मेरे इतने अफेयर रहे हैं कि 16 से 31 की हो गई किसी को डंप नहीं किया- कंगना रनौत

0

क्वीन’ एक्ट्रेस कंगना रनौत कहती हैं कि अपनी जिंदगी में उन्होंने कई बार धोखा खाया है। उन्हें कई लोगों ने डंप किया है। लेकिन अपनी जिंदगी में उन्होंने कभी किसी के साथ ऐसा खिलवाड़ नहीं किया। कंगना ने इस दौरान यह भी कहा कि स्वरा भास्कर ने फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर जो भी अपने खुले पत्र में कहा था उससे वह काफी खुश थीं। कंगना रनौत कुछ वक्त पहले ऋतिक के साथ रिलेशनशिप को लेकर सुर्खियों में छाई रहीं। इस दौरान कंगना ने ऋतिक पर कई सारे आरोप भी लगाए। इसके बाद यह कंगना और ऋतिक की लाइफ की सबसे बड़ी कॉन्ट्रोवर्सी बन गई थी। कंगना ने ऋतिक के साथ अपने अफेयर की बात सार्वजनिक तौर पर कबूल करने के बाद पूरी इंडस्ट्री को चौंका दिया था।

कंगना रनौत ने एक बार फिर से अपने पास्ट रिलेशनशिप और अफेयर्स को लेकर Rising India Summit में खुलकर बात की। कंगना कहती हैं, ‘मेरा बॉयफ्रेंड मुझे कहता था कि तुम मेरी लाइफ के बारे में सब कुछ कैसे जानती हो? यह काला जादू है। इस सवाल के जवाब में मैंने कहा मेरा प्यार साइको था। ठीक है, मैं किसी और को ढूंढ लूंगी।’ अपने रिलेशनशिप को लेकर कंगना कहती हैं, ‘मेरे कई अफेयर्स रह चुके हैं। हर ब्रेकअप के बाद मैंने ऐसा महसूस किया कि मेरी लव लाइफ की पोटॉन्शियल खत्म हो रही है। मेरे लिए प्यार सिर्फ एक फिजिकल रिलेशन शिप नहीं है। वह स्पिरिच्उअल है। प्यार एक बहुत खूबसूरत अहसास है जो आपकी बॉडी के हर पार्ट को, हर सेल को महकाता है, तब… भी जब वह आपके आस-पास न हो।’

कंगना बताती हैं कि वह अपनी जिंदगी में हमेशा डंप हुई हैं। उनके साथ हमेशा खिलवाड़ हुआ है। ‘मेरी बहन भी कहती है कि तुम्हें ये कैरेक्टर कहां से मिल गया? मेरी लाइफ में ऐसा कोई भी एक रिलेशनशिप नहीं रहा होगा जिसमें मैं डंप नहीं हुई होंगी। 16 साल की उम्र से 31 साल तक मेरे साथ ऐसा हुआ। अगर मैं आपको उनके नाम बताऊं ना तो आप भी कहेंगे.. ये इंसान भी ऐसा था! हर किसी ने मुझे छोड़ दिया। हालांकि वह बाद में वापस भी आए। लेकिन मैंने अपनी जिंदगी में उन्हें दोबारा नहीं आने दिया। मैं हमेशा आगे बढ़ी।’

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत पर लिखे स्वरा भास्कर के लेटर पर कंगना कहती हैं कि वह खुश हैं वह पढ़ कर, जो भी स्वरा ने खत में लिखा। ‘जिस तरह से उन्होंने पत्र लिखा और समाज में उनकी टांग खींची गई, उसमें हमारा भी लॉस है। एक सोसाइटी के तौर पर हम वहां फेल हो गए। वह एक अच्छी आर्टिस्ट हैं, उनके पास अधिकार है कि वह क्या करें, क्या कहें क्या लिखें। हां पर्सनली मैं उनकी कुछ बातों से सहमत नहीं हूं जो उन्होंने पत्र में लिखा। लेकिन जिस तरह से उनके खत लिखे जाने पर लोगों ने उन्हें ट्रीट किया वह ठीक नहीं था। यकीनन स्वरा इससे इफेक्डेट नहीं होंगी। ‘

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here