Connect with us

सिकंदरपुर

सिकन्दरपुर पहुचे डीएम-एसपी ने सुनी जनता की फरियाद, कई मामलों का मौके पर कराया निस्तारण

Published

on

बलिया: जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही व पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताडा ने सिकन्दरपुर तहसील में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में जनता की फरियाद सुनी।

जिस विभाग से सम्बन्धित समस्या आई, उस विभाग के अधिकारियों को त्वरित निस्तारण कराने का निर्देश दिया। पैमाइस से जुड़े जमीनी विवाद के मामलों में जिलाधिकारी ने कहा कि राजस्व टीम नापी कर अगले थाना दिवस में ऐसे मामलों का निपटारा करा दें। एक बार फिर दोहराया कि किसी भी गांव में अविवादित वरासत का एक भी मामला लम्बित नहीं रहना चाहिए। इस अवसर पर कुल 74 शिकायत आई, जिनमें 5 का मौके पर निस्तारण कराया गया।

शेष शिकायतों को संबंधित अधिकारियों को इस निर्देश के साथ सौंपा गया कि गुणवत्तापरक व समयांतर्गत निस्तारण सुनिश्चित कराएं।डीएम श्री शाही ने कहा कि अधिकारी मनोयोग से लग जाएं तो अधिकांश समस्याओं का समाधान आसानी से समयान्तर्गत हो सकता है। यही इस समाधान दिवस का मुख्य उद्देश्य भी है। पेंशन, राशन, अवैध कब्जा, भूमि विवाद जैसे मामले प्रमुख रूप से आए। पुलिस से संबंधित मामलों को पुलिस अधीक्षक ने सुना और मातहतों को जरूरी दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर एसडीएम अभय सिंह, सीओ पवन कुमार, एसओसी धर्मराज यादव समेत अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

निर्माणाधीन स्पोर्ट्स कालेज का निरीक्षण

बलिया: सम्पूर्ण समाधान दिवस के बाद डीएम श्रीहरि प्रताप शाही ने पुर में निर्माणाधीन स्पोर्ट्स कॉलेज का निरीक्षण किया। बाउंड्री के बीच में बालेश्वर चौहान की 13 डिसमिल व्यक्तिगत जमीन के संबंध में जरूरी विचार विमर्श करना था, लिहाजा अपने साथ चकबन्दी विभाग के अधिकारियों की टीम भी ले गए थे। अधिकारियों ने चर्चा करने के बाद यह तय किया कि जरूरी प्रक्रिया को करने के बाद इनको उचित जगह पर जमीन दी जाएगी। इस दौरान चकबन्दी एसओसी धर्मराज यादव, लघु सिंचाई के अभियंता, खेल विभाग व कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधि थे।

थाने की बाउंड्री के लिए तत्काल दें प्रस्ताव

बलिया: डीएम-एसपी ने पकड़ी थाने का भी निरीक्षण किया। थाने की बाउंड्री नहीं होने पर कहा कि इसके लिए प्रस्ताव बना कर दें। किसी वजह से पकड़ी गई या सीज की गई गाड़ियां खुले में रखी गई है, पुलिस कर्मियों का आवास भी खुले में है, लिहाजा यह कार्य अत्यंत आवश्यक है। थाने का मेस व रंग-रोगन बेहतर होने पर डीएम-एसपी ने सराहना भी की। महज कम खर्च में बेहतर मेस की व्यवस्था देख एसपी डॉ ताडा ने ऐसा ही मेस हर थाने पर बनवाने के संकेत किए। बन्दी गृह, कार्यालय के अभिलेख व मालखाना का भी गहन निरीक्षण किया। एसडीएम अभय सिंह, सीओ पवन कुमार साथ थे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया स्पेशल

घोटालों का अड्डा बना बलिया, सिकंदरपुर में विकास कार्यों के नाम पर करोड़ों का खेल

Published

on

उत्तरप्रदेश भ्रष्टाचार के दलदल में धंसा नजर आने लगा है। जहां देखो वहां भ्रष्टाचार। यूपी के गांवों-कस्बों में भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी गहरी हो गई हैं कि इसे उखाड़ना मुश्किल है। सरकार भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लाख दावा करे लेकिन यूपी की जमीं पर भ्रष्टाचार का बीज पनप चुका है और अमरबेल लताओं की तरह फल-फूल रहा है। ताजा मामला सिकंदरपुर से सामने आया जहां ग्राम प्रधानों का कार्यकाल समाप्त होने के बाद नियुक्त प्रशासकों ने सरकारी धन का जमकर बंदरबांट किया है।

ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों के लिए सरकार फंड जारी करती है। लेकिन जानकारी सामने आई कि विकास कार्यों के नाम पर पंदह ब्लॉक के दो दर्जन से अधिक गांवों के प्रशासक 1 करोड़ 19 लाख रुपए हज़म कर गए। सरकार ने केवल निर्माणाधीन पंचायत भवन और सामुदायिक शौचालयों के लिए ही धनराशि निकालने की अनुमति दी गई थी। लेकिन पंदह ब्लॉक के अधिकतर ग्राम पंचायतों के प्रशासकों ने सरकार के नियमों को ताक पर रखकर नाली, खड़ंजा, इंटरलाकिंग, कायाकल्प, ह्यूम पाइप, हैंडपंप मरम्मत, हैंडपंप रिबोर व स्कूलों में बेंच व टाइल्स के नाम पर करीब 1.19 करोड़ की राशि आहरित कर दी।

प्रशासकों द्वारा किए गए करोड़ों के खेल के बारे में जानकारी मिली कि ज्यादातर धनराशि मार्च व अप्रैल माह में निकली गयी है। ग्रामीणों का कहना है कि उक्त समयावधि के दौरान कराए गए भुगतान की यदि निष्पक्ष जांच करा दी जाए तो ग्रामीण विकास तथा पंचायती विभाग के कई अधिकारियों के नाम सामने आ सकते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि आचार संहिता के दौरान विकास कार्य व भुगतान अधिकारियों के बगैर संरक्षण के सम्भव नहीं है। कुल मिलाकर इस करोड़ों के खेल के शतरंज के कई खिलाड़ी हैं, जिनके नाम उजागर होने चाहिए।

Continue Reading

featured

बलिया में संवरेगी सड़कों की सूरत, सिकंदरपुर-बैरिया राजमार्ग होगा टू-लेन

Published

on

प्रदेश सरकार बलिया के विकास के लिए लगातार नए नए कदम उठा रही है। अब जनपद के विकास में चार चांद लगाने के लिए जिले में सड़कों को संवारा जाएगा। लोक निर्माण विभाग इसके लिए काम कर रहा है। करीब 165 करोड़ रुपए का प्रस्ताव मुख्य अभियंता लखनऊ को भेजा गया है। इसके तहत सौ करोड़ की लागत से सिकंदरपुर से बैरिया राजमार्ग टू लेन किए जाने की योजना है। इस मार्ग की कुल लंबाई 68 किलोमीटर रहेगी।

यह मार्ग बांसडीह तहसील व रेवती नगर पंचायत को जोड़ता है, जो बैरिया के चिरैया मोड़ पर नेशनल हाइवे-31 से जुड़ता है। यह मार्ग करीब 7 मीटर चौड़ा है। लेकिन मार्ग क्षतिग्रस्त होने के कारण इसमें ट्रैफिक की समस्या बरकारार रहती है। चूंकि इसी मार्ग से लोग माझी, रिविलगंज होते हुए छपरा वाया हाजीपुर को निकल जाते हैं जिससे यहां पर ट्रैफिक भी ज्यादा रहता है।

वहीं नेशनल हाईवे-31 से जेपी के गांव जयप्रकाश नगर तक 24 किलोमीटर लंबे मार्ग की हालत बेहद खराब है लेकिन अब इस मार्ग की 40 करोड़ रुपए से मरम्मत की जाएगी। पांच मीटर चौड़ी सड़क की चौड़ाई अब सात मीटर होगी। इसी तरह पांच किलोमीटर लंबा सुखपुरा से करमत मार्ग करीब 10 करोड़ से सुधरेगा। उधर साढ़े पांच करोड़ से 14 किलोमीटर लंबे सहतवार से चांदपुर दियर मार्ग का सुदृढ़ीकरण होगा।

इसी के साथ जिले की चार बड़ी सड़कों पर लोक निर्माण विभाग लखनऊ के प्रमुख अभियंता ने सैद्धांतिक सहमति जता दी है। इसके अलावा करीब 150 अन्य सड़कों का भी प्रस्तावों पर मंथन चल रहा है। यह सड़कें नगरीय व ग्रामीण इलाकों की हैं। महीने के आखिर तक मुख्यालय बजट आवंटन की तैयारी में जुटा हुआ है। वहीं लोक निर्माण विभाग अधिशासी अभियंता एसके सिंह ने बताया कि चार प्रमुख सड़कों का प्रस्ताव भेजा गया है। कई पर स्वीकृति भी मिल चुकी है। बजट आवंटन के उपरांत बारिश के बाद निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

Continue Reading

featured

बलिया- सिकंदपुर के पांच गांवो में टीकाकरण आज से शुरू, जानें केंद्रों के नाम

Published

on

बलिया। सोमवार को देश में रिकॉर्ड 88 लाख वैक्सीन की खुराक दी गई। इसके साथ ही देशभर में टीकाकरण अभियान तेज कर दिया गया है। लेकिन देशभर में 88 लाख खुराक देने के साथ ही ऐसे आरोप थे कि मध्य प्रदेश सहित कुछ राज्यों ने “मैजिक मंडे” हासिल करने के लिए कई दिनों तक वैक्सीन की खुराक जमा की गई थी। सबसे ज्यादा खुराक देने वाले टॉप 10 राज्यों में से सात में बीजेपी की सरकार है।

इस साल के अंत तक सभी वयस्कों को पूरी तरह से वैक्सीनेट करने के केंद्र के टारगेट को पूरा करने के लिए हर दिन वैक्सीन की करीब 97 लाख खुराक देने की जरूरत है। मगर, सप्लाई की मौजूदा स्थिति इस पर सवाल उठाती है कि क्या टारगेट पूरा किया जाएगा? वहीं बलिया के सिकंदपुर में टीकाकरण अभियान के तहत बुधवार को पंद्रह ब्लॉकों के पांच गांवों में टीका लगाने के कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। ग्राम पंचायत सचिव मृतुन्जय राय ने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के तहत ब्लॉक क्षेत्र के बाछापार, कडसर, गौरी, किकोढ़ा और चड़वा वरवां में टीकाकरण अभियान का सुभारम्भ बुधवार को होगा।

सरकार की तरफ से निर्देश मिलने पर कि अब 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीका लगाया जाए। इसी के मद्देनजर बलिया प्रशासन ने सभी स्थानों पर 18 प्लस के युवाओं को टीका लगाने की तैयारी की हुई है। जिन युवाओं को टीका लगवाना है वो इन टीका केंद्रों पर जाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!