Connect with us

बलिया

बलिया: मंदिर से 300 मीटर दूर मिली पुजारी की लाश, इलाके में फैली सनसनी

Published

on

बलिया के एक मंदिर की पुजारी की लाश मिलने से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। आपको बता दे की पुजारी की लाश मंदिर से सिर्फ 300 मीटर की दूरी पर मिली है, जिसके बाद से पूरे इलाके में हड़कंप बच गया है। हर किसी का यही सवाल है कि आखिर पुजारी की हत्या क्यों और किसने की।

बताया जा रहा है कि पुजारी का शव पुराने ईंट भट्ठे के गड्ढे में मिला है। शव के पास एक खाली लोटा मिला है। मृतक के शरीर पर खून के निशान पाए गए हैं और हाथों में मिट्टी फंसी मिली है। पुजारी की इस हालत में लाश मिलने से कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं।फिलहाल पुलिस मौके पर पहुंच गई है और पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक घटना बांसडीह थानाक्षेत्र के बड़सरी गांव का है। मृतक पुजारी की पहचान 70 वर्षीय राजनाथ तिवारी उर्फ श्रृंगारी महाराज के रूप में की गई है। मृतक उसी गांव के रहने वाले थे और वहीं मंदिर में ही पूजा पाठ की जिम्मेदारी निभाते थे। वे दिन भर मंदिर में रहते थे और रात को वहां से 1 किलोमीटर दूर अपने घर चले जाते थे। सोमवार की रात जब वे अपने घर नहीं पहुंचे तो परिवार के लोगों को उनकी चिंता होने लगी।

तब श्रृंगारी महाराज के दो भतीजे और परिवार की महिलाओं ने रात में ही उनकी तलाश की। अगले दिन मंदिर से करीब 300 मीटर दूर उनकी लाश मिली।​​ मृतक के भतीजे त्रिवेणी और आशीष जब मंदिर से 300 मीटर दूर पुराने ईंट भट्ठे के गड्ढे के पास पहुंचे तो देखा कि चाचा की लाश पड़ी है। उनकी लाश मुंह के बल पड़ी मिली और शरीर पर खून के छींटे भी देखे गए। पास में ही एक खाली लोटा पड़ा था।

मृतक के परिजनों ने बताया कि उनके हाथ में मिट्टी फंसी थी जिससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि किसी से हाथापाई जरूर हुई होगी। पुलिस और फारेंसिक टीम ने मौके पर सबूत इकट्ठा किए हैं।

ग्रामीणों के मुताबिक राजनाथ तिवारी बेहद सज्जन व्यक्ति थे और वे किसी तरह का व्यसन नहीं करते थे। मंदिर के पास ही कुछ महिलाएं कच्ची शराब बनाने का काम करती हैं। मंदिर का पुजारी होने के नाते राजनाथ तिवारी ने इसका विरोध भी किया था। लोगों का यह भी मानना है कि इन महिलाओं और कच्ची शराब की बिक्री से जुड़े लोगों से भी पूछताछ करनी चाहिए।

जानकारी के अनुसार 70 वर्षीय पुजारी का अपना कोई परिवार नहीं है। उनके भाई का परिवार है और वे उन्हीं के साथ रहते थे। वहीं मौके पर पहुंचे कोतवाल स्वतंत्र कुमार सिंह से मंदिर के बगल में बन रही कच्ची शराब की शिकायत हुई है। कोतवाल ने कहा कि कच्ची शराब बनाने वाला कोई भी हो छोड़ा नहीं जाएगा। आप लोगों को हमें पहले ही जानकारी देनी चाहिए थी।

इधर पुजारी की हत्या के बाद से लोग सकते में हैं और उन्होंने मामले की गहराई से जांच करने की मांग की है।

बलिया

बलिया के बैरिया में बोलेरो ने बाइक सवारों को मारी टक्कर, 2 की मौत

Published

on

बलिया के बैरिया थाना क्षेत्र के NH-31 पर स्थित जयप्रभा सेतु पर बुधवार की सुबह दर्दनाक हादसा हो गया। यहां एक तेज़ रफ्तार बोलेरो ने 2 बाइक पर सवारों को जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में बाइक पर सवार 3 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इसमें से एक की अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में मौत हो गई। जबकि दूसरे की इलाज के दौरान मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि छपरा शहर के मंगाईडीह से लौट रही बारात में शामिल बोलेरो के सामने जयप्रभा सेतु पर ओवरटेक के दौरान अचानक 2 बाइक आ गई। इससे बोलेरो और बाइक की आपस में जोरदार टक्कर हो गई। टक्कर इतनी तेज़ थी कि बाइक सवार 3 लोग फिल्मी स्टाइल में हवा में उछलकर सेतु पर दूर जा गिरे। इसमें मांझी के जैतपुर उच्च विद्यालय में तैनात शिक्षक और बिहार प्रान्त के बक्सर जिले के रघुनाथपुर निवासी फहीमुद्दीन अहमद, बक्सर के मदहां गांव निवासी विनायक सिंह और दूसरी बाइक पर सवार सिवान के हुसेनगंज ब्लॉक में अमीन के पद पर तैनात व बक्सर निवासी सचिन कुमार साहनी गम्भीर रूप से जख्मी हो गए।

सूचना पर पहुंची माझी पुलिस ने तीनों घायलों को माझी सीएचसी उपचार के लिए ले जा रहे थे जिसमें फहीमुद्दीन अहमद की रास्ते में ही मौत हो गई। जबकि अस्पताल में इलाज के दौरान सचिन साहनी की भी मौत हो गई। माझी पुलिस ने दोनों साहू को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए छपरा भेज दिया

इधर सड़क हादसे के बाद बोलेरो में सवार बराती व चालक गाड़ी में ही सारा सामान छोड़कर भाग निकले। बराती व बोलेरो चालक सिताब दियारा के बताए जाते हैं। यूपी के बैरिया थाना के चौकी चांददीयर की पुलिस ने क्षतिग्रस्त दोनों बाइक व बोलेरो को कब्जे में ले लिया।

Continue Reading

featured

बलिया में दूल्हे पर एसिड अटैक, पूर्व प्रेमिका ने दिया वारदात को अंजाम

Published

on

बलिया के बांसडीह थाना क्षेत्र में एक हैरान कर देने वाले घटना सामने आई हैं। यहां शादी की रस्मों के दौरान एक युवती ने दूल्हे पर तेजाब फेंक दिया, इससे दूल्हा गंभीर रूप से झुलस गया। मौके पर मौजूद महिलाओं ने युवती को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। फिलहाल पुलिस बारीकी से पूरे मामले की जांच कर रही है।

बताया जा रहा है की घटना को अंजाम देने वाली युवती दूल्हे की पूर्व प्रेमिका है। उसका थाना क्षेत्र के गांव डुमरी निवासी राकेश बिंद के साथ बीते कई वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती ने युवक से शादी करने का कई बार दबाव बनाया, लेकिन युवक ने शादी करने से इन्कार कर दिया। इस मामले में कई बार थाना और गांव में पंचायत भी हुई, लेकिन मामला सुलझा नहीं।

इसी बीच राकेश की शादी कहीं ओर तय हो गई। मंगलवार की शाम राकेश की बारात बेल्थरारोड क्षेत्र के एक गांव में जा रही थी। महिलाएं मंगल गीत गाते हुए दूल्हे के साथ परिछावन करने के लिए गांव के शिव मंदिर पर पहुंचीं। तभी घूंघट में एक युवती पहुंची और दूल्हे पर तेजाब फेंक दिया। इस घटना से दूल्हे के पास में खड़ा 14 वर्षीय राज बिंद भी घायल हो गया। दूल्हे के चीखने चिल्लाने से मौके पर हड़कंप मच गया। आनन फानन में दूल्हे को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसका इलाज किया जा रहा है।

मौके पर पहुंची पुलिस युवती को थाने ले गई और दूल्हे को जिला अस्पताल भेज दिया। थानाध्यक्ष अखिलेश चंद्र पांडेय ने कहा कि तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

Continue Reading

बलिया

बलिया में पति ने लाठी डंडों से पीट-पीटकर पत्नी को उतारा मौत के घाट

Published

on

बलिया के नगरा थाना क्षेत्र से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक कलयुगी पति ने अपनी पत्नी की लाठी डंडों से पीट कर मौत के घाट उतार दिया। इस घटना के बाद से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। क्षेत्रीय लोगों में डर का माहौल देखा जा रहा है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ FIR दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

बताया जा रहा है कि नरही थाना क्षेत्र में राजू गुप्ता ने अपनी पत्नी की डंडे से पीट कर हत्या कर दी। इस घटना की जानकारी मृतिका के बेटे सुमंत ने पुलिस को दी। बेटे की तहरीर पर पुलिस ने पिता के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

पुलिस को दी तहरीर में सुमंत गुप्ता ने बताया कि मैं करीब दो माह से अपनी पत्नी के साथ अपने ससुराल नरही थाना के बसंतपुर में रहता हूँ। मेरे पिता राजू गुप्ता करीब 15 दिन से नरही थाना के लक्ष्मणपुर गांव निवासी भरत चौरसिया के मकान में किराये पर कमरा लेकर मेरी मां कुमकुम देवी 45 वर्ष के साथ रहने लगे। मंगलवार को मेरी मां कुमकुम देवी करीब बजे दिन में मुझसे मिलने मेरे ससुराल बसंतपुर में आयी थी। शाम को करीब साढ़े छह बजे मेरे पिता ससुराल आए और मेरी माँ को साथ में ले जाने की जिद्द करने लगे, लेकिन बेटे ने मां को ले जाने से इंकार कर दिया। बेटे का कहना था कि पिता शराब पीकर मां को मारते-पीटते थे। इसलिए हम लोग ले जाने से मना किया। लेकिन वह नहीं माने और मेरी माँ को लेकर साथ में चल गए।

रात करीब आठ आरोपी ने महिला के साथ झगड़ा किया और लाठी-डण्डा और ईंट से महिला को मारकर गम्भीर रूप से घायल कर दिया। मौके पर पहुंचे लोगों महिला को अस्पताल भिजवाया। लेकिन अस्पताल में महिला की मौत हो गई। इधर दाह संस्कार करने को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे मृतक के मायके वाले व मृतका के बेटे के बीच हाथापाई भी हुई। अंत में पोस्टमार्टम के बाद बेटे को शव सुपुर्द किया गया। जिसके बाद महावीर घाट पर महिला का अंतिम संस्कार किया गया। फिलहाल इस मामले में नरही पुलिस ने बेटे द्वारा दिए गए तहरीर के आधार पर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दिया है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!