Connect with us

बलिया

बलिया DM की स्वास्थ्य अधिकारियों को नसीहत, ईमानदारी से करें अपना काम

Published

on

बलिया डीएम अदिति सिंह जिले की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर समय समय पर समीक्षा करती हैं। इसी बीच बुधवार को उन्होंने कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की और अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए।

इस दौरान डीएम को स्वास्थ्य विभाग की अधिकांश योजनाओं में खराब स्थिति मिली। जिस पर उन्होंने सीएमओ तन्वय तक्कड़ व कई प्रभारी चिकित्साधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई। बैठक में अनुपस्थित रहे सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को जो मनमानी से छुट्टी चले गए हैं उनको नोटिस जारी करने का आदेश दिया। साथ ही स्वास्थ्य विभाग के जो अधिकारी-कर्मचारी अच्छा कार्य कर रहे है उनका सहयोग करने का आदेश सीएमओ को दिया।

एमओआईसी के स्थानांतरण के संबंध में संबंधित अधिकारियों से जानकारी मांगी और जिन जगहों पर उनका हस्तांतरण बिना वजह कर दिया गया है उन्हें वापस बुलाने के लिए सीएमओ को आदेश दिया। जिन एमओआईसी का कार्य ठीक नहीं है उनके खिलाफ प्रशासनिक कार्यवाही करने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि जनता की स्वास्थ्य समस्याओं को गंभीरता से लिया जाए। उन्होंने कहा कि जिले को अपनी मर्जी से ना चलाएं।अपना कार्य पूरी ईमानदारी से करें और बेवजह के अहंकार से बचे। डीपीसीएम नरही के बैठक में उपस्थित न रहने पर उन्हें तत्काल बैठक में आने के लिए आदेश दिया।

कोविड टीकाकरण के लिए उन्होंने गांवो को चिन्हित करने के लिए कहा जिससे कि वैक्सीनेशन अच्छे से हो सके ।समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने पाया की बांसडीह, नरही, रेवती और दूबहर की स्थिति वैक्सीनेशन में सबसे खराब है।उन्होंने कहा कि जिन गांव में वैक्सीनेशन ठीक से नहीं हुआ है उनकी सूची बना ली जाए और यह चिन्हित कर लिया जाए कि कितने लोगों को वैक्सीन का पहला डोज और कितने लोग को वैक्सीन का दूसरा डोज लग चुका है।

‘दस्तक अभियान’ में बलिया का स्थान औसत से भी नीचे है। इस संबंध में उन्होंने सीएमओ को आदेश दिया कि यह अभियान अच्छे से चलाया जाए ।अस्पतालों में गठित कोल्डचैन के संबंध में भी जिलाधिकारी ने शिकायत पाई।वेस्ट मैनेजमेंट को ठीक कराने को कहा। उन्होंने कहा कि अगर संबंधित एजेंसी ठीक से काम नहीं कर रही है तो उसे हटा दिया जाए।
ॉजिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों से आशाओं और एएनएम का भुगतान बेवजह न रोकने को कहा ।उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य अधिकारी आशाओं और एएनएम के साथ अच्छा व्यवहार करें ।उन्होंने कहा कि वेयरहाउस में दवाओं की किसी भी प्रकार से कमी ना होने पाए। आशाओं को ठीक से ट्रेनिंग देने को कहा और कहा कि आशाओं और एएनएम को पर्याप्त उपकरण दिए जाए जिससे कि वह घर घर जाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सके। इस बैठक में जिलाधिकारी के अतिरिक्त मुख्य विकास अधिकारी प्रवीण वर्मा और मुख्य चिकित्सा अधिकारी तन्मय कक्कड़ के अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Advertisement src="https://kbuccket.sgp1.digitaloceanspaces.com/balliakhabar/2022/10/12114756/Mantan.jpg" alt="" width="1138" height="1280" class="alignnone size-full wp-image-50647" />  
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया

बलियाः ताड़ीबड़ागांव हत्याकांड मामले में मृतिका की सौतेली बहन गिरफ्तार

Published

on

बलिया के नगरा इलाके के ताड़ोबड़ागांव हत्याकांड में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मृतिका की सौतेली बहन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस को जांच में पता चला कि मृतिका की सौतेली बहन और आरोपी सोनम ने ही नौशाद के साथ मिलकर युवती की हत्या की योजना बनाई थी।

बता दें कि 14 अक्टूबर की शाम 13 वर्षीय मृतिका घर से मेला देखने के लिए निकली। इसके अगले दिन 15 अक्टूबर को वह सिकरहटा गांव के पास खून से लथपथ हाल में पड़ी मिली। सड़क पर निकली महिलाओं की नजर पड़ी तो पुलिस को सूचना दी गई।

पुलिस ने किशोरी को अस्पताल पहुंचाया जहां से डॉक्टरों ने उसे वाराणसी रेफर कर दिया। पांच दिन चले इलाज के बाद मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने नौशाद को गिरफ्तार किया, जिसने पूछताछ में मृतिका के हाथ की नस काटने की बात स्वीकार की। इस घटना के बाद से ही इलाके में तनाव का माहौल था।पुलिस लगातार जांच कर रही थी। तभी जांच में चौंकाने वाली बात सामने आई। पुलिस को पता चला कि मृतिका की बड़ी व सौतेली बहन सोनम ने ही नौशाद के साथ मिलकर कुमकुम की हत्या की साजिश रचाई थी। जिसके बाद पुलिस ने जेल भेज दिया है।

Continue Reading

बलिया

बलिया- जिला पंचायत से जारी टेंडर में भ्रष्टाचार का आरोप, सदस्यों ने अपर मुख्य अधिकारी को लिखा पत्र

Published

on

बलिया जिला पंचायत की ओर से जारी टेंडर पर अब कुछ जिला पंचायत सदस्य ही आपत्ति उठा रहे हैं। जिन्होंने टेंडर निरस्त करने की मांग को लेकर जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी को पत्र लिखा है। इतना ही नहीं सदस्यों ने भ्रष्टाचार का आरोप लगा है। और दोबारा जिला पंचायत की बैठक बुलाकर टेंडर कराने की मांग की है।

बता दें अपर मुख्य अधिकारी को लिखे पत्र में बताया कि जिला पंचायत में विभिन्न निधि से जो टेण्डर कराया गया है उनमें घोर अनियमितता और भ्रष्टाचार किया गया है। जिला पंचायत सदस्यों ने जो प्रस्ताव दिया उसमें कहीं से पारदर्शिता नहीं दिखाई दे रही है। जिससे बाकी सदस्यों में आक्रोश है।

सदस्यों की मांग है कि निम्न टेण्डर निरस्त कर जिला पंचायत की बैठक बुलाई जाए और टेण्डर कराया जाय नहीं तो सदस्यगण धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे। बता दें विनय कुमार मिश्र, सुप्रिया यादव, संतोष कुमार चौहान, हेमवन्ती देवी, अनिता देवी, मीरा देवी, कुसुम देवी, रजिया, असगर अली, राम विलास, मनीष सिंह, सीता भारती, विद्यावती देवी, रामनाथ व्यापारी, अनिता साहनी ने पत्र लिखा है।

Continue Reading

बलिया

‘शहर सरकार’ का चुनाव: यूपी में सभी नगर निकायों की आरक्षण सूची जारी, जानिए क्या है बलिया की स्थिति ?

Published

on

बलिया। यूपी में जल्द ही नगरीय निकाय चुनाव होने वाले हैं। 75 जिलों के नगर निकायों में आरक्षण की पूरी लिस्ट जारी हो गई है। ऐसे में अब नगर निगम, नगर पालिका और नगर पंचायत में आरक्षण सूची की तस्वीर भी साफ हो गई है। नगर पालिका परिषद बलिया का अध्यक्ष पद महिला के लिए आरक्षित हो गया है। नगर पालिका परिषद रसड़ा का अध्यक्ष पद अनारक्षित है।

10 नगर पंचायतों की स्थिति- आरक्षण की लिस्ट जारी होने के बाद बलिया जिले की 10 नगर पंचायत के अध्यक्ष पदों के लिए आरक्षण की स्थिति साफ हो गई है। नगर पंचायत रेवती, नगर पंचायत बेल्थरारोड, नगर पंचायत रतसड़ कला, नगर पंचायत बांसडीह, नगर पंचायत मनियर, नगर पंचायत सहतवार के अध्यक्ष पद अनारक्षित है।

जबकि नगर पंचायत चितबड़ागांव और नगर पंचायत सिकंदरपुर का अध्यक्ष पद महिला के लिए आरक्षित हो गया है। वहीं नगर पंचायत बैरिया और नगर पंचायत नगर का अध्यक्ष पद अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हुआ है। अब जल्द ही नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों का भी ऐलान हो सकता है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!