Connect with us

सिकंदरपुर

Ballia- यहाँ देखें नवानगर के किस गावं में कौन बना प्रधान !

Published

on

बलिया : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम आने लगे है। ग्राम प्रधान चुनाव में इस बार कई ब्लॉकाें में कांटे की टक्कर देखने को मिली। कहीं दो वोट तो किसी ने जीत हासिल की तो कहीं तीन वोट से।

विकासखंड नवानगर ब्लाक से जीते उम्मीदवारों के नाम

नवानगर ब्लाक के रुद्रवार से नमिता राय चकभड़िकरा में जेपी वर्मा, बघुडी से राजेश वर्मा, ईसारपिथापट्टी से शिवशंकर यादव, शेखपुर से हाकिम कनौजिया, चकपुरुषोतम स्वामीनाथ यादव, चकखान निशा देवी, हुसैनपुर सीमा देवी, नवानगर नीतीश कुमार, भांटी विनोद वर्मा, तेंदुआ रीना सिंह, देवकली सुनील पांडेय ने जीत दर्ज किया।

मतगणना अभी चल रही है। बाकी रिजल्ट आने पर इस खबर को अपडेट किया जाएगा। 

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

सिकंदरपुर विधायक का रिपोर्ट कार्ड, जनता से जानिए कैसा रहा कार्यकाल ?

Published

on

सिकंदरपुर डेस्क : विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर बलिया ख़बर की टीम अलग अलग विधानसभा क्षेत्रों में जाकर मौजूदा विधायक के कार्यकाल के बारे में जनता से जान रही है। इसी क्रम में आज हमारी टीम ने सिकंदरपुर जाकर जनता से बातचीत की और वहां मौजूदा विधायक के कार्यकाल के बारे में जानकारी जुटाई। तो चलिए देखते हैं कैसा रहा सिकंदरपुर से भाजपा विधायक संजय यादव का पांच साल का कार्यकाल और इस दौरान उन्होंने क्षेत्र को क्या सौगा

सिकंदरपुर विधानसभा सीट बलिया जिले की महत्वपूर्व विधानसभा सीट है। संजय यादव 2017 में सपा के जियाउद्दीन रिजवी को शिकस्त देकर विधायक बने थे। लेकिन उनके पांच साल के कार्यकाल से जनता खुश नजर नहीं आई। जब बलिया ख़बर ने स्थानीय लोगों ने बातचीत की तो विधायक के कामों को लेकर कुछ लोग खुश दिखे तो अधिकतर लोगों में नाराज़गी दिखी।

सिकंदरपुर निवासी प्रवीण ने बताया कि क्षेत्र में सड़कों की हालत बहुत खराब है। 5 सालों में कुछ काम नहीं हुआ। कुछ सड़के बनी लेकिन वह भी जल्द ही क्षतिग्रस्त हो गई। अगर उनकी क्वालिटी पर ध्यान दिया जाता तो रहवासियों को आवागमन में परेशानी नहीं आती। अब सड़कों पर जगह जगह उड़ती धूल से परेशान हैं। गड्ढों में गिरकर लोग घायल हो जाते हैं लेकिन सुनने वाला कोई नहीं है।

क्षेत्र के गौतम गुप्ता ने बताया कि विधायक यादव ने अपने कार्यकाल में विकासकार्यों की सौगात दी लेकिन जनता की मूलभूत सुविधाओं की तरफ ही ध्यान नहीं दिया। घर-घर पानी, बिजली की व्यवस्था पहले होनी चाहिए थी। लेकिन अब भी लोग परेशान हैं। कई लोगों को सरकारी योजना का लाभ तक नहीं मिला।

कोरोनाकाल में विधायक का कैसा कार्य रहा, इस सवाल पर क्षेत्रीय महिला आशा ने बताया कि कोरोनाकाल में सबसे ज्यादा मार गरीबों पर पड़ी है लेकिन विधायक का ध्यान हम जैसे गरीबों पर नहीं रहा। न तो अस्पताल में इलाज मिला, ऑक्सीजन के लिए भटकना पड़ा। आज भी अस्पताल में हालात यही हैं। गरीबों को इलाज नहीं मिल पाता।

सरकारी योजनाओं का लाभ उपलब्ध कराने के सवाल पर लोगों की नाराजगी साफ दिखी। लोगों ने बताया कि क्षेत्र में बहुत कम लोगों को ही सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सका। अभी भी सैंकड़ों लोग हैं जिन्हें पीएम आवास नहीं मिल पाए हैं, राशन तक नहीं मिलता।

संजय यादव से युवा खासतौर पर नाराज नजर आए। इलाके के रवि ने बताया कि कोई नया कॉलेज नहीं खुला है। पढ़ाई को लेकर अच्छे कार्य होना थे जो नहीं हुए। रोजगार की भी कोई व्यवस्था नही हैं। युवा परेशान हैं। जनता से बातचीत में पता चला कि लोग विधायक के कार्यकाल से खुश नहीं है। बहरहाल आने वाले वक्त में सिकंदरपुर की सीट में फिर से कमल खिलेगा या नहीं, ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

बलिया में डिप्टी CM ने 125.74 करोड़ की परियोजनाओं का किया लोकार्पण, गिनाई उपलब्धियां

Published

on

बलियाः प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सिकन्दरपुर में आयोजित कार्यक्रम में सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। उन्होंने कुल 125 करोड 74 लाख की परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया। इसमें करीब 53 करोड़ की 48 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण व 64 करोड़ की 42 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इसके अलावा सिकंदरपुर क्षेत्र की कुल छह महत्वपूर्ण पुलिया का भी डिप्टी सीएम ने शिलान्यास किया।

इस अवसर पर आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए श्री मौर्य ने कहा कि सरकार बनने के बाद पारदर्शी तरीके से हर पात्र को आवास योजना का लाभ दिया गया। नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की सभी सड़कें दुरूस्त कराई गईं। किसानों को दसवीं किस्त के रूप में दो-दो हजार की किसान सम्मान निधि की राशि उनके खाते में भेजा गया। कानून व्यवस्था को बेहतर बनाया गया, जिसकी वजह से आज गुंडे यूपी छोड़ भाग रहे हैं।

डिप्टी सीएम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा उत्तर प्रदेश के चहुंमुंखी विकास के लिए किए जा रहे कार्याें को विस्तार से बताया। कार्यक्रम में सांसद सलेमपुर रविन्दर कुशवाहा, विधायक सिकंदरपुर संजय यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, जिलाधिकारी अदिति सिंह, एसडीएम सिकंदरपुर प्रशांत नायक, डिप्टी कलेक्टर राहुल यादव, जिला सूचना अधिकारी अनुराग रंजन समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

इन पांच पुलों का हुआ शिलान्यास– डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने पांच पुलों का शिलान्यास किया। सिकंदरपुर क्षेत्र के मरवटिया नेहता के सामने नादी नाला पर पुलिया, सोनपुरवा करियापार के बीच नाले पर पुलिया, मासूमपुर चैहान बस्ती भूड़ाडीह गांव के सामने बहेरा नाला पर पुलिया, एकमटिया धड़सरा गांव के पास नाले पर पुलिया एवं अप्रोच मार्ग तथा बनकट से हरदिया मार्ग पर भेड़ी ड्रेन पर पुलिया के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया।

Continue Reading

featured

सिकंदरपुर में डिप्टी सीएम के कार्यक्रम से पहले फटे बैनर-पोस्टर, जानिए पूरा मामला

Published

on

बलियाः सोमवार को सिकंदरपुर में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का आगमन हुआ। चेतन किशोर मैदान में डिप्टी सीएम आए लेकिन इस दौरान भाजपा की गुटबाजी सामने आई। कार्यक्रम से पहले ही स्वागत गेट पर लगे बैनर फाड़ दिए गए। जानकारी के मुताबिक डिप्टी सीएम के कार्यक्रम के पहले सभी कार्यकर्ताओं ने अपने पोस्टर लगाए थे। लेकिन वह पोस्टर फाड़ दिए गए। इसको लेकर सिकंदरपुर भाजपा नेता डॉक्टर विजय रंजन ने अपने फेसबुक पर पोस्ट किया और आक्रोश जताया है।

बलिया ख़बर से बातचीत में विजय रंजन ने बताया कि कार्यक्रम स्थल पर लगे सभी पोस्टर फाड़ दिए गए, केवल वर्तमान विधायक का पोस्टर बचा हुआ था। बता दें कि विजय रंजन सिंकदरपुर से प्रबल दावेदार हैं और समाज में उनकी अच्छी पकड़ है। इस घटना के बाद उनके समर्थकों में भी नाराजगी है। गौरतलब है कि आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी प्रत्याशियों में टिकट पाने की होड़ लगी हुई है। इसी को लेकर बैनर-पोस्टर की राजनीति भी तेज हो गई है।

वहीं सिंकदरपुर निवासी आशीष ने बताया कि बड़ी तैयारी के साथ भाजपा ने लोगों की भीड़ इक्ट्ठा की थी, ताकि कार्यक्रम को भव्य बनाया जा सके लेकिन विधायक संजय यादव ने कार्यकर्ताओं की मेहनत पर पानी फेर दिया। वहीं पोस्टर कांड के बाद विधायक पर तमाम आरोप लग रहे हैं क्योंकि कार्यक्रम स्थल पर उनके पोस्टर को छोड़कर बाकी सभी प्रत्याशियों के पोस्टर फाड दिए गए। बहरहाल इस पोस्टर कांड के बाद भाजपा की गुटबाजी सामने आ गई है। डिप्टी सीएम के आने से पहले इस तरह की घटना कहीं न कहीं पार्टी में पड़ी फूट को उजागर कर रही है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!