Connect with us

featured

बगैर मुआवजा बन रहा है बलिया में टोंस नदी पर पुल, किसानों ने रोका काम

Published

on

टोंस नदी पर निर्माणाधिन पुल (फोटो साभार: अमर उजाला)

बलिया में टोंस नदी चितबड़ागांव से होकर गुजरती है। चितबड़ागांव नगर पंचायत के उत्तर दिशा से टोंस नदी का बहाव है। यहीं नदी पर एक पुल बनाया जा रहा है। ताकि इस इलाके को बलिया-मऊ मार्ग से जोड़ा जा सके। पुल निर्माण स्थल पर किसानों की खेत है। लेकिन बगैर भूमि अधिग्रहण के ही यहां पुल निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। जिसके विरोध में किसानों ने पुल का निर्माण रोक दिया।

टोंस नदी पर बन रहे पुल के पास किसानों की तकरीबन नौ साढ़े नौ बीघे जमीन है। जिसे बिना अधिग्रहण और मुआवजे के ही पुल बनाने में इस्तेमाल किया जा रहा है। अमर उजाला की एक रिपोर्ट के मुताबिक किसानों ने बताया है कि हमें अब तक कोई मुआवजा नहीं मिला है और ना ही किसी प्रकार की नोटिस दी गई है। इस बात से नाराज किसानों ने गत मंगलवार को पुल निर्माण का कार्य बंद करवा दिया।

नगर पंचायत के रहने वाले भीमसेन तिवारी और श्रीराम तिवारी ने कहा है कि “हमारी साढ़े नौ बीघा जमीन यहां पर है। इसमें चार खातेदार हैं। बिना भूमि अधिग्रहण के ही पुल बनाया जा रहा है। हमने मुआवजे के लिए शिकायत भी की थी। अधिकारियों ने आश्वासन दिया था कि मुआवजा दिया जाएगा। लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। न मुआवजा ही मिला और न कोई नोटिस।”

बलिया के सेतु निगम के पीओ संतराज का बयान छपा है कि किसानों को मुआवजा दिया जाना है। इसके लिए प्रक्रिया चल रही है। सभी को एक साथ ही मुआवजा दिया जाएगा। पुल का काम शुरू करवाने के लिए किसानों से बातचीत हो रही है।” जाहिर है कि सेतु निगम के पीओ का यह बयान मामले को टालने वाला है। उन्होंने मुआवजा देने को लेकर कोई तया तारीख नहीं बताया कि आखिर कब तक यह प्रक्रिया पूरी होगी। किसानों को डर है कि पुल का काम पूरा हो जाने के बाद उनकी मांग नहीं सुनी जाएगी।

बता दें कि टोंस नदी पर साढ़े सतरह करोड़ की बजट से पुल का निर्माण हो रहा है। इसके लिए कुछ ही महीने पहले काम शुरू किया गया था। पुल का कुछ फीसदी काम हो भी चुका है। खंभे आधे बन चुके हैं। लेकिन बीते कल नाराज किसानों ने मुआवजे की मांग को लेकर पुल का काम बंद करवा दिया है। देखने वाली बात होगी कि शासन-प्रशासन अब कौन से आश्वासन देकर पुल का काम एक बार फिर शुरू करवाता है?

featured

बलिया में दर्दनाक सड़क हादसा, 4 की मौत

Published

on

बलिया में सड़कों पर हादसों में लगातार वृद्धि हो रही है। आज मंगलवार सुबह भी जिले के नगरा थाना क्षेत्र में ट्रैक्टर और बाइक टक्कर हो गई। शुरुआती जानकारी के मुताबिक हादसे में अबतक चार लोगों की मौत हो गई। वहीं  कुछ लोग गंभीर रूप से घायल भी बताए जा रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक नगरा थाना क्षेत्र के गोठाई तिलकारी गांव के पास सोमवार की देर रात ट्रैक्टर और बाइक की आमने सामने जोरदार टक्कर हो गई। जिसमें चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को उपचार हेतु जिला चिकित्सालय पहुंचाया। वहीं शवों को पोस्टमार्टम हाउस में रखवाया। उधर घटना की सूचना मिलते ही मृतक के घरों में कोहराम मच गया। मृतक होने वालों में  थाना नगरा में खनवर  के वहीं एक  थाना हलधरपुर जनपद मऊ का बताया जा रहा है वहीं एक अज्ञात जिसका शिनाख्त नहीं हो सका है। जबकि एक घायल था, जिसको उपचार कर छोड़ दिया गया।

Continue Reading

featured

बलिया में लैब टेक्नीशियन, कांस्टेबल समेत 14 गिरफ्तार, कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में की थी सेंधमारी की कोशिश

Published

on

उत्तर प्रदेश आरक्षी भर्ती परीक्षा को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए बलिया पुलिस लगातार सक्रिय है। पुलिस लगातार संदिग्धों पर नजर रखी है। पुलिस ने अब तक भर्ती परीक्षा संबंधी 3 गैंग के 11 गैंग सदस्यों और 3 फर्जी अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अभियुक्तों में एक स्वास्थ्य विभाग में तैनात लैब टेक्नीशियन तथा एक वन विभाग में कार्यरत कांस्टेबल है।

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा को नकल विहिन कराने को लेकर बलिया पुलिस चौकन्ना है और लगातार सूचना संकलित कर कार्रवाई कर रही है। इसी क्रम में गुरुवार की शाम रसड़ा पुलिस ने सलीम अन्सारी पुत्र नईमुद्दीन अन्सारी को गिरफ्तार किया था। इसके पास से पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा से संबंधित अभ्यर्थियों के 16 प्रवेश पत्र, 12 मूल शैक्षिक प्रमाण पत्र, 04 स्वयं के फर्जी आधार कार्ड, एक मोबाइल स्क्रीन टच आई. फोन 13 एप्पल तथा एक लेखबद्ध डायरी बरामद किया गया था।

पहले फर्जी अभ्यर्थी की गिरफ्तारी गुलाब देवी स्नातकोत्तर महाविद्यालय बलिया से हुई, जहां भर्ती परीक्षा की दूसरी पाली की परीक्षा के दौरान अभ्यर्थी उपेन्द्र यादव के स्थान पर फर्जी तरीके से परीक्षा दे रहे मनीष कुमार यादव पुत्र बैज नाथ यादव को कूट रचित दस्तावेज के साथ हिरासत में लिया गया।

दूसरी गिरफ्तारी में पुलिस ने अभय कुमार श्रीवास्तव, विनित कुमार, रुकुमकेश पाल को हिरासत में लिया। ये सभी पुलिस भर्ती में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा पास कराने का झाँसा देकर वसूली करने एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार कर धनार्जन कर रहे थे।

तीसरी गिरफ्तारी के दौरान अमृतपाली अण्डर पास से कुल 05 अभियुक्त अमित यादव, विशाल यादव, अंकित यादव, निखिल यादव, गिरजाशंकर को गिरफ्तार किया गया। इनके कब्जे से एक वाकी टाकी सेट, दो इलेक्ट्रानिक डिवाइस, एक ब्लूटूथ, दो डिवाइस बैट्री, दो सिम, एक आधार कार्ड, एक एटीएम कार्ड, एक डीएल सहित नकद 1,00,220 रूपये बरामद किया गया।

पुलिस ने तीन गैंग के 11 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। प्रथम गैंग के सरगना अभय कुमार श्रीवास्तव है, जो यूपी के ही सुल्तानपुर स्वास्थ्य विभाग में बतौर लैब टेक्नीशियन तैनात है। इसके साथ विनीत कुमार राम और रुकुमेश पाल को दबोचा गया है। वहीं, दूसरा गैंग फतेहबहादुर राजभर का है। फतेहबहादुर राजभर मध्यप्रदेश के कटनी में वन विभाग का कांस्टेबल है। इसके साथ अजीत यादव और वरुण कुमार यादव को पकड़ा गया है। जबकि तीसरा गैंग गिरिजाशंकर का है। इसके साथ अमित यादव, विशाल यादव, अंकित यादव व निखिल यादव को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि इन गैंग्स के संपर्क में रहने वाले सभी अभ्यर्थी परीक्षा केंद्रों में विशेष रूप चेक किए जायेंगे। पुलिस की विशेष निगरानी इन पर रहेगी। अग्रिम विवेचना कर ऐसे अभ्यर्थियों के खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी।

Continue Reading

featured

बलिया: युवाओं के पास अग्निवीर बनने का सुनहरा मौका, कल से करें आवेदन

Published

on

उत्तरप्रदेश के युवाओं के पास भारतीय सेना में अग्निवीर बनने का सुनहरा मौका है। भारतीय सेना ने कल यानी 13 फरवरी से अग्निवीर भर्ती के लिए पंजीकरण प्रक्रिया शुरू करेगी। उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से 22 मार्च तक आवेदन कर सकते हैं। पंजीकरण के लिए न्यूनतम आयु साढ़े 17 साल और अधिकतम आयु 21 साल है।

छावनी क्षेत्र स्थित सेना भर्ती कार्यालय के निदेशक कर्नल ऋषि दूबे ने बताया कि अग्निवीर जनरल ड्यूटी, टेक्निकल, ट्रेड्स मैन (8वीं व 10वीं), और अग्निवीर ऑफिस असिस्टेंट / स्टोर कोपर टेक्निकल सहित अन्य पदों के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। इसके लिए मऊ, बलिया, आजमगढ़, देवरिया, गोरखपुर, गाजीपुर, भदोही, सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, जौनपुर और वाराणसी के इच्छुक युवा आवेदन कर सकते हैं।

नई भर्ती प्रक्रिया के तहत उम्मीदवारों को रैली में भाग लेने के लिए सीईई मेरिट सूची में उत्तीर्ण होना और स्थान सुरक्षित करना होगा। पंजीकरण प्रक्रिया की रूपरेखा बताने वाला एक विस्तृत वीडियो जेआईए वेबसाइट पर उपलब्ध है। उम्मीदवार इसकी सहायता से आवेदन कर सकते हैं। कर्नल दुबे ने कहा कि अधिक जानकारी और पंजीकरण के लिए वेबसाइट पर क्लिक करें या फिर वाराणसी स्थित सेना भर्ती कार्यालय से संपर्क करें।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!