Connect with us

उत्तर प्रदेश

यूपी में बंद 108 आईटीआई कॉलेजों की जांच होगी- सीएम योगी

Published

on

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को लोकभवन में कौशल विकास और उद्यमशीलता विभाग से संबंधित विषय पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश में बंद हुई 108 प्राइवेट आईटीआई की जांच करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही कहा कि युवाओं को स्थानीय स्तर पर ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर मुहैया हो, इसके लिए स्थानीय जरूरतों को देखते हुए कौशल विकास का पाठ्यक्रम निर्धारित किया जाए। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार का लक्ष्य है कि पाइप पेयजल और बुनियादी सुविधाएं मुहैया करवाई जाएं। इसके लिए प्लम्बरिंग और राजमिस्त्री का प्रशिक्षण दिए जाने की जरूरत है। सीएम ने कहा कि सभी विकास खंडों में युवाओं के कौशल विकास की प्रभावी कार्ययोजना तैयार करवाई जाए। इन ट्रेडों को शामिल किए जाने के बाद सरकार ढाई से तीन लाख लोगों को प्लेसमेंट दे सकती है। उन्होंने कहा कि सभी आईटीआई में बायोमेट्रिक हाजरी अनिवार्य की जाए और इससे आधार से लिंक कराया जाए।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में हो रही सड़क दुर्घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए प्रदेश में ड्राइवर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट की प्रगति पर भी सवाल किया। इसके अलावा उन्होंने आईटीआई में इस ट्रेड को विकसित किए जाने पर जोर दिया। उन्होंने 121 चीनी मिलों में रोजगार सृजन को लेकर बच्चों को तैयार करने पर जोर दिया। मुख्यमंत्री ने 22 अगस्त से 28 अगस्त तक कजान, रुस में आयोजित हो रही विश्व कौशल प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश के 4 प्रशिक्षार्थियों के चयनित होने पर खुशी जताते हुए उनकी बेहतर तैयारी कराने के निर्देश दिए।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उत्तर प्रदेश

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम की तबियत बिगड़ी, मेदांता में हुए भर्ती

Published

on

लखनऊ। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबियत शुक्रवार की शाम अचानक बिगड़ गई। आनन-फानन में उन्हें लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। फिलहाल डॉक्टरों की टीम मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य की निगरानी कर रही है। मेदांता के डॉक्टरों के मुताबिक, मुलायम सिंह की हालत फिलहाल ठीक है। बता दें कि मुलायम सिंह माह भर पहले भी मेदांता में भर्ती हुए थे। उस वक्त उन्हें आंत में समस्या थी।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

कल बलिया आएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ, मंत्री ने दी जानकारी!

Published

on

बलिया : उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ कल यानी की 26 जुलाई को बलिया आ रहे हैं. इसकी जानकारी बलिया के विधायक और यूपी सरकार के मंत्री आनंद स्वरूप ने दी है. मंत्री आनंद स्वरूप ने सोशल मीडिया पर यह बात बताई है.

#कोरोना आपदा…कल २६ जुलाई को संवेदनशील माननीय #मुख्यमंत्री पूज्य #योगी आदित्य नाथ जी #बलिया आ रहें हैं।पूर्वाह्न ११.३० से अपराह्न १.३०बजे तक रहेंगे जनपद में।

Posted by Anand Swarup Shukla on Friday, July 24, 2020

उन्होंने बताया है कि सीएम योगी 11:30 से लेकर 1:30 बजे तक, क़रीब दो घंटे बलिया में रहेंगे. दरअसल बलिया में बाढ़ का ख़तरा और कोरोना के मरीज़ बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में कहा जा रहा है कि अपने इस दौरे के दौरान सीएम योगी इस दिशा में अधिकारियों को ज़रूरी दिशा निर्देश दे सकते हैं.

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

हैलो मैं गृह विभाग से बोल रहा हूं, आप सस्पेंड हो जाआगे, जब इस थाने के हेड कांस्टेबल को फोन से मिली धमकी!

Published

on

बलिया डेस्क. हैलो जनार्दन यादव बोल रहे हैं…., जी सर, आपको क्या प्रॉब्लम है श्रीराम यादव जो बारजा निकाल रहे हैं. बता दे रहा हूं लास्ट स्टेज चल रहा है आप सस्पेंड हो जाएंगे जनार्दन जी. जी हां कुछ इसी अंदाज में भीमपुरा थाना क्षेत्र के ठकुरहीं चरौवा गांव निवासी आजमगढ़ जिले के बिलरियागंज थाने में तैनात हेड कांस्टेबिल जनार्दन यादव को किसी ने गृह विभाग से फोन कर नौकरी से सस्पेंड करने की धमकी दी है.

मामले में पीड़ित कांस्टेबिल जनार्दन यादव ने कॉल की रिकार्डिंग थानाध्यक्ष से लगायत एसपी व डीआईजी तक भेज दी है तथा न्याय की गुहार लगाई है, लेकिन अफसोस उप्र पुलिस के इस कांस्टेबिल की अभी तक सुनवाई नहीं हुई है, जिससे कांस्टेबिल जनार्दन यादव खुदको उपेक्षित महसूस कर रहा है व पुलिस की नौकरी करने के कारण खुदको कोस रहा है.

भीमपुरा थाना क्षेत्र ठकुरहीं चरौवा गांव निवासी जनार्दन यादव आज से 20 साल पहले 2001 में सड़क निर्माण के लिए अपने सहन से लगभग चार फीट रास्ता छोड़ा था उस वक्त इस रास्ते से सिर्फ जनार्दन यादव के ही परिवार के लोग आते-जाते थे. बाद में 2005 में इसी सड़क को जनार्दन यादव ने सार्वजनिक रास्ते के लिए सहमति दे दी थी.

जिसके बाद कच्ची सड़क आरसीसी में तब्दील हो गया. इसके बाद 2011 में जनार्दन यादव के ही पड़ोसी श्रीराम यादव सड़क से सटाकर मकान बना लिया. मामला यहां तक तो सब कुछ ठीक था, इधर अचानक श्रीराम यादव के मन में क्या आया कि अचानक बीते 14 मई को वे मकान के आगे बारजा निकालने की कोशिश की.

इस पर जनार्दन यादव के पुत्र अजय यादव ने डायल 112 नंबर पर कॉल किया, इसके बाद मामले की शिकायत एसडीएम बेल्थरारोड से की. जिस पर बेल्थरारोड ने तहसीलदार के साथ-साथ थानाध्यक्ष को आदेशित किया कि सड़क के उपर अवैध निर्माण नहीं होना चाहिए तत्काल इसे रोका जाए.

इसके बाद जनार्दन यादव का आरोप है केि उनको मोबाइल  नंबर से  कॉल करके गृह विभाग से उन्हें नौकरी से सस्पेंड करने की धमकी दी गयी. अभी मामले शिकायत चल ही रही थी कि आरोप है कि श्रीराम यादव ने पुलिस को मिलाकर आखिरकार बीते 21 मई को बारजा निकाल कर अवैध निर्माण करा ही लिया.

आरोप यह भी है कि श्रीराम यादव ने आठ वर्ष पुरानी बिना बारजे की मकान में सड़क की ओर बारजा निकाला है. जनार्दन यादव का कहना है कि उन्हें अब गृह विभाग से फोन पर सस्पेंड करने की धमकी दी जा रही है. कहा जा रहा है कि आपका मकान रोड के इस पार है और श्रीराम का मकान रोड के उस पार, वे कुछ भी करें आपको क्या प्राब्लम है, ज्यादा विरोध मत कीजिए वरना सस्पेंड हो जाएंगे.

वहीँ जब इस मामले को लेकर  डीआईजी सुभाषचंद्र दूबे से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामला मेरे संज्ञान में नहीं है, यदि हेड कांस्टेबिल के साथ इस तरह का व्यवहार हुआ है और उन्हें सस्पेंड की धमकी मिली है तो मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Continue Reading

Trending