Connect with us

बलिया

बलिया- मिलावट और जमाखोरी करने वालों की खैर नहीं, खाद्य और मार्केटिंग विभाग कर रहा छापामार कार्रवाई

Published

on

बलिया। जिले में खाद्य पदार्थों में मिलावट और जमाखोरी रोकने लिए प्रशासन अलर्ट मोड पर काम कर रहा है। जहां आज दाल विक्रताओं के प्रतिष्ठान पर छापामार कार्रवाई की गई। खाद्य विभाग और मार्केटिंग विभाग की संयुक्त टीम ने कार्रवाई की। टीम दल ने थोक विक्रेताओं से विभिन्न प्रकार के दाल के स्टॉक का भौतिक सत्यापन किया और उसका मिलान स्टॉक रजिस्टर से भी किया। बता दें आयुक्त, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन लख़नऊ के आदेश और जिलाधिकारी, बलिया के निर्देश पर खाद्य विभाग और मार्केटिंग विभाग की संयुक्त टीम ने चमन सिंह बाग रोड स्थित दाल के थोक विक्रेताओं के प्रतिष्ठान पर छापेमारी की।

टीम में खाद्य सुरक्षा विभाग से मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक कुमार श्रीवास्तव और मार्केटिंग विभाग से एरिया मार्केटिंग ऑफिसर शीतला प्रसाद सरोज और मार्केटिंग इंस्पेक्टर रमेश यादव ने कार्रवाई की। जांच दल ने थोक विक्रेताओं से विभिन्न प्रकार के दाल के स्टॉक का भौतिक सत्यापन किया और उसका मिलान स्टॉक रजिस्टर से भी किया जो सही पाया गया। दरअसल शासन के निर्देश पर दाल की कालाबाज़ारी रोकने के उद्देश्य से सभी दाल व्यवसायियों को प्रतिदिन के स्टॉक का विवरण भारत सरकार के निर्धारित वेबसाइट पर ऑनलाइन फीड करना अनिवार्य कर दिया गया है।

वहीं जांच टीम की कार्रवाई से डर कर व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर दी। जिससे जांच दल को दाल के उपलब्ध स्टॉक का भौतिक सत्यापन करने में परेशानी हुई। जांच दल ने बालखंडी रोड स्थित एक अन्य दाल के थोक विक्रेता के प्रतिष्ठान पर निरीक्षण कर उपलब्ध दाल की मात्रा का भौतिक सत्यापन और स्टॉक रजिस्टर से मिलान किया।
जांच दल ने थोक व्यापारी संघ के प्रतिनिधि से अपील की कि वे दाल विक्रेताओं को विभाग का सहयोग करने के लिए प्रेरित करें। जिससे जनपद के सभी दाल के थोक व्यापारियों का डाटा समय पर ऑनलाइन फीड किया जा सके।

मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी बलिया दीपक श्रीवास्तव ने बताया कि विभाग जनपद में सक्रिय रूप से खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए कोशिश कर रहा है। और किसी भी प्रकार की खाद्य पदार्थों में मिलावट या जमाखोरी करने वालों पर विभाग कार्रवाई करेगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया

बलिया BJP में अंदरूनी खींचतान का शिकार बने जूनियर नेता, तीन मंडलअध्यक्ष एक साथ हटाए गए

Published

on

बलिया। कहते हैं राजनीति में सीनियर-जूनियर का बड़ा असर पड़ता है। संगठन में जिस नेता का कद बढ़ा है उसकी बात अक्सर मान ली जाती है। कुछ ऐसा ही बलिया में देखने को मिला, जहां बीजेपी में अंदरूनी खींचतान जारी है। यहां के एक सीनियर नेता ने अपने पद का दुरुपयोग कर छोटे नेताओं पर शिंकजा कसवाया। और नतीजा यह रहा कि तीन मंडल अध्यक्षों को पद से हटा दिया गया। कहा जा रहा है कि एक राज्यमंत्री के कहने पर मंडलअध्यक्षों से पद से हटाया गया है। लंबे समय से सरकार चलाने में अहम भूमिका निभा रहे एक राज्यमंत्री भाजपा के एक मंडल अध्यक्ष की पीछे इस कदर पड़े की उसे हटवा कर ही माने। हनुमानगंज मंडल, खेजुरी और रसड़ा मंडल के भी मंडल अध्यक्ष हटाए गए हैं।

शुक्रवार को जब एक मंडल अध्यक्ष को पद से हटा दिया गया। तो भाजपा कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूट पड़ा। कार्यकर्ता सड़कों पर मोर्चा खोल दिया। इस कार्रवाई से क्षुब्ध भाजपा कार्यकर्ताओं ने एकजुटता दिखाई और बलिया विस के विधायक एवं सूबे के राज्यमंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। मंडल के सभी पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष को त्याग पत्र देने का काम किया। हनुमानगंज मंडल के पदाधिकारियों का कहना है कि राज्यमंत्री व क्षेत्रीय विधायक आनंद स्वरूप शुक्ला को काफी दिनों से मंडल अध्यक्ष खटक रहे थे। कई माह पहले ही हजाने की योजना तैयार की जा चुकी थी। मंत्री जी जनपद के संगठन को अपने अनुसार संचालित करना चाहते हैं। ऐसे में जो कार्य उनके मनमाफिक नहीं करता, वह उनको नापसंद करते हैं। ऐसा मंडल अध्यक्ष माया शंकर राय के साथ हुआ है।

हालांकि पार्टी ने माया शंकर राय के साथ दो अन्य मंडल अध्यक्षों को भी पद से हटाने का काम किया है। पूर्व जिलाध्यक्ष के लड़के रसड़ा पूर्वी के मंडल अध्यक्ष देवेश तिवारी और खेजुरी के मंडल अध्यक्ष अजय सिंह को भी पद से हटया गया है। पार्टी की मनमानी कार्रवाई से कार्यकर्ता आक्रोशित हैं। इसी का नतीजा रहा तकि शुक्रवार का भाजपा कार्यकर्ताओं ने ही अपने विधायक एवं मंत्री के खिलाफ सड़क पर उतरेे और पुतला फूंकने का काम किया। उनका आरोप है कि पदाधिकारी, विधायक और मंत्री संगठन के लोगों को आगे बढ़ाने के बजाए उनका मनोबल तोड़ रहे हैं और अपनी मनमानी कर रहे हैं। इन दिनों पाटी्र में कई नेता और पदाधिकारी अलग-अलग राग अलाप रहे हैं। दल में एकजुटता की कमी खल रही है।

इनपर कार्रवाई के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या इनके कार्यो की समीक्षा के आधार पर कार्रवाई की गई है या द्वेषवश इन्हें हटाया गया है। बहरहाल जो भी हो, लेकिन तीन मंडल अध्यक्षों को एक साथ हटाने से राजनीतिक माहौल गरमाया गया है। इस मामले के उजागर होने के बाद साफ जाहिर है कि दल के नेता न तो एक दूसरे का सहयोग करना चाहते, न मित्रता। यही वजह है कि पार्टी से अनुशासन गायब है।

Continue Reading

बलिया

बलिया की राजनीति की अटल ज्योति देवेंद्र सिंह की 7वीं पुण्यतिथि पर श्रृद्धांजलि सभा का आयोजन कल

Published

on

राजनीति में कुछ चेहरे ऐसे होते हैं जो अटल ज्योति की तरह संगठन को जगमगाते रहते हैं। ऐसा ही एक नाम है जो बलिया की राजनीति में हमेशा अमर रहेगा। हम बात कर रहे हैं बलिया की राजनीति में अपनी अमिट छवि छोड़ने वाले स्वर्गीय देवेंद्र सिंह की। जो हमेशा युवाओं के प्रेरणास्त्रोत रहे हैं। उनकी 7वीं पुण्यतिथि पर छात्र संघ परिवार के संयोजन में  30 जुलाई 2021 दिन शुक्रवार को प्रात: 10 बजे डॉ. राजेन्द्र प्रसाद सभागार (टी डी कॉलेज बलिया) में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया है, जिसमें जनपद के सभी महाविद्यालयों के सम्मानित छात्रनेता सम्मिलित होंगे।

देवेंद्र सिंह के बारे में ऐसी अनगिनत यादगार बातें हैं जो लोगों की जुबान पर हमेशा रहती हैं। देवेंद्र सरल स्वभाव के व्यक्ति थे। उनके करीबी बताते हैं कि उनके व्यक्तित्व का ओज ऐसा था कि हर कोई हैरान रह जाता था। वाणी इतनी मधुर कि विरोधी भी चौंक जाते थे। उनकी वाकपटुता अद्भुत कला थी। लोग बताते हैं कि उनसे जो मिल लेता था वह उनका ही हो जाता था। अपने विद्यार्थी जीवन में वह महाविद्यालय के अस्सी परसेंट विद्यार्थियों को नाम से जानते थे। वह सत्र 1996-97 टाऊन महाविद्यालय के छात्रसंघ के ऐतिहासिक अध्यक्ष चुने गए वहीं रविन्द्र नाथ उपाध्याय उनके साथ महामंत्री के पद पर रहे।

26 जुलाई 2014 को बलिया इसारी सलेमपुर के निकट मोटर साइकिल से देवेन्द्र सिंह दुर्घटना ग्रस्त हो गए उसके पश्चात 30 जुलाई 2014 को BHU वाराणसी में अंतिम सांस ली। इस घटना ने छात्रसंघ परिवार को गहरा आघात पहुंचाया। हर कोई इस घटना से टूट गया। आज भी देवेंद्र सिंह को लोग याद करते हैं। छात्रसंघ उनकी पुण्यतिथि पर विशेष कार्यक्रम आयोजित करवाता है। इसी तारातम्य में 30 जुलाई को भी आयोजन होने जा रहा है। छात्रसंघ महामंत्री अमित सिंह ने बताया कि 30 जुलाई को टीडी कालेज के राजेन्द्र प्रसाद सभागार में स्व देवेन्द्र सिंह (छात्रसंघ पूर्व अध्यक्ष ) की पुण्यतिथि का आयोजन छात्रसंघ परिवार द्वारा प्रस्तावित हैं। उनके पुण्यतिथि पर बलिया के सम्मानित छात्र संघ के साथ साथ लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष एवं महामंत्री बजरंगी सिंह बज्जू भैया एवं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र नेता विवेकानंद सिंह बाबुल का आगमन होने जा रहा है।

Continue Reading

बलिया

बलिया- ब्लॉक प्रमुख की अधिकारी-कर्मचारी को नसीहत, समय से पहुचे दफ्तर

Published

on

बलिया। मुरली छपरा विकासखंड के नवनिर्वाचित लॉक प्रमुख कन्हैया सिंह विकासखंड का विकास तेजी से करने की दिशा में कदम बढ़ा रहे हैं। जिसके लिए अब उन्होंने अधिकारी और कर्मचारियों को ब्लॉक मुख्यालय पर उपस्थित रहने को कहा है। साथ ही वह पर्यावरण संरक्षण को लेकर भी गंभीर हैं। उन्होंने अधिकारियों से ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण कराने को कहा है। विकासखंड मुरली छपरा के नवनिर्वाचित ब्लॉक प्रमुख कन्हैया सिंह ने विकासखंड पर उपस्थित होकर विकासखंड के सभी कर्मचारियों को उन्होंने बताया कि एपीओ, सचिव, एडीओ पंचायत, ग्राम रोजगार सेवक सहित जितने भी कर्मचारी है।

ब्लॉक मुख्यालय पर प्रत्येक कार्य दिवस को 10.30 बजे से 12.30 बजे तक ब्लॉक मुख्यालय पर अवश्य उपस्थित रहेंगे। 2.30 से 4.30 बजे तक ग्राम सभाओं का भ्रमण कर उसके विकास एवं तरक्की के विषय में कार्ययोजना तैयार करेंगे और ग्राम सभा के पंचायत भवन पर उपस्थित रहेंगे। जिससे कि गांव के लोगों का छोटा से छोटा कार्य आसानी से हो सकें।
ब्लॉक प्रमुख ने शौचालय और जल निकासी का कार्य जल्द कराने की बात कही है। साथ ही उन्होंने पौधारोपण पर जोर दिया।

कहा कि पौधे लगाओ अभियान में तेजी लाएं। खंड विकास अधिकारी से उन्होंने अनुरोध किया कि जहां भी पौधारोपण हो चुका है और कुछ पौधे सुख गए हैं उसको तत्काल निकाल कर नए वृक्ष का रोपण कराया जाए। जिससे कि प्रकृति का संतुलन बना रहे।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!