Connect with us

featured

बलिया में शक्ति प्रदर्शन करने आ रहे हैं शिवपाल सिंह यादव, क्या हो पाएंगे कामयाब?

Published

on

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही छोटी-बड़ी सभी राजनीतिक दल और उनके नेता सक्रिय हो गए हैं। प्रदेश में रैलियों और जनसभाओं का दौर शुरू हो गया है। सियासी गलियारों में हलचल बढ़ गई है। सियासी ताप सबसे अधिक प्रदेश की छोटी राजनीतिक दलों ने बढ़ाई है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव इन दिनों उत्तर प्रदेश में परिवर्तन रथ यात्रा निकाल रहे हैं। ये परिवर्तन रथ यात्रा आगामी शनिवार को उत्तर प्रदेश के बलिया पहुंचेगी।

बलिया जिला के फेफना विधानसभा सभा क्षेत्र में आने वाले 13 नवंबर को शिवपाल सिंह यादव परिवर्तन रथ यात्रा यात्रा लेकर आ रहे हैं। फेफना में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यकर्ता शनिवार को होने वाले इस रैली की तैयारियों में जुटे हैं। परिवर्तन रथ यात्रा को लेकर जिले भर में प्रचार कार्य भी चल रहा है। ताकि शिवपाल सिंह यादव की यात्रा में लोगों की भीड़ जुटाई जा सके।

बुधवार यानी आज प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रदेश महासचिव नीरज सिंह गुड्डू और फेफना विधानसभा क्षेत्र के नेता सतीश कुमार चौधरी उर्फ नागा चौधरी ने प्रचार वाहन को झंडी दिखाकर रवाना किया। नीरज सिंह और सतीश कुमार चौधरी ने मां कपिलेश्वरी भवानी मंदिर से प्रचार गाड़ी को हरी झंडी दिखाई। यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए नीरज सिंह ने कहा कि बलिया में शिवपाल सिंह यादव अपनी पूरी सेना के साथ आ रहे हैं। बांसडीह और फेफना में परिवर्तन रथ यात्रा का जोरदार स्वागत होगा।

आज फेफना में यात्रा की तैयारी जोर-शोर से आगे बढ़ी। प्रचार गाड़ी क्षेत्र में घूमने लगी है। इस मौके पर पूर्व ब्लाक प्रमुख मंजू चौधरी, जिलाध्यक्ष राहुल चौबे, रजनीश यादव, शहंशाह आब्दी, राज बहादुर यादव, कंचन भारती और राकेश समेत अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

शिवपाल सिंह यादव परिवर्तन रथ यात्रा के जरिए प्रदेश में अपना शक्ति प्रदर्शन करने की कवायद कर रहे हैं। बलिया में भी उनकी यही कोशिश है। हालांकि उनकी यह कोशिश कितनी कामयाब होगी यह तो चुनाव में ही पता चलेगा। लेकिन फौरी तौर पर शिवपाल यादव इस यात्रा के माध्यम से लखनऊ में बैठे अपने भतीजे और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अपने भतीजे अखिलेश यादव के पास एक संदेश भेजने की कोशिश कर रहे हैं।

गौरतलब है कि शिवपाल यादव और अखिलेश यादव दोनों ही चुनाव में एक साथ आने के संकेत दे चुके हैं। शिवपाल सिंह यादव ने हाल ही में कहा था कि अगर उनके साथ-साथ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यकर्ताओं को भी पूरा सम्मान मिलता है तो वो अपनी पार्टी का विलय समाजवादी पार्टी में कर देंगे। अखिलेश यादव भी सार्वजनिक मंचों से कह चुके हैं कि शिवपाल यादव सपा में आएं उनका पूरा सम्मान होगा।

चाचा-भतीजे की जोड़ी कब एक होती है इसका जवाब तो भविष्य में मिलेगा। लेकिन चाचा शिवपाल अपने परिवर्तन रथ यात्रा से भतीजे अखिलेश को अपनी ताकत दिखाने के लिए खूब जमीन जोत रहे हैं। फेफना में होने वाली यात्रा में लोगों की क्या प्रतिक्रिया होगी, ये बड़ा सवाल रहेगा।

featured

तीन मार्गों को मिलाकर बन गया नया स्टेट हाईवे, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा बलिया

Published

on

ghajipur-turtipar road and purvanchal express-way

बलिया जिले को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जोड़े जाने के लिए शासन की ओर से लगातार कोशिश की जा रही है। लिंक एक्सप्रेस-वे का निर्माण भी बलिया जिले को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जोड़ने के लिए हो रहा है। अब एक और रास्ता बनाया जा रहा है जो बलिया को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जोड़ेगा। लोक निर्माण विभाग ने गाजीपुर से तुर्तीपार तक के तीन सड़कों को मिलाकर स्टेट हाईवे घोषित कर दिया है।

लोक निर्माण विभाग के अधीशासी अभियंता ने मीडिया से बातचीत में कहा है कि “गाजीपुर से तुर्तीपार रोड अब स्टेट हाईवे हो गया है। इसे कोड भी आवंटित कर दिया गया है। यह रास्ता पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जुड़ता है। इसलिए संबे समय से इसे गड्ढा मुक्त किए जाने की मांग हो रही थी।”

गाजीपुर से तुर्तीपार तक के 74 किलोमीटर लंबी तीन सड़कों को मिलाकर स्टेट हाईवे बना दिया गया है। लोक निर्माण विभाग की ओर से इसे स्टेट हाईवे कोड 108 दिया गया है यानी एसएच-108. एसएच-108 का 47 किलोमीटर हिस्सा बलिया से गुजरता है। इस हाईवे को अगले वर्ष में फोर लेन बनाने की योजना है। फिलहाल इसे गड्ढा मुक्त बनाया जा रहा है। दैनिक जागरण की एक खबर के मुताबिक बलिया के 47 किलोमीटर हिस्से में अब तक पांच सौ से ज्यादा गड्ढे भर दिए गए हैं।

बलिया के हिस्से की सड़क का चालीस लाख रुपए की लागत से पैचवर्क किया गया है। हालांकि पूरी एसएच-108 का हाल अभी दुरुस्त नहीं हो सका है। गाजीपुर के हिस्से की सड़क अभी भी गड्ढों से पटी हुई है। गाजीपुर में 27 किलोमीटर का मार्ग है। इसे गड्ढा मुक्त किया जाना अभी बाकि है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर कासिमाबाद राही इसी रास्ते बलिया आते-जाते हैं।

Continue Reading

featured

UPTET 2021 की परीक्षा हुई रद्द, पेपर लीक, सॉल्वर गैंग के कई सदस्य गिरफ्तार

Published

on

उत्‍तर प्रदेश में आज (रविवार) यानी 28 नवंबर को आयोजित हो रही UPTET परीक्षा पेपर लीक के चलते रद्द कर दी गई है. परीक्षा का प्रश्‍नपत्र वॉट्सऐप पर लीक हो  गया.

बताया जा रहा है कि पेपर लीक होने की वजह से परीक्षा रद्द हो गई है. इसी के साथ सॉल्वर गैंग के कई मेंबर्स भी गिरफ्तार कर लिए गए हैं. फिलहाल, एसटीएफ मामले की जांच में जुटी है.

पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, मथुरा, गाजियाबाद, बुलंदशहर के व्हाट्सएप ग्रुप पर वायरल हुआ था पेपर. वहीं, बताया जा रहा है कि एक महीने बाद दोबारा परीक्षा आयोजित की जाएगी. साथ ही, अभ्यर्थियों को दोबारा कोई भी फीस नहीं देनी होगी.

Continue Reading

featured

बलिया में भासपा को झटका, पुनीत कांग्रेस में शामिल, छत्तीसगढ़ के CM ने दिलाई पार्टी की सदस्यता

Published

on

बलिया। सुभासपा के प्रदेश उपाध्यक्ष पुनीत पाठक ने शुक्रवार की शाम लखनऊ स्थित प्रदेश कार्यालय पर कांग्रेस में शामिल हो गए। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन्हें पार्टी की सदस्यता ग्रहण करायी।

पुनीत पाठक ने बुधवार को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सभी पदों से त्यागपत्र दे दिया है। जिसके बाद उन्होंने साफ कर दिया था कि कांग्रेस ज्वाइन करेंगे।

बलिया खबर के साथ बातचीत में पुनीत पाठक ने  बताया था कि “हम आने वाले 26 नवंबर को कांग्रेस ज्वाइन करेंगे। लखनऊ में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मौजूदगी में हम कांग्रेस में शामिल होंगे।”

पुनीत पाठक पूर्व मंत्री स्व. बच्चा पाठक के पौत्र हैं। कांग्रेस में शामिल होने से सुभासपा को बांसडीह विधानसभा क्षेत्र में करारा झटका लगा है। पुनीत पाठक के साथ रेवती के ब्लॉक प्रमुख वीर बहादुर राजभर ने भी कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की।

पुनीत ने कहा कि बाबा (स्व. बच्चा पाठक) के आदर्शों पर चलकर कांग्रेस को पूरी ताकत के साथ मजबूत करने का कार्य करेंगे। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा का चुनाव मुहाने पर आ चुका है। कांग्रेस युवाओं को अपने साथ जोड़ने की कोशिश में लगी है। पुनीत पाठक उसी कोशिश के परिणाम हैं। बलिया में सात विधानसभा सीटें हैं।

फिलहाल एक भी सीट पर कांग्रेस का विधायक नहीं है। जिले में पार्टी का संगठन खड़ा करने की जुगत चल रही है। देखना होगा कि पुनीत पाठक को बलिया में किस भूमिका में कांग्रेस सामने लाती है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!