प्राथमिक विद्यालयों से हटा ‘इस्लामिया’ शब्द, प्रधान ने दर्ज करायी आपत्ति, एबीएसए को सौंपा पत्रक

0

बलिया बिल्थरारोड क्षेत्र में स्थित इस्लामिया प्राथमिक विद्यालयों पर पर लिखे विद्यालयों से सरकार के आदेश के बाद और मीडिया में खबर चलने के बाद आखिरकार इस्लामिया लिखा शब्द हटा दिया गया।

 

जिसका विरोध करते हुए बृहस्पतिवार की रात्रि पिपरौली बड़ागांव के ग्रामीणों ने विद्यालय पर पुनः इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय कर दिया। इस संंबंध में शुक्रवार को प्रधान प्रतिनिधि अब्दुल रहमान संघ मुस्लिम समुदाय के लोगो ने एबीएसए को पत्रक सौपा। बताते चले कि शिक्षा क्षेत्र सीयर में कुल 6 इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय है। जिनमे अवाया, कुण्डैल, बासपार बहोरवा, उभांव, तिरनई खिजिरपुर और पिपरौली बड़ागांव में इस्लामिया प्राथमिक स्थित है। इस सम्बन्ध में पूछे जाने पर खण्ड शिक्षा अधिकारी सीयर निर्भय नारायण सिंह ने बताया कि सरकार के निर्देश पर क्षेत्र के इस्लामिया प्राथमिक विद्यालयो पर लिखे इस्लामिया शब्द को बृहस्पतिवार को हटाकर सिर्फ प्राथमिक विद्यालय ही रहने दिया गया।

 

मंगलवार को बीएसए के आदेश के बाद भी इस्लामिया प्राथमिक विद्यालयों पर लिखा इस्लामिया शब्द नही हटाया गया था। इसके बाद पिपरौली बड़ागांव के ग्रामीणों द्वारा रात में ही पुनः इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय कर दिया गया। शुक्रवार के सुबह में स्कूल खुलने पर ग्रामप्रधान प्रतिनिधि अब्दुल रहमान ग्रामीणों संघ पहुंच स्कूल खुलने का विरोध करने लगे । इसकी सूचना मिलने पर एबीएसए भी पहुंच गये। जहाँ प्रधान प्रतिनिधि संघ शुक्रवार को स्कूल खुलने का विरोध जताया और कहा कि इस्लामिया शब्द रहना चाहिए। इसके साथ ही प्रधानाध्यापिका और एबीएसए को खुलने के विरोध में पत्रक सौपा। इस सम्बन्ध में पूछे जाने पर एबीएसए ने बताया कि इस्की सूचना बेसिक शिक्षा अधिकारी को दे दी गयी है। साथ ही रिपोर्ट भी भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि ये विद्यालय शुक्रवार के बजाय रविवार को ही बन्द होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here