Connect with us

बलिया स्पेशल

किसानों के समर्थन में उतरा बलिया, रामगोविंद चैधरी बोले- आंदोलन पर बल प्रयोग के लिए सरकार माफी मांगे !

Published

on

बलिया डेस्क:  मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को अब बलिया का साथ मिला है। आंदोलन के समर्थन में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति में शामिल विभिन किसान संगठनों  और संगठनों के लोगों ने गुरुवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना दिया।

वहीँ उत्तर प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने भी किसानो को अपना समर्थन दिया है। रामगोविंद ने कहा कि जिस तरह से आंदोलन को रोकने के लिए मोदी सरकार द्वारा किसानों पर बल का प्रयोग किया गया, वह निंदनीय है, सरकार को इसके लिए किसानों से माफी मांगनी चाहिए।

रामगोविंद ने ये बात गुरुवार को अपने आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात के दौरान कही। उन्होंने कहा कि किसान सरकार के सामने अपनी बात रखने के लिए दिल्ली आना चाहते थे। लेकिन सरकार ने उनकी बात सुनने के बजाए उनपर हमला करवा दिया। उन्हें रोकने के लिए बल का प्रयोग किया गया। इसकी जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है।

सरकार के इस रवैये से देशभर के किसानों में असहज स्थिति बनी हुई है। इसे सहज करने के लिए मोदी सरकार को किसानों से सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसान सरकार के नए कृषि कानूनों से खुश नहीं है, उसे डर है कि इस कानून के आने से देशी-विदेशी कंपनियां भारतीय नवरत्न कंपनियों की तरह खेती-बारी को भी निगल जाएगीं। किसान इसे काला कानून बता रहे हैं।

सरकार को चाहिए कि किसानों की बात सुने और उनके डर को दूर करे, न कि उनपर हमला करवाए। नेता प्रतिपक्ष ने किसान पर हमले को देश की आत्मा पर हमला बताया। उन्होंने कहा कि किसान अपनी खेती बारी से केवल खुद के लिए नहीं, बल्कि पूरे देश के लिए अन्न पैदा करता है।

उसके ऊपर हमला, मतलब देश के लिए अन्न पैदा करने वालों पर हमला है, देश की आत्मा पर हमला है। इसलिए सरकार को अपने इस कुकृत्य के लिए माफी मांगने में देर नहीं करना चाहिए। इस दौरान रामगोविंद ने सरकार के सामने कई मांगें भी रखीं। उन्होंने कहा कि किसानों पर बल प्रयोग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो। किसान आंदोलन में अपने प्राणों की आहुति देने वाले किसानों को शहीद का दर्जा प्रदान दिया जाए।

कॉरपोरेट के हित में बनाए गए कृषि संबंधी नए काले कानूनों को तत्काल वापस लिया जाए। एमएसपी को कानूनी रूप दें और घोषणा करें कि भविष्य में कृषि पर बनने वाले किसी भी तरह के कानून किसानों को विश्वास में लेकर ही बनाए जाएंगे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया स्पेशल

सपा ने बिल्थरा रोड नगर की कार्यकारिणी की घोषित, इन नेताओं को मिली जिम्मेदारी

Published

on

बलिया। उत्तरप्रदेश में 2022 में होने वाले चुनाव को लेकर हर पार्टी ने तैयारी तेज कर दी है।बलिया में भी समाजवादी पार्टी चुनाव की तैयारी जुटी है। जहां समाजवादी बिल्थरा रोड नगर की कार्यकारिणी की घोषणा की गई है। नगर अध्यक्ष शिवम बरनवाल ने नई कार्यकारिणी की घोषणा की है। 3 उपाध्यक्ष, 4 सचिव और एक – एक कोषाध्यक्ष के साथ ही महासचिव सहित 12 सदस्यों वाली कार्यकारिणी घोषित की गई। इस कार्यकारिणी में सभी वर्ग के लोगों को जगह दी गई है। नवनियुक्त पदाधिकारियों ने पार्टी का आभार जताया है। और जिम्मेदारी पर खरा उतरने की बात कही।

नई कार्यकारिणी में अतुल तिवारी, अब्दुल गनी और मोनू सोनी को उपाध्यक्ष बनाया गया है। अजय यादव, मनीष जायसवाल, गौरव सर्राफ़ और अंकित वर्मा को कार्यकारिणी में सचिव बनाया गया है। मनीष चौरसिया को कोषाध्यक्ष और तुषार तिवारी को नगर महासचिव का पद दिया गया है। कार्यकारिणी सदस्यों में सत्यम सर्राफ़, अरुण कुमार, अंकुर वर्मा, अफ़रोज़ अहमद, राहुल मद्धेशिया, सुमित जायसवाल, अमन वर्मा, अनंत सागर गुप्ता, सतीश यादव, दीपक यादव, नसरूल्लाह और अविनाश कन्नौजिया सम्मिलित हैं।

वहीं नगर अध्यक्ष शिवम बरनवाल ने बताया कि कार्यकारिणी के सभी सदस्यों के साथ जल्द ही एक बैठक की जाएगी। जिसमें आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति तैयार की जाएगी। पार्टी ने हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए कार्यकारिणी की घोषणा की है। सभी को जिम्मेदारी की गई। और उम्मीद है कि सभी अपनी जिम्मेदारी को बखूबी समझेंगे। हालांकि देखना होगा कि समाजवादी पार्टी को आगाजी विधानसभा चुनाव में कितना फायदा मिलता है।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

झमाझम बारिश से पानी-पानी बलिया, सड़कें लबालब, चौकी में भी भरा पानी

Published

on

बलिया। उत्तरप्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट है।बलिया जिले में भी बारिश का दौर जारी है। शुक्रवार को हुई झमाझम बारिश से जलभराव के चलते नगर की सड़कें और स्कूल तालाब में तब्दील हो गए। जलभराव की वजह से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।इतना ही नहीं भारी बारिश की वजह से सीयर चौकी में तक पानी घुस गया। जहां पुलिसकर्मी बारिश का पानी बाहर निकालते दिखे। बारिश के अलर्ट की वजह से सभी से सावधान रहने की अपील की जा रही है। बारिश के कारण जलभराव से बीमारियों का खतरा भी बढ़ रहा है।
बता दें खराब मौसम को देखते हुए मुख्यमंत्री ने स्कूल- कॉलेज को दो दिन के लिए बन्द कर दिया है। रात से हुई लगातार तेज बारिश से नगर की नालियों और सड़कों पर पूरा पानी भर गया। जिससे आने जाने में लोगो की परेशानियों का सामना करना पड़ा। नगर स्थित पुलिस चौकी सीयर के कार्यालय में तेज बारिश के चलते पानी भर जाने से वहां के पुलिसकर्मी पानी को बाहर बर्तन से फेकते नजर आये। वहीं नगर के मिडिल स्कूल और प्राथमिक तथा कस्तूरबा गांधी विद्यालय सीयर के प्रांगण में भी लगभग एक फीट जल जमाव हो गया है।

स्कूल परिसर में पानी इतना भर गया है कि पूरा स्कूल परिसर तालाब का रूप ले लिया है। जलभराव के चलते ड्यूटी कार्य के लिए कर्मचारियों को पानी से होकर कार्यालय में जाना पड़ा। जल निकासी की समस्या के चलते कई दिनों तक पानी लगा रहेगा। जिसके चलते मच्छरों और संक्रामक रोगों के फैलने की आशंका प्रबल हो गयी है। बारिश के बाद बीमारियों का खतरा बढ़ जाएगा। जिलें में डेंगू और मलेरिया के मरीज भी बढ़ रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के लिए भी चिंता बढ़ गई है।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

UP में भारी बारिश के चलते इतने दिन स्कूल-कॉलेज रहेंगे बंद, CM योगी का निर्देश

Published

on

उत्तर प्रदेश के 40 जिलों में 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश के चलते योगी सरकार ने दो दिन स्कूल-कॉलेजों बंद रखने का फैसला किया है। इस तरह बलिया समेत पूरे प्रदेश में शुक्रवार, शनिवार और फिर रविवार सहित तीन दिन स्कूल बंद रहेंगे। सीएम ने कहा कि इस आपदा के चलते जिलों में राहत कार्य प्रभावी रूप से कराने का आदेश दिया है। सीएम ने जनता से सावधानी बरतने की अपील की है। सीएम का कहना है कि इस मुश्किल घड़ी में सरकार जनता के साथ है। हर संभव मदद की जा रही है। राहतकार्य लगातार जारी है। सरकार की ओर से कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी।

बताया जा रहा है कि कई जिलों में तो लगातार दो दिन यानी 48 घंटे से बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है। जिसके चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मण्डलायुक्तों तथा जिलाधिकारियों को पूरी तत्परता से राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ अधिकारीगण क्षेत्र का भ्रमण कर राहत कार्यों पर नजर रखें। उन्होंने अगले 02 दिन 17 और 18 सितम्बर 2021 को प्रदेश में स्कूल-कॉलेजों सहित सभी शिक्षण संस्थानों को बन्द रखने के निर्देश दिए हैं। बलिया समेत पूरे प्रदेश में रविवार सहित दिन 3 तक स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोगों से सावधानी बरतने की अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस आपदा के दृष्टिगत जनपदों में राहत कार्य प्रभावी रूप से कराए जाएं। आपदा से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचायी जाए। जल जमाव की स्थिति में प्राथमिकता पर जल निकासी की व्यवस्था करायी जाए। उन्होंने सम्बन्धित जनपदों के अधिकारियों को इस आपदा से हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश दिए हैं।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!