गाज़ीपुरः चुनाव नतीजों के बाद किन कारणों से हुई सपा नेता विजय यादव हत्या !

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के ठीक बाद उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में समाजवादी पार्टी के नेता एवं ज़िला पंचायत अध्यक्ष विजय यादव उर्फ पप्पू यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जानकारी के मुताबिक, विजय यादव को बाइक सवार अज्ञात बदमाशों ने गोली मारी।

बदमाशों ने घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब वह करंडा थानान्तर्गत गोशन्देपुर सलारपुर गांव स्थित अपने घर के दरवाजे पर दोस्त राजनाथ यादव के साथ बैठे बातें कर रहे थे।

मौके पर मौजूद राजनाथ यादव ने बताया कि जब वह विजय यादव के साथ बैठे थे उसी समय मुंह पर गमछा बांधे बाइक सवार पहुंचे और विजय यादव पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इस फायरिंग में दो गोलियां विजय यादव के सीने और एक पैर में लग गई।

राजनाथ ने बताया कि फायरिंग के दौरान उनको भी निशाना बनाया गया, पर वह भाग्यवश बच निकले। फायरिंग की आवाज सुनकर लोग मौके पर पहुंचे तब तक बदमाश घटना को अंजाम देकर फरार हो गए थे।

घटना की सूचना मिलने पर वहां पुलिस पहुंची। जिसके बाद घायल विजय यादव को वाराणसी के ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस मामले में विजय यादव के भाई अमरदेव की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

वहीं गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच के अलावा चार टीमें गठित कर दी गईं हैं। हत्या क्यों और किसने की है, इसकी जांच की जा रही है। जल्द ही बदमाशों को पुलिस गिरफ्तार कर लेगी। बता दें की विजय यादव समाजवादी पार्टी के नेता विजय यादव करंडा तृतीय से जिला पंचायत सदस्य थे।

उन्हें जंगीपुर विधानसभा के सपा विधायक वीरेन्द्र यादव के करीबी माने जाते थे। विजय यादव की हत्या की ख़बर मिलते ही वीरेन्द्र यादव पोस्टमॉर्टम हाउस भी पहुंचे थे।

जहां उन्होंने योगी सरकार की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में चुनाव बीते हैं और ये घटना हो गई। योगीराज में कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। इसके साथ ही उन्होंने विजय यादव के परिवार को 50 लाख रुपए मुआवज़ा दिए जाने की मांग भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here