Connect with us

शिक्षा

जानिए कब जारी होगा यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट

Published

on

यूपी बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट (UP Board Result) अप्रैल में जारी कर दिया जाएगा. 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का रिजल्ट (UP Board 10th & 12th Result) 20 अप्रैल से पहले जारी किया जा सकता है. राज्य के अधिकतर जिलों में मूल्यांकन का काम पूरा हो चुका है, लेकिन अभी भी कई जिलों में मूल्यांकन का काम चल रहा है. बोर्ड (UP Board) की ओर से सभी जिला निरीक्षकों (DIOS) को निर्देश जारी किया गया है जिसमें 25 मार्च तक दोनों कक्षाओं की परीक्षाओं की पुस्तिकाओं का मूल्यांकन सुनिश्चित करने को कहा गया है. बता दें कि यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 7 फरवरी से शुरू हुई थी. 10वीं की परीक्षा कुल 14 दिनों में पूरी होकर 28 फरवरी 2019 को खत्म हो गई थी.

जबकि 12वीं की परीक्षा कुल 16 दिनों में पूरी होकर 2 मार्च को खत्म हुई थी. 10वीं की परीक्षा के लिए 31,95,603 स्टूडेंट्स ने पंजीकरण किया था, वहीं 12वीं की परीक्षा के लिए 26,11,319 स्टूडेंट्स ने पंजीकरण किया था. बोर्ड की परीक्षाओं के लिए कुल 8,354 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे और नकलविहीन परीक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी केंद्र सीसीटीवी कैमरे लगे थे.

आपको बता दें कि पिछले साल यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट (UP Board 12th Result) 29 अप्रैल 2018 को जारी किया गया था. पिछले साल कक्षा 10 में 75.16 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे. जहां लड़कियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 78.81 था, वहीं लड़कों का उत्तीर्ण प्रतिशत 72.27 था.

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया

बलिया के इन 22 केंद्रों पर होगी CBSE फर्स्ट टर्म की परीक्षा, छात्रों के लिए ये निर्देश जारी

Published

on

बलिया के इन 22 केंद्रों पर होगी CBSE फर्स्ट टर्म की परीक्षा, छात्रों के लिए ये निर्देश जारी

बलिया। 30 नवंबर से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानि CBSE की प्रथम टर्म की परीक्षाएं होने जा रही हैं। बलिया के 22 केंद्रों पर परीक्षाओं का आयोजन होगा। परीक्षा में 10वीं और 12वीं के कुल 5697 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा सकुशल संपन्न कराने के लिए विद्यालय प्रशासन तैयारी कर रहा है।

इस बार कोरोना संक्रमण के चलते सीबीएसई परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किया गया है। इस बार दो टर्म की परीक्षा होंगी। जिले में 10वीं में करीब 4000 और 12वीं में 3500 छात्र-छात्राएं परीक्षा देंगे।  30 नवंबर से परीक्षाएं शुरु होकर 22 दिसंबर तक चलेंगी। 10वीं के प्रथम टर्म की परीक्षा 30 नवंबर और 12वीं की परीक्षा एक दिसंबर सुबह 11.30 बजे से दोपहर एक बजे तक होगी। सीबीएसई की 10वीं और 12वीं कक्षा के माइनर विषयों की परीक्षा 16 व 17 नवंबर से शुरु हो चुकी है। मेजर विषयों की 10वीं प्रथम टर्म की 30 नवंबर और 12वीं की परीक्षा 1 दिसंबर से शुरु होंगी और 22 दिसंबर को समाप्त होंगी।

पेपर पढ़ने के लिए 20 मिनट मिलेंगे, एक घंटे पहले केंद्र पहुंचना होगा– प्रथम टर्म की परीक्षा ओएमआर शीट पर होगी। इसमें बहु वैकल्पिक सवाल होंगे। परीक्षार्थियों को अब 15 मिनट की जगह 20 मिनट पेपर पढ़ने के लिए समय दिया जाएगा। परीक्षा केंद्रों में कोरोना गाइडलाइन का भी पालन किया जाएगा। एक केंद्र में ज्यादा से ज्यादा 350 विद्यार्थी ही परीक्षा दे सकते हैं। परीक्षार्थियों को केंद्र पर एक घंटे पहले पहुंचना होगा। सैनिटाइजर, मास्क अनिवार्य होगा। साथ ही थर्मल स्कैनिंग के बाद ही परीक्षा कक्ष में जाने की अनुमति होगी।

इन 22 परीक्षा केंद्रों पर होगी परीक्षा- परीक्षा के लिए जिले के नागा जी सरस्वती विद्या मंदिर माल्देपुर, ज्ञानपीठिका, जीराबस्ती, सनबीम स्कूल अगरसंडा, दिल्ली पब्लिक स्कूल रसड़ा, सन फ्लावर स्कूल, सूर्य बदन विद्यापीठ, सेंट जेवियर्स स्कूल धराहरा, मनस्थली विद्यापीठ रेवती, सिटी कॉन्वेंट स्कूल सहतवार, ज्ञानकुंज वंशीबाजार, सेंट जेविर्य पीपरौली, नवजीवन इंग्लिश स्कूल, जमुना राम स्कूल सहित 22 स्कूलों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है।

सीबीएसई स्कूल मैनेजर्स प्रदेश उपाध्यक्ष हर्ष श्रीवास्तव ने बताया कि परीक्षा के लिए सचल दल गठन किए जाएंगे। परीक्षार्थियों पर सीसीटीवी कैमरे के अलावा पर्यवेक्षक की नजर रहेगी।

 

Continue Reading

featured

बलिया: जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के खिलाफ शिक्षकों का हल्ला बोल, उत्पीड़न का आरोप?

Published

on

बलिया में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के खिलाफ प्राथमिक शिक्षक संघ ने धरना दिया।

बलिया में इन दिनों दिनों शिक्षकों के विरोध-प्रदर्शन ने माहौल गरमाया हुआ है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के खिलाफ शिक्षक संघ लगातार आक्रामक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। सोमवार को प्राथमिक शिक्षक संघ के नेतृत्व में एक बार फिर बड़े स्तर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के परिसर में धरना हुआ। शिक्षकों ने जिला बेसिक शिक्षक अधिकारी पर घोटाले और उत्पीड़न का आरोप लगाया है।

प्राथमिक शिक्षा संघ के आह्वाहन पर जिले के ज्यादातर शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक और रसोइया विद्यालय न जाकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय परिसर में पहुंच गए। सोमवार को परिसर में प्रदर्शनकारियों की संख्या लगभग हजार से अधिक थी। बताया जा रहा है कि जिले में महज एक या दो विद्यालयों पर ही पढ़ाई-लिखाई हुई।

बलिया के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के खिलाफ शिक्षकों ने लंबे समय से मोर्चा खोला हुआ है। प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से आज एक व्यापक धरने के लिए शिक्षकों को बुलाया गया था। इसे देखते हुए गत रविवार की शाम ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी की ओर से एक चेतावनी भरी नोटिस जारी की गई थी।

नोटिस में शिक्षकों को अपने विद्यालय से कहीं और या धरना-प्रदर्शन में न शामिल होने की सलाह दी गई थी। लेकिन इस नोटिस का शिक्षकों पर उल्टा असर हो गया। आज कार्यालय परिसर में हजारों की संख्या में शिक्षक धरना देने पहुंचे। इस दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी हुई।

नाराज शिक्षकों का आरोप है कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी लंबे समय से घोटाले कर रहे हैं। अपनी मर्जी मुताबिक विद्यालयों में सरकारी किताबें भेजने का आरोप भी लगाया गया है। शिक्षकों का कहना है कि अधिकारी जानबूझकर शिक्षकों को परेशान करने के लिए जांच करवाते हैं। जांच के दौरान शिक्षकों का शोषण किया जाता है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पर आरोप है कि अनुशासनात्मक कार्रवाई के का धौंस दिखाकर शिक्षकों का उत्पीड़न किया जाता है।

प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा बुलाए गए इस धरने का कई संगठनों ने समर्थन किया था। सीनियर बेसिक शिक्षक संघ, कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति, आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन, उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ, अनुदेशक संघ, रसोईया संघ जैसी संगठनों ने आज शिक्षकों के धरने को अपना समर्थन दिया था।

Continue Reading

featured

टीडी कॉलेज में छात्र संघ के लिए लामबंद हुए छात्र नेता, ज्ञापन सौंप प्रशासन को दी ये चेतावनी

Published

on

बलिया जिले के श्री मुरली मनोहर टाउन स्नातकोत्तर महाविद्यालय के छात्र नेताओं ने छात्र संघ चुनाव को लेकर ज्ञापन सौंपा।

सोमवार को बलिया जिले के श्री मुरली मनोहर टाउन स्नातकोत्तर महाविद्यालय के छात्र नेताओं ने छात्र संघ चुनाव को लेकर ज्ञापन सौंपा। छात्र नेताओं ने महाविद्यालय के प्राचार्य को लिखित पत्रक सौंपा। छात्र नेताओं ने मांग की है कि वर्तमान सत्र में छात्र संघ चुनाव कराया जाए। छात्र संघ चुनाव की प्रक्रिया को लेकर तिथि घोषित करने की मांग रखी गई है।

मुरली मनोहर टाउन स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य को दिए गए पत्रक में छात्र नेताओं ने महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ और उदय प्रताप स्नातकोत्तर महाविद्यालय में हुए छात्र संघ चुनाव का उदाहरण दिया है। कहा गया है कि कोरोना महामारी के दौरान भी सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इन शिक्षण संस्थानों में छात्र संघ चुनाव संपन्न कराए गए थे।

टीडी कॉलेज के छात्र नेताओं का कहना है कि कोरोना संक्रमण के दौरान ही उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव भी कराए गए। ये चुनाव कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए कराए गए थे। बता दें कि बीते साल देश समेत पूरी दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में आ गया था। जिसकी वजह लगभग सभी गतिविधियां बंद कर दी गई थीं।

कोरोना के ही वजह से मुरली मनोहर टाउन स्नातकोत्तर महाविद्यालय में छात्र संघ चुनाव नहीं कराए गए। लेकिन छात्र नेताओं की मांग है कि जब कोरोना वायरस का संक्रमण लगभग खत्म हो चुका है और ज्यादातर लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है तब छात्र संघ चुनाव की तिथि घोषित की जाए।

छात्र संघ चुनाव और छात्र नेताओं के ज्ञापन सौंपने पर हमने महाविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर डॉ. धीरेंद्र कुमार यादव से फोन के जरिए संपर्क किया। डॉ. धीरेंद्र कुमार यादव ने कहा कि “अभी मुझे इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। मैं कहीं गया हुआ था और फिलहाल अपने घर पर हूं। इसलिए मुझे इस बारे में कोई सूचना नहीं है।”

गौरतलब है कि प्राचार्य को दिए गए ज्ञापन में छात्र नेताओं ने साफ लिखा है कि “अगर इस वर्ष छात्र संघ चुनाव नहीं होता है तो आंदोलन किया जाएगा। जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की ही होगी।”

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!