियाबाद में इसे शुरू करा दिया गया है। सफलता मिलने पर प्रदेश के सभी जिलों में लागू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 75 फीसद अपराध वाले सर्किल के थानों पर तीन एडिशनल इंस्पेक्टर रख दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *